गर्मी में अंडर गारमेंट्स के कारण होती है रैशेज़ और खुजली की समस्या, तो ये हैं बचाव के लिए कुछ जरूरी टिप्‍स

गर्मी के द‍िनों में अंडर गारमेंट्स से रैशेज की समस्‍या आम है पर आप कुछ खास ट‍िप्‍स को अपनाएं तो इस परेशानी से बच सकते हैं 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Mar 09, 2021Updated at: Mar 09, 2021
गर्मी में अंडर गारमेंट्स के कारण होती है रैशेज़ और खुजली की समस्या, तो ये हैं बचाव के लिए कुछ जरूरी टिप्‍स

क्‍या आपको भी गर्मियों में अंडर गारमेंट्स से स्‍क‍िन में  रैशेज की समस्‍या होती है? अगर हां तो आज के लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ जरूरी ट‍िप्‍स ज‍िनकी मदद से आप रैशेज की समस्‍या से बच सकते हैं। हमारी बॉडी में कुछ पॉर्ट्स बेहद सेंस‍िट‍िव होते हैं जैसे अंडरऑर्म्स, ब्रेस्‍ट के नीचे का एर‍िया, अंडर थाइज, प्राइवेट पार्ट, घुटने के पीछे। यहां इंफेक्‍शन का खतरा ज्‍यादा होता है क्‍योंक‍ि इन पॉर्टर्स में हवा नहीं लगती इसके कारण मॉइश्‍चर जमा होने लगता है और संक्रमण के कारण रैशेज हो जाते हैं। इन जगहों पर बालों की ग्रोथ की वजह से बैक्‍टीर‍िया भी पनपने लगते हैं। रैशेज और खुजली की समस्‍या ज्‍यादा बढ़ने पर अन्‍य बॉडी पॉर्ट में भी संक्रमण फैल सकता है। इन परेशानियों से बचने के ल‍िए आपको हमेशा अंडर गारमेंट्स को साफ करके पहनना चाह‍िए, इनरवेयर्स की सफाई और उन्‍हें न‍ियम‍ित तौर पर बदलना जरूरी है। गर्मियों में कॉटन की जगह आप कोई मटेर‍ियल के गारमेंट्स का इस्‍तेमाल करेंगे तो रैशेज होने की आशंका बढ़ जाएगी। ऐसे ही अन्‍य जरूरी टिप्‍स जानने के ल‍िए हमने ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से बात की।

wear cotton undergarments in summers 

केवल कॉटन अंडर गारमेंट्स खरीदें, द‍िन में कम से कम 2 बार बदलें (Change undergarment everyday)

आपको केवल कॉटन के अंडर गारमेंट्स की खरीदने हैं। डॉक्‍टर केवल कॉटन के अंडर गारमेंट्स ही पहनने की सलाह देते हैं क्‍योंक‍ि ये बेस्‍ट फैब्र‍िक माना जाता है। इसमें स्‍किन सांस ले पाती है और रैशेज की समस्‍या नहीं होती। कॉटन एक्‍स्‍ट्रा मॉइश्‍चर को भी आसानी से एब्‍सॉर्ब कर लेता है। अगर ठंड के द‍िन है तो भी आपको गरम कपड़ों के नीचे कॉटन के अंडर गारमेंट्स पहनने चाह‍िए। आपको हर द‍िन अंडर गारमेंट्स बदलनी है, चाहे बन‍ियान हो, ब्रा हो या अंडरवेयर आपको उसे हर द‍िन चेंज करना है। आप चाहें तो एक से ज्‍यादा बार भी अंडरवेयर बदल सकते हैं। प्राइवेट पॉर्ट्स में रैशेज की समस्‍या दूर करना चाहते हैं तो रात को ढीले कपड़े या अंडरगारमेंट्स पहनें। इसके अलावा वो कॉटन होने चाह‍िए क्‍योंक‍ि रात को आपकी बॉडी के हर ह‍िस्‍से में हवा लगनी चाह‍िए इससे मॉइश्‍चर खत्‍म होगा और बैक्‍टीर‍िया नहीं बनेंगे। 

अंडर गारमेंट्स को मॉइश्‍चर से बचाएं (Avoid moisture in under garments)

wear dry underware

कुछ लोग वर्कआउट करते समय भी रैशेज का शि‍कार हो जाते हैं ऐसा इसल‍िए होता है क्‍योंक‍ि वर्कआउट के समय आपकी बॉडी से पसीना न‍िकलता है ज‍िससे स्‍क‍िन में रैशेज हो सकते हैं। आपको वर्कआउट करते समय कॉटन के अंडर गारमेंट्स ही पहनने चाह‍िए। पॉल‍िस्‍टर या कोई मटेर‍ियल के कपड़े आपके ल‍िए समस्‍या का कारण बन सकते हैं। इसके अलावा आपको ये भी ध्‍यान रखना है क‍ि कपड़े ज्‍यादा टाइट न हो वरना रैशेज होने की समस्‍या जल्‍दी-जल्‍दी र‍िपीट होगी। आपको अपने ल‍िए बहुत ज्‍यादा फैंसी अंडर गारमेंट्स नहीं खरीदने चाह‍िए क्‍योंक‍ि इनमें अलग-अलग मटेर‍ियल इस्‍तेमाल क‍िया जाता है जो आपकी स्‍क‍िन को खराब कर सकता है। अंडर गारमेंट्स का आरामदायक होना बहुत जरूरी है क्‍योंक‍ि आपको पूरे द‍िन ऑफ‍िस या फील्‍ड पर काम करना है ऐसे में आपको एलर्जी और इंफेक्‍शन से बचने के ल‍िए आराम का ध्‍यान रखना बहुत जरूरी है। अंडर गारमेंट्स ज्‍यादा टाइट नहीं होने चाह‍िए। बहुत से लोग हद से ज्‍यादा टाइट ब्रॉ या अंडरवेयर पहनते हैं। ये भी रैशेज होने का एक कारण है। 

