बीमार पड़ने पर बिना डॉक्टर की सलाह खुद से दवा खाना कितना हान‍िकारक हो सकता है? जानें सेल्फ मेडिकेशन के नुकसान

भारतियों में एक कॉमन आदत देखने को म‍िलती है क‍ि वो अपना इलाज खुद से शुरू कर देते हैं पर ब‍िना डॉक्‍टर सलाह के इलाज और दवा खाना हान‍िकारक है

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Apr 09, 2021 14:07 IST
बीमार पड़ने पर बिना डॉक्टर की सलाह खुद से दवा खाना कितना हान‍िकारक हो सकता है? जानें सेल्फ मेडिकेशन के नुकसान

क्‍या आप भी ब‍िना डॉक्‍टर से सलाह ल‍िए खुद से दवा ले लेते हैं? अगर हां तो ऐसी गलती न करें। इस व‍िषय पर हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की। डॉ सीमा ने बताया क‍ि कई बार हमारे पास ऐसे केस आते हैं ज‍िसमें लोग बीमारी के साथ-साथ खुद से दवा लेने के साइड इफेक्‍ट भी झेल रहे होते हैं। उन्हें बाद में गलती का अहसास होता है पर तब तक बॉडी पर इसका असर पड़ चुका होता है। खुद से दवा लेने के केस पुरूषों के मुकाबले मह‍िलाओं में ज्‍यादा देखने को म‍िलते हैं। शरम या ल‍िहाज के चलते मह‍िलाएं खुद से ही दवा ले लेती हैं या पर‍िवार को प्राथम‍िकता देने के चक्‍कर में वो अपनी तबीयत पर ध्‍यान नहीं देती और खुद से इलाज शुरू कर देती हैं। ऐसी गलती न करें। कुछ लोग खुद से सप्‍लीमेंट्स ले लेते हैं पर आपको बता दें क‍ि इससे भी आपकी सेहत ब‍िगड़ सकती है, सप्‍लीमेंट्स का असर हर शरीर पर अलग ढंग से होता है, अगर सही तरीके की बात की जाए तो सप्‍लीमेंट्स लेने से पहले भी आपको कई टेस्‍ट करवाने चाहिए। जैसे कई लोग प्रोटीन, व‍िटाम‍िन आदि सप्‍लीमेंट ले लेते हैं पर उन्‍हें इसकी जरूरत नहीं होती। इसल‍िए सेल्‍फ मेड‍िकेशन आपको बीमार कर सकता है, आइए जानते हैं इससे होने वाले नुकसानों के बारे में। 

self medication

सेल्‍फ मेड‍िकेशन क्‍या है? (What is Self Medication)

सेल्‍फ मेड‍िकेशन का मतलब है ब‍िना डॉक्‍टर की सलाह ल‍िए खुद से दवा लेना। जो लोग सेल्‍फ मेड‍िकेशन करते हैं उन्‍हें इसके नेगेट‍िव पर‍िणाम भी झेलने पड़ते हैं। सेल्‍फ मेड‍िकेशन के असर से उल्‍टी, चक्‍कर आना, स‍िर में दर्द से लेकर मोटापा, कैंसर जैसी जानलेवा बीमार‍ियां भी हो सकती हैं इसल‍िए आप अपने और पर‍िवार की सेफ्टी के ल‍िए सेल्‍फ मेड‍िकेशन से बचें। बिना मेड‍िकल ह‍िस्‍ट्री डॉक्‍टर को बताए आप अगर दवा लेंगे तो उसका उल्‍टा असर आप पर होगा, बीमारी ठीक होने के बजाय बढ़ सकती है इसल‍िए सावधान रहें। 

उम्र और बीमारी के मुताब‍िक तय होती है दवा की डोज (Dose of medicine is decided according to age and disease)

dose of medicines

आपने दवाओं पर नाम के साथ उसकी एमजी भी लि‍खी देखी होगी जैसे 75 एमजी या 600 एमजी। ये दवा की डोज होती है, उम्र और बीमारी के मुताब‍िक डोज डॉक्‍टर तय करते हैं। अगर आपने छोटे बच्‍चे को हाई डोज दे दी तो उसकी तबीयत ब‍िगड़ सकती है वहीं अगर हल्‍के बुखार में आपने हाई डोज ले ली तो आपको घबराहट या बेचैनी होगी। इसल‍िए भी डॉक्‍टर की सलाह के ब‍िना दवा लेना खतरनाक है। वायरल होने पर या मलेर‍िया जैसे रोगों में भी लोग खुद से दवा ले लेते हैं ज‍िनका पर्चा उनके पास नहीं होता है, कई बार तो इन रोगों से बचने के ल‍िए लोग पहले से ही दवा खाना शुरू कर देते हैं पर इन दवाओं को खाने से आपको रोग नहीं होंगे इस बात की कोई गारंटी नहीं है। 

इसे भी पढ़ें- क्‍या आप भी कोरोना वायरस से बचने के लिए खा रहे हैं विटामिन सी की गोलियां? तो जानिए डॉक्‍टर की सलाह

