Doctor Verified

World No-Tobacco Day: प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करना मां और बच्चे दोनों के लिए है बेहद खतरनाक, जानें नुकसान

प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग करने से मां और गर्भ में पल रहे शिशु दोनों की सेहत को गंभीर खतरा होता है, डॉक्टर से जानें इसके नुकसान।

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 31, 2022Updated at: May 31, 2022
World No-Tobacco Day: प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करना मां और बच्चे दोनों के लिए है बेहद खतरनाक, जानें नुकसान

Smoking Side Effects: दुनियाभर में धूम्रपान या स्मोकिंग करने की वजह से लाखों लोगों की असमय मौत हर साल होती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक आंकड़े के मुताबिक पूरी दुनिया में लगभग 80 लाख लोगों की मौर हर साल तंबाकू का सेवन या इससे जुड़े उत्पादों का सेवन करने की वजह से होती है। सिगरेट पीने से आपके शरीर में निकोटिन, कार्बन मोनोऑक्साइड और टार जैसे हानिकारक केमिकल्स प्रवेश करते हैं जो शरीर के आंतरिक अंगों को नुकसान पहुंचाने के साथ शरीर को बीमारियों का शिकार बनाने का काम करते हैं। स्मोकिंग के मामले में महिलाएं पुरुषों से कहीं पीछे नहीं है। महिलाओं के स्मोकिंग करने से उनकी सेहत के साथ-साथ बच्चों पर भी बुरा असर पड़ता है। प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग (Effects of Smoking during Pregnancy in Hindi) करने से न सिर्फ महिला के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है बल्कि इसकी वजह से गर्भ में पल रहे शिशु की सेहत पर भी गंभीर असर होता है। पूरी दुनिया में स्मोकिंग और तंबाकू का सेवन करने से होने वाले प्रभाव के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) 31 मई को मनाया जाता है। आइए विस्तार से जानते हैं प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करने से मां और गर्भ में पल रहे शिशु की सेहत पर पड़ने वाले असर के बारे में।

प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करने के नुकसान (Effects of Smoking during Pregnancy in Hindi)

स्मोकिंग या धूम्रपान वैसे तो किसी के लिए भी सुरक्षित नहीं होता है लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग करना बहुत खतरनाक माना जाता है। स्मोकिंग करने से न सिर्फ आपकी प्रजनन क्षमता और फर्टिलिटी प्रभावित होती है बल्कि इससे आपके गर्भ में पल रहे बच्चे की सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। सिगरेट के धुंए से निकलने वाले हानिकारक केमिकल्स सेहत पर बुरा असर डालते हैं। स्टार हॉस्पिटल की स्त्री और प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ विजय लक्ष्मी के मुताबिक प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करने वाली महिला और गर्भ में पल रहे बच्चे को कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। इसकी वजह से गर्भपात का खतरा बना रहता है और समय से पहले बच्चे का जन्म भी हो सकता है। प्रेगनेंसी में धूम्रपान करने से होने वाले नुकसान इस तरह से हैं।

smoking during pregnancy effects in Hindi

इसे भी पढ़ें : गर्भावस्थाः महिलाओं का दिन में 10 से ज्यादा सिगरेट पीना नवजात में 41 फीसदी बढ़ा सकता है फ्रेक्चर का खतरा

1. प्रेगनेंसी में धूम्रपान करने से गर्भपात का खतरा

प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करने की वजह से गर्भपात का खतरा बना रहता है। इसकी वजह से महिला के गर्भवती होने के पहले तीन महीने के भीतर गर्भपात हो सकता है। कई मामलों में यह प्रेगनेंसी के 20 सप्ताह के बाद भी हो सकता है। अमेरिकी स्वास्थ्य एजेंसी सीडीसी की एक रिपोर्ट में यह कहा गया है कि प्रेगनेंसी में धूम्रपान करने से शुरुआत में ही गर्भपात का खतरा बना रहता है और इसकी वजह से मृत बच्चे का जन्म भी हो सकता है। सिगरेट में मौजूद हानिकारक केमिकल्स भ्रूण के विकास को रोकने और उसे नुकसान पहुंचाने का काम करते हैं।

2. प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करने से बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य पर असर

प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग करने से शिशु के मानसिक स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है। इसकी वजह से बच्चे को सांस से जुड़ी परेशानी हो सकती है। यह समस्या बच्चे को जन्म के समय से ही हो सकती है। कई शोध और अध्ययन भी इस बात की पुष्टि करते हैं कि प्रेगनेंसी में अमोकिंग करने की वजह से गर्भ में पल रहे बच्चे को जन्म से ही कई जटिलताएं हो सकती हैं। स्मोकिंग करने से मां के शरीर में ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा नहीं पहुंचती है जिसकी वजह से बच्चे के दिमाग का विकास भी प्रभावित होता है। 

इसे भी पढ़ें : गर्भावस्था में ध्रूमपान करने से बचें, हो सकता है दमा का खतरा

3. प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करने से प्लेसेंटल दिक्कतें

प्लेसेंटा दरअसल प्रेगनेंसी के दौरान गर्भ में पल रहे भ्रूण को पोषक तत्व और ऑक्सीजन की सप्लाई करने का काम करता है। प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग करने की वजह से महिलाओं में प्लेसेंटल दिक्कतें हो सकती हैं जिसकी वजह से गंभीर रूप से ब्लीडिंग हो सकती है और इसके कारण मां और बच्चे दोनों की जान को गंभीर खतरा रहता है।

4. जन्म के समय शिशु का वजन कम होना

प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग करने की वजह से बच्चे का वजन जन्म के समय कम हो सकता है। इसके कारण न सिर्फ बच्चे का वजन कम होता है बल्कि बच्चे को जन्म के समय से ही कई विसंगतियां हो सकती हैं। इसकी वजह से बच्चे को सुनने में दिक्कत और आंख से जुड़ी कई परेशानियां भी हो सकती हैं। कई गंभीर मामलों में जन्म के समय कम वजन होने के कारण बच्चे की मौत भी हो सकती है।

5. प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करने से शिशु में जन्मजात बीमारियों का खतरा

प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग करने से बच्चे को जन्म के समय से ही बीमारियों का खतरा रहता है। इसकी वजह से बच्चों में जन्म के समय से ही कई दोष मौजूद रह सकते हैं। प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करने की वजह से बच्चे जन्म से ही दिल से जुड़ी बीमारियों का शिकार हो सकते हैं या उनके शरीर की बनावट में दिक्कतें आ सकती हैं।

इसे भी पढ़ें : शरीर और वातावरण दोनों के लिए खतरनाक है स्मोकिंग, जानें इसकी वजह से सेहत पर पड़ने वाले प्रभाव

स्मोकिंग वैसे तो सभी के लिए हानिकारक है लेकिन प्रेगनेंसी में स्मोकिंग करना मां और बच्चे दोनों के लिए जानलेवा भी हो सकता है। इसलिए महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान स्मोकिंग करने से बचना चाहिए।

(All Image Source - Freepik.com)

 
Disclaimer