एनीमिया क्या है और कितने प्रकार के होते हैं? जानें इनके लक्षण

शरीर में खून की कमी से एनीमिया हो सकता है। यह कई तरह के हो सकते हैं। आइए विस्तार से जानते हैं इसके बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Feb 22, 2022Updated at: Feb 22, 2022
एनीमिया क्या है और कितने प्रकार के होते हैं? जानें इनके लक्षण

एनीमिया (Anemia in Hindi) एक ऐसी स्थिति है, जिसमें शरीर के टिश्यूज तक ऑक्सीजन ले जाने के लिए हेल्दी ब्लड सेल्स की कमी होती है।  एनीमिया की स्थिति को शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होना भी कहा जाता है। इस स्थिति में मरीज को थकान और काफी ज्यादा कमजोरी महसूस होती है। एनीमिया (Types of Anemia in Hindi) कई तरह के होते हैं, जिनके अलग-अलग कारण हो सकते हैं। यह समस्या अस्थायी या दीर्घकालिक हो सकता है। साथ ही इसका स्वरूप हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकता है। ज्यादातर मामलों में, एनीमिया के एक से अधिक कारण (Causes of Anemia) होते हैं। ऐसे में एनीमिया के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क की आवश्यकता होती है। आज इस लेख में हम एनीमिया के प्रकार, कारण और लक्षणों के बारे में विस्तार से जानेंगे। 

एनीमिया क्या है ? (what is anemia in hindi)

साधारण शब्दों में शरीर में खून की कमी को एनीमिया कहा जाता है। जब हमारे शरीर में रेड ब्लड सेल्स (Red Blood Cells) की मात्रा कम होने लगती है, तो शरीर के टिश्यूज तक ऑक्सीजन पहुंचने में कठिनाई आने लगती है। जिससे नया खून बनने में अवरुद्ध उत्पन्न हो जाता है। इस समस्या को ही एनीमिया या फिर खून की कमी कहा जाता है।

इसे भी पढ़ें - शरीर में खून बढ़ाने के लिए पिएं आयरन से भरपूर ये 5 ड्रिंक्स, दूर रहेगी एनीमिया और कमजोरी की समस्या

एनीमिया के प्रकार ( Types of Anemia )

  • अप्लास्टिक एनीमिया (Aplastic anemia)
  • आयरन की कमी से एनीमिया (Iron deficiency anemia)
  • सिकल सेल एनीमिया (Sickle cell anemia)
  • थैलेसीमिया ( Thalassemia )
  • विटामिन की कमी से होने वाला एनीमिया (Vitamin deficiency anemia)

एनीमिया के लक्षण (Anemia Symptoms in Hindi )

एनीमिया के लक्षण, इसके कारण और गंभीरता के आधार पर निर्भर करता  है। एनीमिया के कारणों के आधार पर आपके शरीर में कई लक्षण दिख सकते हैं। इन लक्षणों में कुछ सामान्य लक्षण शामिल हैं। जैसे-

  • थकान महसूस होना।
  • शरीर में काफी ज्यादा कमजोरी महसूस होना। 
  • स्किन का रंग पीला या पीले रंग का धब्बे होना। 
  • दिल की धड़कनें अनियमित होना।
  • सांस लेने में कठिनाई महसूस होना।
  • चक्कर आना
  • सीने में दर्द
  • हाथ और पैर ठंडे होना
  • सिर दर्द की परेशानी होना।

शुरुआत में एनीमिया के लक्षण काफी ज्यादा हल्के होते हैं, जिसे समझना काफी मुश्किल होता है। लेकिन धीरे-धीरे एनीमिया के बिगड़ने पर इसके लक्षण भी गंभीर नजर आ सकते हैं। 

एनीमिया के कारण (Anemia Causes in Hindi )

एनीमिया जन्म के समय मौजूद स्थिति (जन्मजात) या आपके द्वारा विकसित की स्थिति के कारण हो सकता है। एनीमिया तब होता है, जब हमारे शरीर में  पर्याप्त रेड ब्लड सेल्स नहीं होती है।  

  • शरीर में पर्याप्त मात्रा में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण नहीं होना। 
  • अत्यधिक ब्लीडिंग
  • लाल रक्त कोशिकाओं का नष्ट होना। 
  • शरीर में आयरन, विटामिन बी 12, फोलिक एसिड की कमी इत्यादि।

एनीमिया प्रकार के आधार पर इसके कारण

आयरन की कमी से होने वाला एनीमिया (Iron deficiency anemia.) 

यह सबसे आम तरह का एनीमिया। यह शरीर में आयरन की कमी से होने वाला एनीमिया है। हमारे बोन मैरो को हीमोग्लोबिन बनाने के लिए आयरन की आवश्यकता होती है। शरीर में पर्याप्त आयरन न होने से हमारा शरीर लाल रक्त कोशिकाओं के लिए पर्याप्त हीमोग्लोबिन का उत्पादन नहीं कर पाता है।

विटामिन की कमी से एनीमिया (Vitamin deficiency anemia)

आयरन के अलावा शरीर को लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन के लिए फोलेट और विटामिन बी-12 की आवश्यकता होती है। इन पोषक तत्वों की कमी होने से भी शरीर में एनीमिया की शिकायत हो सकती है।

इसे भी पढ़ें - प्रेगनेंसी के बाद शरीर में खून की कमी (एनीमिया) के लक्षण, कारण और इलाज के तरीके

इंफ्लेमेटरी एनीमिया (Anemia of inflammation)

कुछ ऐसी बीमारी जैस कैंसर, एचआईवी / एड्स, गुर्दे की बीमारी, क्रोहन रोग और अन्य पुरानी इंफ्लेमेटरी संबंधी बीमारियां के कारण शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में अवरुद्ध उत्पन्न हो सकता है। 

अप्लास्टिक एनीमिया (Aplastic anemia)

एनीमिया का यह काफी दुर्लभ और खतरनाक स्वरूप है। इस स्थिति में हमारा शरीर पर्याप्त लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन (anemia without iron deficiency) नहीं करता है। अप्लास्टिक एनीमिया होने के कारणों में इंफेक्शन, कुछ दवाएं, ऑटोइम्यून रोग और जहरीले केमिकल्स के संपर्क में आने की वजह से होता है। 

अस्थि मज्जा रोग से जुड़े एनीमिया (Anemias associated with bone marrow disease)

ल्यूकेमिया और मायलोफिब्रोसिस (myelofibrosis) जैसी कई तरह की बीमारियां आपके अस्थि मज्जा ( bone marrow) में रक्त उत्पादन को प्रभावित करती है। जो एनीमिया का कारण बन सकती हैं। यह काफी गंभीर एनीमिया होता है। 

हेमोलिटिक एनीमिया (Hemolytic anemias)

एनीमिया का यह स्वरूप तब विकसित होता है, जब लाल रक्त कोशिकाएं तेजी से नष्ट होने लगती हैं और अस्थि मज्जा उनकी जगह ले सकता है। कुछ ब्लड डिजीज रेड ब्लड कोशिका को नष्ट करने तेजी से नष्ट करने लगते हैं। यह एक अनुवांशिक एनीमिया हो सकता है। इसके अलावा कुछ अन्य कारणों से यह स्थिति उत्पन्न होती है।

ध्यान रखें कि एनीमिया हल्के और गंभीर हो सकते हैं। ऐसे में इसके लक्षणों को नजरअंदाज करना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। शरीर में एनीमिया के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। ताकि समय पर इससे होने वाली गंभीर समस्याओं से बचाव किया जा सके।

Disclaimer