यूटीआई (यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन) को ठीक करने वाले आसान आयुर्वेदिक नुस्खे

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (यूटीआई) की समस्या में बहुत फायदेमंद होता है इन आयुर्वेदिक नुस्खों का इस्तेमाल, जानें इनके बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 23, 2021Updated at: Jul 23, 2021
यूटीआई (यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन) को ठीक करने वाले आसान आयुर्वेदिक नुस्खे

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (यूटीआई) महिलाओं को होने वाली एक आम समस्या है। एक अनुमान के मुताबिक विश्व भर में हर साल लगभग 150 मिलियन लोग यूटीआई की समस्या से ग्रसित होते हैं। ई कोलाई बैक्टीरिया को इसका सबसे बड़ा कारण माना जाता है। यह बैक्टीरिया कवक और वायरस की वजह से फैलता है। यूटीआई का संक्रमण पुरुषों की तुलना में महिलाओं को ज्यादा होता है। इसे सामान्य भाषा में यूरिन इंफेक्शन भी कहते हैं। आमतौर पर इस समस्या का इलाज एलोपैथी की दवाओं से किया जाता है लेकिन कई शोध और रिसर्च इस बात की पुष्टि करते हैं कि इसका इलाज आयुर्वेदिक तरीके से भी किया जा सकता है। आयुर्वेद में हर समस्या का सटीक इलाज है, हालांकि ये इलाज बीमारी को जड़ से खत्म करने में थोडा अधिक समय लेते हैं। जो महिलाएं यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन से ग्रसित हैं वे इस समस्या के निदान के लिए आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का सहारा ले सकती हैं। आइए जानते हैं यूटीआई (यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन) को ठीक करने वाले आसान आयुर्वेदिक नुस्खों के बारे में।

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के कारण (What Causes Urinary Tract Infection?)

Ayurvedic-Remedies-to Get-Rid-of-UTI

आयुर्वेद के मुताबिक यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन का प्रमुख कारण शरीर में पित्त दोष का असंतुलन होता है। इसके अलावा गर्म और मसालेदार व खट्टे भोजन की वजह से भी यूरिन इंफेक्शन हो सकता है। इसके अलावा शराब के सेवन और पेशाब को ज्यादा देर तक रोकने की वजह से भी यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन का खतरा बना रहता है। यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के प्रमुख कारण इस प्रकार से हैं।

  • असंतुलित खानपान और जीवनशैली।
  • बैक्टीरिया का संक्रमण Urethra या Vulva में पहुंचने पर। 
  • यौन संबंध के दौरान बैक्टीरिया के संपर्क में आने से।
  • टॉयलेट के गंदे पानी के संपर्क में आने से।
  • गंदे टॉयलेट का इस्तेमाल करने की वजह से।

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के लिए आयुर्वेदिक नुस्खे (Ayurvedic Remedies to Get Rid of UTI)

आयुर्वेद में शरीर से जुड़ी लगभग हर समस्या का इलाज बताया गया है। सैकड़ों सालों से लोग आयुर्वेद का इस्तेमाल शरीर को स्वस्थ और रोग मुक्त रखने के लिए कर रहे हैं। यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन या यूरिन इंफेक्शन की समस्या में भी ये आयुर्वेदिक नुस्खे बहुत कारगर माने जाते हैं।

इसे भी पढ़ें : बारिश में ज्यादा होती है वजाइनल इंफेक्शन (योनि संक्रमण) की समस्या, जानें इससे बचाव के लिए 5 टिप्स

Ayurvedic-Remedies-to Get-Rid-of-UTI

1. यूटीआई की समस्या में लहसुन का इस्तेमाल (Garlic for Urinary Tract Infection)

आयुर्वेद में लहसुन को बेहद कारगर जड़ी बूटी माना गया है। इसका इस्तेमाल औषधि के रूप में सैकड़ों सालों से किया जा रहा है। लहसुन में मौजूद गुण फंगल, वायरल और जीवाणुओं के संक्रमण में फायदेमंद होते हैं। लहसुन में मौजूद सल्फर युक्त यौगिक की वजह से इन बीमारियों में यह रामबाण की तरह काम करता है। यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन में लहसुन के इस्तेमाल से बहुत फायदा मिलता है। आप इस समस्या में रोजाना कच्चे लहसुन का सेवन करें। नियमित रूप से कुछ दिनों तक इसका सेवन करने से यूरिन इंफेक्शन की समस्या दूर होती है। रोजाना लहसुन की दो से तीन कलियों का सुबह में खालीपेट सेवन करना फायदेमंद माना जाता है।

इसे भी पढ़ें : यूरीन इंफेक्शन से बचाव के लिए अपनाएं यह 9 घरेलू उपाय, एक्स्पर्ट से जानिए कैसे है यह आपके लिए फायदेमंद

Ayurvedic-Remedies-to Get-Rid-of-UTI

2. पुदीने की चाय (Mint Leaves Tea)

यूटीआई के इलाज के लिए पुदीने की चाय का इस्तेमाल प्राचीन काल से किया जा रहा है। पुदीने में मौजूद गुण इस समस्या में बहुत फायदेमंद माने जाते हैं। तमाम शोध और रिसर्च इस बात की पुष्टि करते हैं कि पुदीने की पत्तियों में मौजूद गुण यूटीआई के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया जैसे ई कोलाई के खिलाफ काम करते हैं। पुदीने की पत्तियों में जीवाणुरोधी गुण होता है जो यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन में फायदेमंद होता है। आप इस समस्या में रोजाना पुदीने की ताजी पत्तियों से बनी चाय का सेवन कर सकती हैं। पुदीने की चाय बनाने के लिए आप कुछ ताजी पत्तियों को पानी में डालकर उबाल लें और फिर इस पानी को हल्का ठंडा करके चाय की तरह पिएं।

3. क्रैनबेरी (Cranberry)

यूटीआई यानी यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की समस्या में क्रैनबेरी का इस्तेमाल काफी समय से किया जा रहा है। इसके इस्तेमाल से पेशाब से जुड़ी कई समस्याओं में फायदा मिलता है। रोजाना क्रैनबेरी का सेवन करने से या फिर इसका क्रैनबेरी का जूस पीने से यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की समस्या दूर होती है। क्रैनबेरी में मौजूद डी-मैनोज, हिप्पुरिक एसिड, एंथोसायनिन और पीएसी नाम का तत्व इस समस्या में बहुत फायदेमंद होता है।

Ayurvedic-Remedies-to Get-Rid-of-UTI

इसे भी पढ़ें : यूरिन इंफेक्शन (UTI)से छुटकारा दिलाती है हल्‍दी, इलायची और चावल का पानी, जानिए कैसे

इन आयुर्वेदिक नुस्खों का इस्तेमाल कर आप यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की समस्या से छुटकारा पा सकती हैं। इस समस्या से बचने के लिए संतुलित और पौष्टिक खानपान, सुरक्षित यौन संबंध और साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस समस्या के लक्षण दिखने पर किसी विशेषज्ञ डॉक्टर की राय जरूर लें। 

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer