गैस का दर्द कहां-कहां हो सकता है? डॉक्टर से जानें गैस के कारण शरीर के हिस्सों में होने वाले दर्द के बारे में

गैस की वजह से शरीक के कुछ हिस्सों में दर्द हो सकता है। आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Dec 09, 2021 18:11 IST
गैस का दर्द कहां-कहां हो सकता है? डॉक्टर से जानें गैस के कारण शरीर के हिस्सों में होने वाले दर्द के बारे में

गैस पाचन तंत्र में पाचन प्रक्रिया का एक सामान्य हिस्सा है। शरीर में मौजूद अतिरिक्त गैस डकार या फ्लैटस (flatus) के माध्यम से बाहर निकल जाता है। यह एक सामान्य प्रक्रिया है, लेकिन गैस का दर्द तब होता है जब गैस आपके शरीर के किसी हिस्से में फंस जाता है। यह समस्या तब उत्पन्न होती है, जब आपका पाचन तंत्र सही तरीके से कार्य नहीं करता है। गैस तब शरीर में अधिक बनती है, जब व्यक्ति कब्ज या दस्त से ग्रसित होता है। मनीपाल हॉस्पिटल के गैस्ट्रोएन्टेरोलॉजी डॉक्टर कुणाल दास बताते हैं कि गैस होने से शरीर के कुछ हिस्सों जैसे- पेट और सीने में दर्द होता है। प्रतिदिन कम से कम 8 से 10 बार गैस पास होना स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी होता है। अगर गैस पास होना बंद हो जाए, तो गैस के दर्द का कारण बन सकता है। आज हम इस लेख में विस्तार से गैस का दर्द कहां - कहां होता है, इसके बारे में जानेंगे। 

गैस का दर्द कहां-कहां हो सकता है? ( where does gas pain usually occur )

गैस की वजह से आपको पेट और सीने में दर्द हो सकता है। आइए डॉक्टर से विस्तर से जानते हैं इसके बारे में-

गैस के कारण पेट में दर्द (pain in stomach due to gas )

अक्सर कब्ज और दस्त की वजह से गैस की समस्या होती है। इस स्थिति में आपको पेट में दर्द, मरोड़ और ऐंठन भी हो सकती है। गैस होने पर पेट में दर्द होना एक सामान्य लक्षण है। इसलिए अगर आपको गैस की वजह से पेट में दर्द हो, तो गर्म पानी का सेवन करें। वहीं, अगर समस्या ज्यादा बढ़े, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

गैस के कारण सीने में दर्द ( pain in chest due to gas )

अक्सर सीने में होने वाले दर्द को लोग हार्ट अटैक या दिल से जुड़ी बीमारी समझ बैठते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है, गैस की वजह से आपके सीने में भी दर्द हो सकता है। डॉक्टर बताते हैं कि जब गैस शरीर से बाहर नहीं निकल पाता  है, तो यह आपके शरीर के कई हिस्सों में घूमता है। अगर सीने में यह गैस चला जाए, तो आपकी छाती में जकड़न और बेचैनी हो सकती है। कुछ लोगों को गैस की वजह से सीने में दर्द के साथ-साथ जलन और चुभन भी महसूस हो सकता है। इसलिए अगर आपको सीने में दर्द हो, तो घबराएं नहीं। डॉक्टर से संपर्क करके अपनी समस्या की जांच कराएं। 

गैस क्यों बनता है?

डॉक्टर कुणाल दास का कहना है कि गैस की वजह से अलग-अलग लोगों को अलग-अलग तरह की समस्या हो सकती है। कुछ लोगों का कहना है कि गैस की वजह से उनका पेट फूल जाता है, उन्हें पेट में दर्द, डकार ज्यादा होती है। गैस की यह समस्याएं डिस्पेसिया (Dyspraxia) का हिस्सा होता है। इसकी वजह से आपकी छाती में जलन, चक्कर आना, उल्टी, दस्त, मतली जैसी शिकायत हो सकती है। इन समस्याओं का कारण गर्ड ( Gastroesophageal reflux disease ) और सीबो ( Small intestinal bacterial overgrowth ) होता है। डॉक्टर का कहना है कि हमारे पेट में कुछ बैक्टीरिया हमेशा मौजूद होते हैं, लेकिन कुछ कारणवश: बैक्टीरिया ओवरग्रोथ करने लग जाते हैं। जिसकी वजह से शरीर में गैस बनने लगती है।

इसे भी पढ़ें - एसिडिटी होने पर नींबू-पानी पीना कितना सुरक्षित है? एक्सपर्ट से जानें कैसी गलती बढ़ा सकती है आपकी परेशानी

क्या गैस की वजह से होता है हड्डियों और मांसपेशियों में दर्द होता है ? 

डॉक्टर का कहना है कि उनके पास कुछ ऐसे मामले आते हैं, जिसमें मरीजों का कहना होता है कि जब वे हाथ दबाते हैं, तो उन्हें दर्द होता ( pain in hand due to gas ) है और डकार आती है। उनका कहना है कि गैस हमारे शरीर के होलो ऑर्गन ( Hollow organ ) में होती है। मसल्स के अंदर इस तरह की गैस नहीं होती है। इस तरह के कई मरीज नर्वस और एंजायटी से ग्रसित होते हैं। दरअसल, इस तरह के मरीजों में फंक्शनल डिजीज से ग्रसित होते हैं, जिसकी वजह से उन्हें लगता है कि उनकी हड्डियों और मांसपेशियों में गैस की वजह से दर्द हो रहा है। गैस की वजह से मांसपेशियों और हड्डियों में दर्द बायोजिकल नहीं हो सकता है। इस तरह की समस्याएं एंजायटी के फलस्वरूप या फिर अन्य बीमारियों की वजह से सिर, पैर, हाथ, पीठ और कमर में दर्द हो सकता है। 

क्या गैस की वजह से शरीर के अन्य हिस्सों में होता है दर्द? 

डॉक्टर कुणाल दास बताते हैं कि मांसपेशियों या फिर हड्डियों में गैस की वजह से दर्द बहुत ही रेयर मामलों में देखा गया है। अगर लोगों को लगता है कि उनके पैरे में गैस की वजह से दर्द ( pain in Leg due to gas ) हो रहा है, तो यह एक एंजायटी हो सकती है। उनका कहना है कि गैस की वजह से कमर, पीठ, बाजू, कंधे में दर्द, सिर, पैरों जैसे हिस्सों में दर्द होने की संभावना काफी कम होती है। यह एक बहुत ही दुर्लभ समस्या है, जिसे पायरोमिया (pyromania) कहा जाता है। इस समस्या से ग्रसित मरीजों के मसल्स काले पड़ने लगते हैं। यह बहुत गी गंभीर स्थिति है। आम लोग कहते हैं कि उन्हें गैस की वजह से सिर में दर्द हो रहा है या पीठ में दर्द हो रहा है, तो यह संभव नहीं है। क्योंकि इस तरह के मरीजों का चलना और खड़ा होना तक मुश्किल हो जाता है। 

उनका कहना है कि गैस मांसपेशियों में प्रवेश इतनी आसानी से नहीं कर सकता है। अगर किसी रेयर मामलों में शरीर के इन हिस्सों में गैस प्रवेश कर जाए, तो व्यक्ति की स्थिति इतनी गंभीर हो जाती है कि उसे तुरंत डॉक्टर की निगरानी की जरूरत पड़ सकती है। ऐसे में अगर पसलियों में दर्द ( pain in ribs due to gas ), सिर में दर्द ( pain in head due to gas ) या फिर अन्य हिस्सों में  दर्द हो, तो इसे नजरअंदाज न करें। इस तरह का दर्द किसी अन्य कारणों से हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - गैस और कब्ज की आयुर्वेदिक दवा: इन 8 जड़ी-बूटियों से करें गैस और कब्ज की समस्या दूर

गैस होने पर क्या न करें ? 

डॉक्टर का कहना है कि हमारी डाइट गैस की समस्या का कारण मुख्य कारण होती है। इसलिए जब भी आपको गैस की परेशानी हो, तो अपने डाइट में बदलाव करें। जैसे-

  • गैस होने पर दूध बिल्कुल भी न लें। हालांकि, अगर आप कैल्शियम लेना चाहते हैं तो दूध से तैयार अन्य चीजें जैसे- छाछ, दही, लस्सी जैसी चीजों का सेवन कर सकते हैं। 
  • गैस होने पर सिट्रिक एसिड युक्त फल और सब्जिया जैसे- नींबू, आंवला, संतरा, मौसमी इत्यादि का सेवन न करें। 
  • कुछ लोगों का कहना है कि गैस होने पर फाइबर नहीं लेना चाहिए। इस बारे में डॉक्टर बताते हैं कि आपको हाई फाइबर युक्त चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। हालांकि, आप लो फाइबर युक्त आहार ले सकते हैं।
  • खाली पेट कभी भी चाय का सेवन न करें। अगर आप चाहे, तो पूरे दिन में 1 कप चाय पी सकते हैं। लेकिन चाय के साथ कुछ खाने की चीजें जैसे- बिस्किट, नट्स लेना न भूलें। 

गैस की वजह से आपके पेट और सीने में दर्द हो सकता है। सिर या फिर शरीर के अन्य हिस्सों में  गैस की वजह से दर्द काफी रेयर मामलों में देखा गया है। हालांकि, अगर आपको इस तरह की परेशानी महसूस हो रही है, तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें। ताकि आपको डॉक्टर उचित राय दे सकें।

Disclaimer