दिल कमजोर होने का संकेत हैं ये 7 लक्षण

दिल के कमजोर होने पर आपके शरीर में कई गंभीर लक्षण दिखाई देते हैं, इन लक्षणों के बारे में जानकारी आपको गंभीर स्थिति से बचा सकती है

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Sep 02, 2021 18:44 IST
दिल कमजोर होने का संकेत हैं ये 7 लक्षण

हम सभी इस बात को जानते हैं कि शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग हार्ट (Heart) है जो बिना रुके हुए लगातार काम करता है। आज के समय में दुनियाभर में दिल से जुड़ी समस्याओं के कारण लोगों की मौत की संख्या बढ़ती जा रही है। अभी तक बढ़ती उम्र के कारण हार्ट अटैक, हार्ट फेलियर जैसी समस्याएं होती थी लेकिन अब कम उम्र में ही लोगों को इन समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। आज के समय में 35 से 40 साल की उम्र में लोगों की मौत हार्ट अटैक और हार्ट फेलियर के कारण हो रही है। इन सभी समस्याओं का कारण हमारा खानपान, लाइफस्टाइल और परिवार में हार्ट डिजीज की हिस्ट्री हो सकती है। खानपान और गलत आदतों के कारण दिल कमजोर (Weak Heart) हो जाता है।  दिल के कमजोर होने या समस्याओं से ग्रस्त होने पर शरीर में ब्लड सर्कुलेशन का काम प्रभावित होता है जिसके कारण कई परेशानियां होती हैं। दिल की मांसपेशियों (हार्ट मसल्स) के कमजोर होने से दिल अपना काम भी सही ढंग से नही कर पाता है जिसकी वजह से आगे चलकर कई गंभीर समस्याएं होती हैं। दिल की कमजोरी की समस्या से बचने के लिए इसके लक्षणों को पहचानना बहुत जरूरी है। आइये जानते हैं दिल की कमजोरी के कारण शरीर में दिखने वाले 7 लक्षणों के बारे में।

दिल कमजोर होने के 7 लक्षण (Signs and Symptoms of a Weak Heart)

हार्ट मसल्स की कमजोरी को ही दिल की कमजोरी कहा जाता है। हार्ट मसल्स की कमजोरी शरीर में कई बीमारियों, खानपान और जीवनशैली के कारण हो सकती है। इस समस्या के कारण आपको कई गंभीर स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। कमजोर दिल या दिल की मांसपेशियों के कमजोर होने से आपको दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियों का खतरा भी रहता है। दिल के कमजोर होने पर शरीर में ये 7 प्रमुख लक्षण दिखाई देते हैं।

Signs-Symptoms-of-a-Weak-Heart

(image source - freepik.com)

इसे भी पढ़ें : हार्ट मसल्स में कमजोरी के कारण हो सकती हैं दिल से जुड़ी ये 5 बीमारियां, जानें इनके लक्षण और बचाव

1. लगातार मतली, सीने में जलन होना (Nausea And Heartburn)

दिल के कमजोर होने पर शरीर में कई लक्षण दिखाई देते हैं। शुरुआत में जब दिल की कमजोरी होती है इंसान को लगातार मतली की समस्या हो सकती है। इसके साथ ही लगातार सीने में हो रही जलन भी दिल की कमजोरी का संकेत है। अगर आपको ये समस्याएं काफी दिनों से हो रही हैं तो चिकित्सक के पास जाकर अपने दिल के सेहत की जांच जरूर कराएं।

इसे भी पढ़ें : हार्ट में इंफेक्शन के इन लक्षणों को नजरअंदाज करना है खतरनाक, डॉक्टर से जानें इससे बचाव के तरीके

Signs-Symptoms-of-a-Weak-Heart

(image source - freepik.com)

2. हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure)

दिल की कमजोरी में आपका ब्लड प्रेशर भी अनियंत्रित हो जाता है। दिल के कमजोर होने पर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। हाई ब्लड प्रेशर की समस्या के कारण हार्ट अटैक और हार्ट फेलियर जैसी समस्याओं का खतरा बना रहता है। आज के समय में ब्लड प्रेशर नापने के लिए मशीन आसानी से मिल जाती है। आप डिजिटल मशीन से भी अपना ब्लड प्रेशर चेक कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : 'कार्डियक टैम्पोनेड' है दिल से जुड़ी गंभीर बीमारी, जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

