शरीर में खून की कमी (एनीमिया) दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय, जानें खून बढ़ाने वाली जड़ी-बूटियां

शरीर में खून की कमी (एनीमिया) की बीमारी में आयुर्वेदिक उपाय बहुत फायदेमंद माने जाते हैं, जानें एनीमिया को दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Aug 02, 2021 11:43 IST
शरीर में खून की कमी (एनीमिया) दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय, जानें खून बढ़ाने वाली जड़ी-बूटियां

एनीमिया (Anemia) शरीर में खून की कमी की बीमारी है। भारत में यह बीमारी महिलाओं में ज्यादा देखी जा सकती है। खून में लाल रक्त कोशिकाओं और हीमोग्लोबिन की कमी से यह रोग होता है। आयुर्वेद में एनीमिया को पांडु रोग कहा जाता है, चूंकि एनीमिया की समस्या में स्किन, आंख और नाखून सफेद हो जाते हैं इसलिए इसे पांडु यानि सफेद रोग कहा जाता है। शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होने के कारण तमाम लक्षण दिखाई देते हैं। सामान्य रूप से वयस्क पुरुषों के खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा 14 से 18 ग्राम/डीएल होनी चाहिए और महिलाओं में यह आंकड़ा 12 से 16 ग्राम/डीएल होना चाहिए। सामान्य मात्रा से कम हीमोग्लोबिन होने की स्थिति को शरीर में खून की कमी या एनीमिया की बीमारी का नाम दिया जाता है। आयुर्वेद में एनीमिया की बीमारी के लिए तमाम उपचार बताये गए हैं। प्राचीन काल से ही लोग आयुर्वेदिक तरीके से इस बीमारी का इलाज करते आ रहे हैं। आइये जानते हैं आयुर्वेद के मुताबिक एनीमिया की समस्या दूर करने के आयुर्वेदिक उपायों (Ayurvedic Remedies to Cure Anemia) के बारे में।

एनीमिया के कारण और लक्षण (Anemia Causes and Symptoms)

Ayurvedic-Remedies-to-Cure-Anemia

शरीर में खून की कमी तमाम कारणों से हो सकती है। यह समस्या अस्थाई और लंबे समय तक रहने वाली भी हो सकती है। एनीमिया से ग्रसित व्यक्ति में थकान और शरीर में कमजोरी जैसे प्रमुख लक्षण देखे जाते हैं। इस समस्या को स्वस्थ आहार और चिकित्सा से ही दूर किया जा सकता है। एनीमिया की समस्या के प्रमुख कारण इस प्रकार हैं।

  • शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में कमी
  • ब्लीडिंग की वजह से खून की कमी की स्थिति में।
  • असंतुलित खानपान और जीवनशैली के कारण शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी
  • आनुवांशिक कारणों से।
  • कुछ बीमारियों के कारण शरीर में खून की कमी।

इस समस्या में इंसान को थकान और कमजोरी के लक्षण दिखाई देते हैं। एनीमिया से ग्रसित व्यक्ति की त्वचा, नाखून और आंख पर सफेदी आने लगती है और व्यक्ति को शारीरिक काम करने में कठिनाई होती है। इस बीमारी में लक्षण स्थिति के आधार पर अलग-अलग भी हो सकते हैं। एनीमिया की समस्या के प्रमुख लक्षण इस प्रकार से हैं।

  • अत्यधिक थकान
  • शरीर में कमजोरी
  • स्किन, नाखून और आंख में पीलापन
  • अनियमित दिल की धड़कन
  • सांस लेने में कठिनाई
  • चक्कर आना
  • छाती में दर्द
  • हाथ और पैर का ठंडा पड़ना
  • सिर दर्द

शरीर में खून की कमी (एनीमिया) दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय (Ayurvedic Remedies to Cure Anemia)

आयुर्वेद में एनीमिया की समस्या से छुटकारा पाने के तमाम उपाय बताये गए हैं। असंतुलित खानपान और अन्य स्थितियों के कारण होने वाली इस समस्या में आयुर्वेदिक उपचार बहुत फायदेमंद माने जाते हैं। आप एनीमिया की समस्या में इन कारगर आयुर्वेदिक उपायों को अपना सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : आयुर्वेद के अनुसार तिल है इन 5 बीमारियों का रामबाण इलाज, जानें प्रयोग का तरीका

Ayurvedic-Remedies-to-Cure-Anemia

1. एनीमिया की समस्या में तुलसी का इस्तेमाल (Tulsi to Cure Anemia)

आयुर्वेद में तुलसी का औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। तुलसी को सैकड़ों बीमारियों का कारगर इलाज माना जाता है। इसके सेवन से शरीर में तमाम बीमारियां दूर होती हैं। शरीर में खून की कमी होने पर तुलसी की पत्तियों का सेवन भी बहुत फायदेमंद माना जाता है। अगर आप एनीमिया की समस्या से पीड़ित हैं तो आप रोजाना तुलसी के पत्तों का सेवन सुबह खाली पेट करें। इसके अलावा आप तुलसी के रस को रोज सुबह और शाम पानी में डालकर पियें। ऐसा नियमित रूप से करने पर आपको एनीमिया की समस्या में फायदा मिलेगा।

2. एनीमिया में पालक का इस्तेमाल (Spinach to Cure Anemia)

शरीर में खून की कमी या एनीमिया की समस्या में पालक का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। यूं तो लोग पालक का इस्तेमाल साग या सब्जी के रूप में करते हैं लेकिन आयुर्वेद में इसे औषधि माना जाता है। इसका इस्तेमाल कर आप शरीर से कई समस्याओं को दूर कर सकते हैं। पालक में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है इसलिए इसका सेवन खून की कमी को दूर करने में फायदेमंद है। एनीमिया की समस्या में आप पालक का नियमित रूप से सेवन करें, आयुर्वेद के मुताबिक ऐसा करने से एनीमिया में फायदा मिलता है।

इसे भी पढ़ें : खून की कमी से जुड़ी गंभीर बीमारी है अप्लास्टिक एनीमिया, जानें इस बीमारी के कारण, लक्षण और इलाज

Ayurvedic-Remedies-to-Cure-Anemia

3. मेथी के इस्तेमाल से दूर करें एनीमिया की समस्या (Fenugreek to Cure Anemia)

एनीमिया की समस्या में आयुर्वेद के मुताबिक मेथी का इस्तेमाल करने से बहुत फायदा मिलता है। एनीमिया की समस्या में आप मेथी के पत्ते और इसके बीज का इस्तेमाल कर सकते हैं। मेथी के पत्तों को साग के रूप में इस्तेमाल किया जाता है जिसमें आयरन जैसे तमाम पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं। आप मेथी का साग का नियमित रूप से सेवन कर शरीर में खून की कमी को दूर कर सकते हैं। इसके अलावा एनीमिया में आप मेथी के बीज को पानी में भिगोकर उसके पानी का बीज का सेवन रोजाना सुबह के समय करें। ऐसा नियमित रूप से करने पर आपको एनीमिया की समस्या में फायदा मिलेगा।

इसे भी पढ़ें : शहरों में बढ़ रहा प्रदूषण बढ़ा रहा है बच्चों में एनीमिया का खतरा, एक्सपर्ट से जानें इसका कारण और बचाव के टिप्स

4.  एनीमिया की समस्या में ऐलोवेरा जूस का इस्तेमाल (Aloe Vera Juice to Cure Anemia) 

एलोवेरा का इस्तेमाल शरीर से कई समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। इसमें मौजूद गुण स्किन, बाल और शरीर की सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माने जाते हैं। शरीर में पेट से जुड़ी कोई समस्या हो या खून की कमी इन सबमें एलोवेरा का इस्तेमाल आयुर्वेद के मुताबिक बहुत फायदेमंद होता है। शरीर में खून की कमी होने पर आप नियमित रूप से एलोवेरा का इस्तेमाल कर सकते हैं। एनीमिया को दूर करने के लिए आप रोजाना 20 ML एलोवेरा के जूस का इस्तेमाल करें। नियमित रूप से कुछ दिनों के लिए इसका सेवन करने पर एनीमिया की समस्या में बहुत फायदा मिलता है।

5. एनीमिया की समस्या में घी का सेवन (Ghee to Cure Anemia)

शरीर में खून की कमी होने पर आप घी का सेवन कर सकते हैं। घी को आयुर्वेद में कई बीमारियों की दवा माना जाता है। घी का सेवन शरीर में पित्त दोष को संतुलित करने के लिए फायदेमंद माना जाता है। आयुर्वेद के मुताबिक एनीमिया की समस्या में पित्त उत्तेजित हो जाता है और इस स्थिति में घी का सेवन करने से फायदा मिलता है। आयुर्वेद में एनीमिया की समस्या से निजात पाने के लिए रोजाना सुबह खाली पेट 10 ML घी का सेवन करना चाहिए। ऐसा नियमित रूप से करने पर आपको एनीमिया की समस्या में फायदा मिलेगा।

इसे भी पढ़ें : एनीमिया से लड़ने के लिए अपनी डाइट में जरूर शामिल करें ये 5 चीजें, शरीर में आयरन की कमी होगी पूरी

एनीमिया की समस्या का सही समय पर इलाज न होने से शरीर में कई दिक्कतें हो सकती हैं। एनीमिया के लक्षण दिखने पर आपको तुरंत चिकित्सक के पास जाना चाहिए। एनीमिया की समस्या कई कारणों से हो सकती है और इस समस्या में उचित खानपान और इलाज से फायदा मिलता है। ऊपर बताये गए घरेलू नुस्खे एनीमिया की समस्या में बहुत फायदेमंद माने जाते हैं। लेकिन इनका इस्तेमाल करने से पहले आपको चिकित्सक या एक्सपर्ट की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer