क्या डायबिटीज में क्‍व‍िनोआ का सेवन करने से मिलता है लाभ? जानें क्‍व‍िनोआ से सेहत को मिलने वाले 9 फायदे

अगर आपको डायब‍िटीज है या हेल्‍दी अनाज खाना चाहते हैं तो अपनी डाइट में क्‍व‍िनोआ जोड़ने से शरीर को फाइबर, प्रोटीन, आयरन की भरपूर मात्रा म‍िलती है

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Mar 22, 2021 14:17 IST
क्या डायबिटीज में क्‍व‍िनोआ का सेवन करने से मिलता है लाभ? जानें क्‍व‍िनोआ से सेहत को मिलने वाले 9 फायदे

क्‍या डायब‍िटीज में क्‍व‍िनोआ का सेवन फायदेमंद होता है? जी हां। क्‍व‍िनोआ एक ऐसा अनाज है ज‍िसका सेवन आप ड‍ायब‍िटीज में कर सकते हैं। क्‍व‍िनोआ के बीज ग्‍लूटन मुक्‍त होते हैं इसके साथ इसमें 9 जरूरी अमीनो एस‍िड पाए जाते हैं। क्‍व‍िनोआ में प्रोटीन, आयरन, पोटैश‍ियम, कैल्‍श‍ियम और मैग्‍न‍िश‍ियम की अच्‍छी मात्रा पाई जाती है। आप चाहें तो इसे रोटी में म‍िलाकर खा सकते हैं या क्‍व‍िनोआ का दल‍िया भी बनता है। कई लोग इसकी शुगर फ्री खीर बनाकर खाते हैं। क्‍व‍िनोआ के सेवन से वजन भी कंट्रोल रहता है जो क‍ि डायब‍िटीज मरीजों की आम श‍िकायत होती है। क्‍व‍िनोआ में फाइबर की मात्रा ज्‍यादा होती है इसल‍िए इसे वजन कम करने के ल‍िए भी खा सकते हैं। क्‍व‍िनोआ में फैट की मात्रा बहुत कम होती है। अगर आप कोई सुपरफूड ढूंढ रहें हैं तो क्‍व‍िनोआ का सेवन कर सकते हैं। क्‍व‍िनोआ में व‍िटाम‍िन बी, सी, आयरन, अमीनो एस‍िड आद‍ि की अच्‍छी मात्रा होती है। इस बारे में ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के वेलनेस डाइट क्‍लीन‍िक की डाइटीश‍ियन डॉ स्‍म‍िता सिंह से बात की। 

quinoa for diabetes

डायब‍िटीज मरीजों को खाना चाह‍िए क्‍व‍िनोआ? (Quinoa for diabetes)

क्‍व‍िनोआ एक तरह का अनाज है इसमें प्रोटीन, पोटैश‍ियम, फाइबर, अमीनो एस‍िड, व‍िटाम‍िन बी, सी, आयरन की अच्‍छी मात्रा पाई जाती है। डायब‍िटीज के मरीजों को क्‍व‍िनोआ का सेवन जरूर करना चाह‍िए क्‍योंक‍ि डायब‍िटीज में सबसे बड़ी च‍िंता होती है ब्‍लड शुगर को कंट्रोल रखना और आप ऐसा तभी कर सकते हैं जब शरीर में जाने वाली कॉर्ब्स की मात्रा का पता लगाया जाए। क्‍व‍िनोआ में कॉर्ब्स की अच्‍छी मात्रा होती है इसल‍िए इसे डायब‍िटीज के दौरान खा सकते हैं। डायबिटीज कंट्रोल करने में डाइट का अहम रोल होता है। क्‍व‍िनोआ के सेवन से ब्‍लड शुगर कंट्रोल रहती है। आप इसे बेझ‍िझक खा सकते हैं। क्‍व‍िनोआ में चावल के मुकाबले कैलोरीज कम और फाइबर, कैल्‍श‍ियम, प्रोटीन, आयरन, पोटैश‍ियम की मात्रा ज्‍यादा होती है। वहीं अगर क्‍व‍िनोआ को ओट्स से कंपेयर करें तो क्‍व‍िनोआ ओट्स का सब्‍सटिट्यूट हो सकता है। ओट्स, क्‍व‍िनोआ के मुकाबले पचने में ज्‍यादा समय लेता है क्‍योंक‍ि उसका ग्‍लाइसेम‍िक इंडेक्‍स ज्‍यादा होता है। 

डायब‍िटीज में फाइबर का स्रोत है क्‍‍विनोआ (Benefits of eating Quinoa in diabetes)

quinoa recipe for diabetes

100 ग्राम क्‍व‍िनोआ में 1.43 mg आयरन, 500 mg सोड‍ियम, 17 mg, 2.1 g डायट्री फाइबर, 22.86 g कॉर्ब्स, 4.29 g प्रोटीन पाया जाता है। सेंटर फॉर ड‍िसीज कंट्रोल एंड प्र‍िवेंशन के मुताब‍िक डायब‍िटीज के मरीजों को अपनी आधी कैलोरीज कॉर्ब्स से लेनी चाह‍िए पर कॉर्ब्स की मात्रा बहुत ज्‍यादा नहीं होनी चाह‍िए, एक बैलेंस लेकर चलना है। क्‍व‍िनोआ में सफेद चावल से कम कॉर्ब्स पाया जाता है इसल‍िए डायब‍िटीज में कॉर्ब्स कंट्रोल करना हो तो क्‍विनोआ खा सकते हैं। इसके अलावा क्‍व‍िनोआ में डायट्री फाइबर की मात्रा भी पाई जाती है, डायट्री फाइबर से ब्‍लड शुगर कंट्रोल होती है। ये सफेद चावल से ज्‍यादा अच्‍छा ऑप्‍शन है। सफेद चावल में फाइबर की मात्रा शून्‍य होती है। 

इसे भी पढ़ें- Benefits Of Black Quinoa: इन 5 कारणों आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है ब्लैक क्विनोआ

डायब‍िटीज में कौनसा अनाज खाना चाह‍िए? (Healthy grain options for diabetes)

quinoa benefits

एक हेल्‍दी डाइट की बात करें तो उसमें होल ग्रेन होना चाह‍िए और र‍िफाइंड ग्रेन की मात्रा कम होनी चाह‍िए। इसके अलावा अनाज में फोल‍िक एस‍िड होना चाह‍िए। लोगों को अनाज खरीदते समय इस बात का भी ध्‍यान रखना चाह‍िए क‍ि उसमें एक्‍स्‍ट्रा शुगर, सैचुरेटेड फैट, सोड‍ियम की मात्रा क‍ितनी है नहीं तो डायबि‍टीज कंट्रोल नहीं होगी। आप डायब‍िटीज में बार्ले, ब्राउन राइस, मिलेट, ओट्स, पॉपकोर्न, होल-वीट ब्रेड या रोटी का सेवन कर सकते हैं।

डायबि‍टीज के दौरान कौनसा अनाज नहीं खाना चाह‍िए? (Avoid certain grains in diabetes)

अगर आपको डायब‍िटीज है तो आपको वाइट ब्रेड, र‍िफाइंड स‍िर‍ियल, क्रैकर्स, पास्‍ता, सफेद चावल जैसी चीजें नहीं खानी चाह‍िए। डायब‍िटीज मरीजों के ल‍िए होल-वीट ग्रेन एक हेल्‍दी ऑप्‍शन है जैसे क्‍व‍िनोआ। इसमें व‍िटाम‍िन और म‍िनरल की अच्‍छी मात्रा पाई जाती है। क्‍व‍िनोआ को मीठी और नमकीन दोनों ड‍िशेज में यूज क‍िया जाता है। 

इसे भी पढ़ें- Health Benefits Of Quinoa Flour: वजन घटाने से लेकर त्‍वचा और बालों के लिए भी फायदेमंद है क्विनोआ का आटा

क्‍व‍िनोआ खाने के फायदे (Health benefits of eating Quinoa)

quinoa for weight loss

  • 1. क्‍व‍िनोआ खाने से डायब‍िटीज कंट्रोल रहती है, ये शरीर में शुगर की मात्रा को न‍ियंत्र‍ित करता है इसल‍िए आप इसे डायब‍िटीज मरीज की डाइट में शाम‍िल कर सकते हैं।
  • 2. क्‍व‍िनोआ के सेवन से पाचन तंत्र अच्‍छा रहता है, इसको खाने से पेट में जलन, दर्द, एस‍िड‍िटी आद‍ि समस्‍याएं नहीं होती क्‍योंक‍ि इसमें फाइबर की अच्‍छी मात्रा होती है। कब्‍ज की श‍िकायत है तो क्‍व‍िनोआ से बनी रेस‍िपीज ट्राय करें। 
  • 3. क्‍व‍िनोआ के इस्‍तेमाल से प‍िगमेंटेशन और त्‍वचा से जुड़ी समस्‍याएं नहीं होती हैं। इसमें मौजूद व‍िटाम‍िन बी3 से एक्‍ने की समस्‍या नहीं होती। स्‍क‍िन हेल्‍थ के ल‍िए क्‍व‍िनोआ अच्‍छा माना जाता है।  
  • 4. क्‍विनोआ हड्ड‍ियों के ल‍िए अच्‍छा होता है क्‍योंक‍ि इसमें मैग्‍न‍िश‍ियम और कैल्‍श‍ियम पाया जाता है, इसके सेवन से ऑस्‍ट‍ियोपोरोस‍िस जैसी बीमारी का खतरा भी कम हो जाता है। ज‍िन लोगों को गठ‍िया रोग है उन्‍हें क्‍व‍िनोआ का सेवन करना चाह‍िए। 
  • 5. क्‍व‍िनोआ कैंसर के जोख‍िम को भी कम करता है। कई शोध में र‍िसर्चर्स ने इस बात की पुष्‍ट‍ि की है। 
  • 6. क्‍विनोआ में सैपोनीन पाया जाता है, अगर क‍िसी को सूजन की श‍िकायत है तो उसे ठीक करने के ल‍िए क्‍व‍िनोआ का सेवन कर सकते हैं। अगर चेहरे या क‍िसी अन्‍य बॉडी पॉर्ट में सूजन है तो क्‍व‍िनोआ को डाइट में शामिल करें। 
  • 7. क्‍व‍िनोआ के सेवन से शरीर में बैड कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा कम हो जाती है, इसल‍िए आप इसे बेझ‍िझ‍क अपनी डाइट में शाम‍िल कर सकते हैं। जो लोग वजन कम कर रहे हैं उन्‍हें क्‍व‍िनोआ को डाइट में जरूर शाम‍िल करना चाह‍िए। 
  • 8. क्‍व‍िनोआ एक तरह का अनाज है ज‍िसमें अम‍ीनो एस‍िड पाया जाता है, इसमें मौजूद प्रोटीन की अच्‍छी मात्रा से बॉडी के ट‍िशू र‍िपेयर होते हैं। आप चाहें तो इसे दूध के साथ दलिए के फॉर्म में ले सकते हैं।  
  • 9. क्‍व‍िनोआ में लगभग 3 म‍िलीग्राम आयरन की मात्रा होती है जो शरीर में खून की कमी को पूरा करता है इसल‍िए जि‍न लोगों को एनीम‍िया है वो क्‍व‍िनोआ को जरूर खाएं। 

अगर आपको डायब‍िटीज है या आप हेल्‍दी फूड तलाश रहे हैं तो क्‍व‍िनोआ को अलग-अलग रेस‍िपीज में ट्राय करें, आप इसे लंच, ब्रेकफास्‍ट और ड‍िनर तीनों में शाम‍िल कर सकते हैं। अगर आपको कोई एलर्जी या बीमारी है तो पहले अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें तभी डाइट बदलें या नई चीज उसमें शाम‍िल करें।  

Read more on Healthy Diet in Hindi 

Disclaimer