3. कंधे और छाती में दर्द (Shoulder and Chest Pain)

कमजोर दिल की समस्या में आपके सीने में विशेषकर बाईं ओर सबसे ज्यादा दर्द होगा। ये दर्द दिल की मांसपेशियों में दिक्कत की वजह से होता है। दिल की कमजोरी के कारण सीने में होने वाला दर्द कभी-कभी दर्दनाक हो जाता है। इस दर्द की स्थिति को मेडिकल की भाषा में एनजाइना कहा जाता है जो सीधे हृदय में रक्त के अनियमित और बाधित प्रवाह से जुड़ा दर्द होता है। आमतौर पर कंधों में होने वाले दर्द को दिल से जोड़कर नहीं देखा जाता है लेकिन कंधे में लगातार दर्द बने रहना कमजोर दिल का संकेत हो सकता है।

4. खर्राटे और नींद से जुड़ी समस्या (Snoring and Sleep Problems)

सांस में रुकावट या सांस लेने में तकलीफ के कारण आपको नींद से जुड़ी या खर्राटे की समस्या हो सकती है। यह समस्या सीधे तौर पर दिल की सेहत से जुड़ी है। दिल की कमजोरी में भी आपको खर्राटों की समस्या हो सकती है और इसके अलावा नींद से जुड़े कई विकार हो सकते हैं। स्लीप एपनिया की समस्या जिसमें लेटने पर सांस लेने में तकलीफ होती है दिल की समस्याओं का संकेत होती है। ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (ओएसए) भी हृदय रोगों को ट्रिगर करने का काम कर सकती है। इसलिए लगातार खर्राटे और नींद से जुड़ी समस्याओं के लक्षण दिखने पर आपको अपने दिल के सेहत की जांच जरूर करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें : दिल (हार्ट) के मरीजों को एक्सरसाइज करते समय जरूर ध्यान रखनी चाहिए ये 5 बातें, वरना हो सकती हैं कई समस्याएं

Signs-Symptoms-of-a-Weak-Heart

(image source - freepik.com)

5. बेचैनी और छाती में दबाव महसूस होना (Restlessness and Chest Pain)

बेचैनी और छाती में दबाव भी दिल की कमजोरी से जुड़ा हो सकता है। दिल की धमनियों के ब्लाक होने के बाद छाती में दबाव महसूस होता है और इस स्थिति को मेडिकल इमरजेंसी माना जाता है। दिल के कमजोर होने पर इंसान को अक्सर बेचैनी और छाती में दबाव की समस्या हो सकती है।

इसे भी पढ़ें : पेट के सेहत से कैसे जुड़ी है आपके दिल की सेहत? जानें पेट के कारण होने वाली हार्ट संबंधी बीमारियों के बारे में

6. लगातार सर्दी और जुकाम का बने रहना (Continuous Cough and Cold)

लगातार सर्दी और जुकाम की समस्या का बने रहना भी दिल की बीमारी का संकेत होता है। इस समस्या में लापरवाही आपकी सेहत पर भारी पड़ सकती है। काफी दिनों से जुकाम की समस्या का होना और इसकी वजह से कफ बनना दिल से जुड़ी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है। दिल के कमजोर होने पर आपको यह समस्या हो सकती है। 

7. सांस लेने में तकलीफ (Shortness of Breath)

सांस लेने में तकलीफ या सांस से जुड़ी समस्याएं हृदय के कमजोरी का संकेत हो सकती हैं। दिल के कमजोर होने या ठीक ढंग से काम न कर पाने की स्थिति में आपको सांस लेने में तकलीफ हो सकती है। सांस की कमी  एथेरोस्क्लेरोसिस, दिल की धमनी का रोग, कंजेस्टिव हार्ट फेलियर और हार्ट वाल्व डिजीज का संकेत होता है। अगर आपको लगातार सांस लेने में तकलीफ की समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो चिकित्सक से संपर्क जरूर करें।

इसे भी पढ़ें : बच्चों में नींद के दौरान सांस की समस्या बन सकती है दिल की बीमारी की कारण, डॉक्टर से जानें बचाव के उपाय

ये लक्षण दिखने पर आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। दिल से जुड़ी बीमारियों में तुरंत इलाज ही सबसे जरूरी होता है। आप संतुलित खानपान और स्वस्थ जीवनशैली अपनाकर इन समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं।

(main image source - freepik.com)

Read More Articles on Heart Health in Hindi

Disclaimer