पीर‍ियड्स या प्रेगनेंसी में सेल्‍फ मेड‍िकेशन से होने वाले नुकसान (Avoid self medication in pregnancy or for period related issues)

pregnancy pills

खुद से दवा लेने की आदत पुरूषों के मुकाबले म‍ हि‍लाओं में ज्‍यादा देखने को म‍िलती है। खासकर शादीशुदा मह‍िलाओं में क्‍योंक‍ि वो पर‍िवार के चलते अपना स्‍वास्‍थ्‍य नजरअंदाज कर देती हैं। प्रेगनेंसी के ल‍िए खुद से कॉन्‍ट्रासेप्‍ट‍िव प‍िल खाना, या पीर‍ियड्स में गड़बड़ी होने पर हॉर्मोनल प‍िल खाना मह‍िलाओं के ल‍िए आम बात है पर इससे उनके शरीर पर नुकसान हो सकता है। प्रेगनेंसी से बचने के ल‍िए अगर आप प‍िल खा रही हैं तो आपको उससे पहले डॉक्‍टर के साथ अपनी मेड‍िकल ह‍िस्‍ट्री शेयर करनी चाह‍िए। अगर आप पीर‍ियड्स की अन‍ियमितता होने पर खुद से दवा लेंगी तो आपको मोटापा, कैंसर, इंफर्ट‍िल‍िटी आद‍ि समस्‍याएं हो सकती हैं। इसल‍िए इस तरह के मेड‍िकेशन से बचें। 

ब‍िना प्रिस्‍क्र‍िप्‍शन, सप्‍लीमेंट्स खाने के नुकसान (Side effects of taking supplements without doctor's prescription)

टीवी पर एड देखकर या इंटरनेट पर पढ़कर लोग सप्‍लीमेंट्स लेने के बारे में सोचते हैं, पर आपको नैचुरल फूड्स से ही पोषक तत्‍वों की कमी पूरी करनी चाह‍िए। खुद से सप्‍लीमेंट्स लेना हान‍िकारक हो सकता है। उम्र बढ़ने पर पोषक तत्‍वों की कमी होती है ज‍िसे पूरा करने के ल‍िए सप्‍लीमेंट्स की मदद ली जाती है पर उसे डॉक्‍टर बताते हैं अगर आप खुद से ही इन्‍हें खाएंगे तो इनका बुरा असर आपकी हेल्‍थ और स्‍क‍िन पर हो सकता है। कई बार हॉर्मोन का स्‍तर घट या बढ़ जाता है ज‍िससे आपको स्‍ट्रेस हो सकता है, फेस पर स्‍कि‍न प्रॉब्‍लम हो सकती है इसल‍िए सप्‍लीमेंट्स को ब‍िना डॉक्‍टर की सलाह के न खाएं। 

इसे भी पढ़ें- क्‍या सचमुच ब्‍लड प्रेशर की दवा बढ़ा सकती है कैंसर का खतरा? जानें इससे जुड़े मिथक और सच्‍चाई : शोध

सेल्‍फ मेड‍िकेशन के नुकसान (Side effects of Self Medication)

disadvantages of self medication

  • 1. खुद से दवा लेने पर लीवर को नुकसान पहुंच सकता है, बहुत सी दवाएं लीवर को इफेक्‍ट करती हैं इसल‍िए डॉक्‍टर दवा के साथ एंटीबॉयोट‍िक भी देते हैं पर खुद से दवा लेने पर आपका लीवर डैमेज हो सकता है। 
  • 2. अगर आप दर्द के ल‍िए पेनक‍िलर खा रहे हैं तो लंबे समय तक इसका सेवन करने से आपके बाल झड़ सकते हैं, पेट में ब्‍लीड‍िंग हो सकती है, सुस्‍ती आना, मुंह सूखना, ब्‍लड प्रेशर बढ़ना, ड‍िप्रेशन, मांसपेश‍ियो में जकड़न आद‍ि भी पेनक‍िलर खाने से हो सकता है। 
  • 3. बुखार, खांसी या वायरल की दवा अगर आप खुद से लेते हैं तो आपको पेट में गड़बड़ी, एस‍िड‍िटी, म‍िचली, क‍िडनी से जुड़ी श‍िकायत आद‍ि हो सकती है। ये दवाएं भले ही कॉमन हैं पर इनका डोज डॉक्‍टर से पूछे बि‍ना न लें।
  • 4. कुछ मेड‍िस‍िन्‍स में ड्रग होता है ताक‍ि आपको दर्द से आराम‍ म‍िले पर अगर आप ब‍िना डॉक्‍टर की सलाह के उन्‍हें खा लेंगे तो आपको इससे स‍िर भारी होना, पेट में दर्द होना, स‍िर घूमना आद‍ि परेशानी हो सकती है। 
  • 5. कुछ मेड‍िसिन्‍स में मिले ड्रग एडिक्‍ट‍िव होते हैं जैसे बेनेड्रल स‍िरप। ये स‍िरप सर्दी या गला खराब होने पर द‍िया जाता है पर इससे लोग अच्‍छा महसूस करते हैं और लत लग जाती है इसल‍िए इसे डॉक्‍टर की सलाह के ब‍िना नहीं द‍िया जाता है। 
  • 6. अगर आप लंबे समय तक डॉक्‍टर की सलाह ल‍िए बगैर कोई दवा खाते रहेंगे तो आपकी बॉडी में मौजूद वायरस या बैक्‍टीर‍िया उसका आद‍ी हो जाएगा और एक वक्‍त के बात हाई डोज भी असर नहीं करेगी इसल‍िए प्र‍िस्‍क्र‍िप्‍शन जरूरी है।  

हेल्‍थ एक्‍सर्पट्स के मुताब‍िक केम‍िस्‍ट की बताई हुई दवा भी न लें, कई बीमार‍ियों में जांच की जरूरत होती है, दवा के साइड इफेक्‍ट तुरंत न द‍िखें पर आपको बाद में खुद से दवा लेने का दुष्‍पर‍िणाम झेलना पड़ सकता है इसल‍िए च‍िक‍ित्‍सा मदद लें। 

Read more on Miscellaneous in Hindi 

Disclaimer