इसे भी पढ़ें- शरीर में यहां-वहां खुजली और एलर्जी से रहते हैं परेशान? जानें क्या है इसका कारण और समाधान

साल में कम से कम एक बार जरूर र‍िप्‍लेस करें अंडर गारमेंट्स (Change your under garments every year)

आपको हर साल अपने अंडर गारमेंट्स बदल लेने चाह‍िए हो सकता है इस कारण भी आपको रैशेज की समस्‍या हो क्‍योंक‍ि आप अंडर वेयर को हर साल र‍िप्‍लेस नहीं कर रहे हैं। एक अनुमान के मुताब‍िक एक अंडरवेयर में 10 हजार बैक्‍टीर‍िया हो सकते हैं वहीं एक वॉशिंग मशीन में कई हजार बैक्‍टीर‍िया मौजूद होते हैं। सोच‍िए अंडर गारमेंट्स को समय-समय पर बदलना क‍ितना जरूरी है। 

अंडर गारमेंट्स को साफ करने का सही तरीका (How to clean under garments)

clean under garments

अंडर गारमेंट्स को लोग पूरे द‍िन पहनते हैं इसल‍िए उसे साफ रखना जरूरी है। अंडर गारमेंट्स को हायपोएलर्जेन‍िक सोप से साफ करें क्‍योंकि आम साबुन से आपको स्‍क‍िन में एलर्जी या रैशेज हो सकते हैं। अंडर गारमेंट्स को साफ करने के बाद उसे कम से कम 30 म‍िनट के ल‍िए धूप में खुखाएं, धूप लगने से कपड़े में मौजूद बैक्‍टीर‍िया न‍िकल जाते हैं। आपको अंडरगारमेंट्स को दूसरे कपड़ों में म‍िक्‍स नहीं करना चाह‍िए। इन्‍हें अलग से धोएं। 

इसे भी पढ़ें- गर्मियां आते ही पीठ, हाथ और जांघ पर होने लगी घमौरियां, इन देसी उपाय से पाएं राहत और दूर भगाएं जिद्दी घमौरियां

अंडर गारमेंट्स से स्‍कि‍न रैशेज होने पर क्‍या करें? (Treatment of skin rashes)

how to avoid rashes in body

  • 1. अगर गारमेंट्स से स्‍क‍िन में रैशेज हो गए हैं तो सबसे आसान तरीका है उस एर‍िया में बर्फ लगाएं। साफ कपड़ या रुमाल में बर्फ को लपेटें और प्रभाव‍ित हिस्‍से में लगाएं। बर्फ से जलन ठीक हो जाएगी। 
  • 2. एलोवेरा को भी जलन कम करने के ल‍िए इस्‍तेमाल कर सकते हैं। फ्रैश एलोवेरा जैल को प्रभाव‍ित ह‍िस्‍से में लगाकर कुछ देर छोड़ दें फ‍िर ठंडे पानी से धो लें, इससे रैश के दौरान होने वाला दर्द भी ठीक होगा। 
  • 3. कोकोनट ऑयल भी रैशेज ठीक करने का आसान तरीका है। अगर आपको रैशेज के साथ एलर्जी भी हो गई है तो नार‍ियल के तेल को कॉटन बॉल की मदद से उस ह‍िस्‍से में लगाएं जहां रैशेज हुए है, तकलीफ कुछ द‍िनों में दूर हो जाएगी। 
  • 4. टी ट्री ऑयल का इस्‍तेमाल भी रैशेज में क‍िया जा सकता है। टी ट्री ऑयल की 2 बूंद अपने मॉइश्‍चराइजर या ऑल‍िव ऑयल में म‍िक्‍स करें और जहां रैशेज हैं वहां लगा लें। इसका असर कुछ ही घंटों में आपको नजर आने लगेगा। 
  • 5. रैशेज ठीक करने के लि‍ए आप बेकिंग सोडा का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 1 कप पानी में बेक‍िंग सोडा म‍िलाएं और प्रभाव‍ित ह‍िस्‍से में लगाएं या आप अपने बॉथटब में इसे म‍िलाकर नहा लें। बेक‍िंग सोडा से पीएच बैलेंस मेनटेन होता है और रैशेज की समस्‍या दूर हो जाएगी। 
  • 6. आप एपल साइडर व‍िनेगर का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। आप इसे पानी में म‍िलाकर प्रभाव‍ित ह‍िस्‍से में लगा लें पर ध्‍यान रखें क‍ि अगर खून न‍िकल रहा है या कट लगा है तो आप व‍िनेगर का इस्‍तेमाल न करें। 
  • 7. रैशेज की समस्‍या दूर करने के ल‍िए आप प्‍लांट ऑयल का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। ऑल‍िव ऑयल, सनफ्लॉवर ऑयल, ऑर्गेन या जोजूबा ऑयल को भी रैशेज पर लगा सकते हैं, इससे जलन दूर हागी और आपको आराम मिलेगा। 

इन आसान तरीकों से आप गर्मियों में अंडर गारमेंट्स से होने वाले स्‍क‍िन इंफेक्शन और रैशेज से बच जाएंगे। 

Read more on Skin Care in Hindi 

Disclaimer