दिल (हार्ट) के मरीजों को एक्सरसाइज करते समय जरूर ध्यान रखनी चाहिए ये 5 बातें, वरना हो सकती हैं कई समस्याएं

दिल (हार्ट) के मरीजों को एक्सरसाइज के दौरान जरूरी सावधानियों का ध्यान रखना चाहिए, एक्सरसाइज के दौरान आप इन 5 बातों का ध्यान जरूर रखें। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Aug 19, 2021 18:22 IST
दिल (हार्ट) के मरीजों को एक्सरसाइज करते समय जरूर ध्यान रखनी चाहिए ये 5 बातें, वरना हो सकती हैं कई समस्याएं

नियमित रूप से व्यायाम और योग का अभ्यास सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। किसी भी प्रकार की बीमारी हो या समस्या व्यायाम और योग करने से फायदा मिलता ही है। दिल की बीमारी (हार्ट डिजीज) से जूझ रहे लोगों के लिए व्यायाम के अनेकों फायदे हैं। हार्ट के मरीजों को नियमित रूप से व्यायाम करने से गंभीर स्थितियों का खतरा कम हो जाता है। लेकिन अगर आप सही ढंग से या सावधानियों का पालन (Exercise Precautions) न करते हुए व्यायाम या योग का अभ्यास कर रहे हैं तो यह आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। दिल के मरीजों (Heart Patients) को व्यायाम करते समय कुछ बातों और सावधानियों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। हार्ट के मरीजों के लिए एक्सपर्ट्स कुछ व्यायाम करने की सलाह देते हैं लेकिन इनका अभ्यास करते समय होने वाली गलतियां आपके सेहत पर भारी पड़ सकती हैं। दिल के मरीज व्यायाम करते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें।

दिल के मरीजों को व्यायाम करते समय ध्यान रखनी चाहिए ये 5 बातें (Exercise Precautions for Heart Patients)

Exercise-Precautions-for-Heart-Patients

(Image Source - Freepik.com)

आज के समय में ब्लड प्रेशर, हार्ट अटैक जैसी दिल से जुड़ी गंभीर समस्याओं का कारण खानपान और गलत जीवनशैली है। आधुनिक जीवनशैली के कारण बीमारियों का खतरा और बढ़ जाता है और इसके साथ शारीरिक गतिविधियों में कमी भी दिल की बीमारियों का मुख्य कारण हो सकती है। ऐसे में बीमारियों से बचाव और निजात के लिए रोजाना एक्सरसाइज करना आवश्यक हो जाता है। लेकिन अगर आप किसी भी एक्सरसाइज का अभ्यास सही ढंग से नहीं करते हैं तो यह भी आपके लिए खतरनाक ही होता है। दिल के मरीजों को एक्सरसाइज के दौरान इन पांच बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

1. हार्ट स्ट्रोक या हार्ट अटैक की समस्या से पीड़ित व्यक्तियों को आइसोमेट्रिक व्यायाम जैसे पुशअप्स और सिटअप्स का अभ्यास नहीं करना चाहिए। अगर आपको हाल में हार्ट स्ट्रोक या अटैक आया है तो ऐसे कठिन और मांसपेशियों को तनाव देने वाले एक्सरसाइज के अभ्यास से बचना चाहिए। आइसोमेट्रिक एक्सरसाइज मांसपेशियों पर अधिक तनाव देती है जिसकी वजह से आपको कई दिक्कतें हो सकती हैं। इसलिए गंभीर स्थितियों वाले लोगों को इसका अभ्यास करने से बचना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : हार्ट में इंफेक्शन के इन लक्षणों को नजरअंदाज करना है खतरनाक, डॉक्टर से जानें इससे बचाव के तरीके

Exercise-Precautions-for-Heart-Patients

(Image Source - Freepik.com)

2. ऐसे लोग जो दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियों के शिकार हैं उन्हें एक्सरसाइज के दौरान तामपान का ध्यान जरूर रखना चाहिए। अगर आप दिल के मरीज हैं और बहुत अधिक गर्मी या अधिक ठंड में एक्सरसाइज कर रहे हैं तो इसकी वजह से आपको सांस लेने में दिक्कत और सीने में दर्द जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए मौसम के अनुकूल एक्सरसाइज का ही अभ्यास करना फायदेमंद होता है। अगर आप दिल से जुड़ी गंभीर समस्याओं से ग्रसित हैं तो अधिक ठंड या गर्म मौसम में एक्सरसाइज का अभ्यास न करें। इस दौरान आप ऐसे व्यायाम का अभ्यास कर सकते हैं जो आसान और सरल माने जाते हैं।

इसे भी पढ़ें : डिप्रेशन की वजह से हो सकती है दिल की धड़कन अनियमित, जानें दोनों के संबंध और खतरे

3. हार्ट डिजीज से जुड़ी किसी भी प्रकार की सर्जरी के तुरंत बाद एक्सरसाइज या योग का अभ्यास करना खतरे से खाली नहीं होता है। अगर आपकी हाल ही में हार्ट सर्जरी हुई है तो एक्सरसाइज का अभ्यास कम से कम 6 हफ्तों तक बिलकुल भी न करें। इस दौरान आप रोजाना सुबह या शाम में वाक जरूर कर सकते हैं। लेकिन इस बात का ध्यान रहे कि 4 किलोमीटर से ज्यादा टहलना भी ऐसी स्थिति में खतरनाक हो सकता है। हार्ट सर्जरी के बाद एक्सरसाइज और व्यायाम को लेकर अपने चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

इसे भी पढ़ें : कितना स्वस्थ है आपका हार्ट (दिल)? जानें इन आसान तरीकों से

4. हार्ट के मरीजों को ज्यादा वजन उठाने वाली एक्सरसाइज का अभ्यास करने से बचना चाहिए। दिल की गंभीर समस्याओं के मरीजों को ज्यादा वजन उठाने से मांसपेशियों पर जोर पड़ सकता है जिसकी वजह से आपकी दिक्कतें और बढ़ सकती हैं। इसलिए चिकित्सक भी इन समस्याओं में ज्यादा वजन उठाने वाले व्यायाम का अभ्यास न करने की सलाह देते हैं।

5. अगर आपको अनियमित दिल की धड़कन या दिल की धड़कन से जुड़ी कोई समस्या है तो इस दौरान एक्सरसाइज न करने की सलाह दी जाती है। अगर आपको एक्सरसाइज के दौरान हार्टबीट में बदलाव महसूस होता है तो 15 मिनट आराम करने के बाद अपने दिल की धड़कन को जरूर चेक करना चाहिए। अगर इसके बाद भी धड़कन अनियमित है तो चिकित्सक से जरूर संपर्क करें।

इसे भी पढ़ें : तेजी से वजन घटाना आपके दिल के लिए हो सकता है बुरा, एक्सपर्ट से जानें कैसे पड़ता है हार्ट पर प्रभाव

इन सावधानियों का ध्यान रखते हुए व्यायाम करना दिल के मरीजों के लिए अच्छा माना जाता है। एक्सरसाइज के दौरान सीने में या शरीर में कहीं दर्द या तनाव महसूस होने पर एक्सरसाइज बंद कर देना चाहिए। यह समस्या अगर गंभीर हो तो तुरंत चिकित्सक की सलाह लें। 

(Main Image Source - Freepik.com)

Read More Articles on Heart Health in Hindi

Disclaimer