निप्पल पियर्सिंग के बाद इंफेक्शन के इलाज लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

फैशन और स्टाइल के चलते लोग निप्पल पियर्सिंग कराते हैं, निप्पल पियर्सिंग के बाद इंफेक्शन की समस्या के इलाज के लिए आप इन घरेलू नुस्खों को अपना सकते हैं।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 15, 2021Updated at: Jul 15, 2021
निप्पल पियर्सिंग के बाद इंफेक्शन के इलाज लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

आज के दौर में फैशन और स्टाइल के लिए लोग तरह-तरह के काम करते हैं। भारत में तो प्राचीन काल से ही कान और नाक छिदवाने की परंपरा रही है। हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार महिलाएं अपना कान और नाक छिदवाती हैं। लेकिन आजकल के फैशन में लोग निप्पल पियर्सिंग भी कराते हैं। चाहे महिला हो या पुरुष निप्पल पियर्सिंग दोनों में होता है। वेस्टर्न देशों में इसका चलन जोरों पर है। हालांकि निप्पल पियर्सिंग की प्रक्रिया थोड़ी जटिल होती है। कई बार निप्पल पियर्सिंग के बाद लोगों को इंफेक्शन हो जाता है। चूंकि निप्पल के आसपास की स्किन बेहद संवेदनशील होती है और पियर्सिंग के बाद इसकी सही तरीके से देखभाल न करने की वजह से इंफेक्शन का खतरा होता है। निप्पल पियर्सिंग के बाद होने वाले इंफेक्शन को नजरअंदाज करना भारी पड़ सकता है। कई बार इसकी वजह से लोगों को गंभीर समस्याएं भी हो जाती हैं। अगर आपने भी निप्पल पियर्सिंग कराई है और इसकी वजह से इंफेक्शन की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप कुछ घरेलू नुस्खों की सहायता से इसका घर पर इलाज कर सकते हैं। आइये जानते हैं इन घरेलू नुस्खों के बारे में।

निप्पल पियर्सिंग की वजह से होने वाले इंफेक्शन के कारण (What Causes Infection after Nipple Piercing)

Home-Remedies-to-Cure-Infected-Nipple-Piercing

निप्पल के आसपास की स्किन बेहद संवेदनशील होती है। इस स्थान पर पियर्सिंग की वजह से अक्सर कई बार समस्याएं हो जाती हैं। चूंकि संवेदनशील त्वचा के आसपास पियर्सिंग की वजह से बैक्टीरिया नाजुक ऊतकों तक पहुंच जाता है जिसकी वजह से संक्रमण और तेजी से बढ़ जाता है। इसके अलावा पियर्सिंग के बाद इसकी ठीक ढंग से देखभाल न हो पाने के कारण भी संक्रमण फैलता है। कई बार तंग कपड़े, गीलापन आदि की वजह से भी संक्रमण हो जाता है।

निप्पल पियर्सिंग के बाद होने वाले इंफेक्शन के लक्षण (Nipple Piercing Infection Symptoms)

निप्पल पियर्सिंग के बाद लोगों को दो तरह की समस्याएं झेलनी पड़ सकती हैं, पहला इरीटेटेड पियर्सिंग और दूसरा पियर्सिंग इंफेक्शन। पियारिसंग के बाद निप्पल के आसपास की स्किन लाल रंग की हो जाती है। इसके बाद शुरुआत में इरीटेटेड पियर्सिंग की समस्या होती है। यह समस्या अधिक दिनों तक बनी रहे तो इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। कान छिदवाने के बाद होने वाले संक्रमण की तरह निप्पल पियर्सिंग का संक्रमण भी होता है। इस समस्या में निप्पल में सूजन के साथ-साथ खुजली और मवाद की समस्या भी हो सकती है। जलन और सूजन के साथ निप्पल के आसपास दर्द भी निप्पल पियर्सिंग का लक्षण माना जाता है। निप्पल पियर्सिंग के बाद होने वाले इंफेक्शन की समस्या में दिखने वाले लक्षण इस प्रकार से हैं।

Home-Remedies-to-Cure-Infected-Nipple-Piercing

निप्पल पियारिंग के बाद इंफेक्शन के घरेलू उपचार (Home Remedies to Cure Infected Nipple Piercing)

आप निप्पल पियर्सिंग के बाद होने वाले संक्रमण का इलाज घर पर खुद से भी कर सकते हैं। पियर्सिंग के बाद आमतौर पर सामान्य संक्रमण की समस्या होती है जिसका खुद से इलाज किया जा सकता है। लेकिन अगर यह समस्या गंभीर हो और आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हो तो ऐसे में इसके इलाज के लिए किसी एक्सपर्ट चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए। निप्पल पियर्सिंग के बाद संक्रमण की समस्या को अनदेखा नहीं करना चाहिए। इसके लक्षण दिखने पर तुरंत इलाज करना फायदेमंद होता है। आइये जानते हैं निप्पल पियर्सिंग की वजह से होने वाले संक्रमण का घरेलू इलाज।

इसे भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान क्यों डार्क हो जाते हैं निप्पल? जानें आपकी त्वचा को कैसे प्रभावित करती है गर्भावस्था

1. गर्म चीज से या नमक से सिंकाई करना (Warm Compress or Sea Salt Soak)

निप्पल पियर्सिंग के बाद सामान्य संक्रमण होने की स्थिति में गर्म चीज से सिंकाई करने से फायदा मिलता है। अगर संक्रमण के लक्षण सामान्य है तो आप समुद्री नमक की सहायता से सिंकाई करें। इसे इन्फेक्शन की वजह से होने वाले दर्द और सूजन में फायदा मिलता है। निप्पल पियर्सिंग के बाद हल्की सूजन और दर्द के लिए आप वाटर पैक से सिंकाई कर सकते हैं या समुद्री नमक को हल्का गर्म करके इंफेक्शन वाली जगह पर सिंकाई करें। समुदी नमक का इस्तेमाल करने से इंफेक्शन जल्दी ठीक होता है और सूजन व दर्द से राहत मिलती है।

इसे भी पढ़ें : निप्पल में होने वाली खुजली और लाल निशान कहीं 'निप्पल डर्मेटाइटिस' का संकेत तो नहीं? जानें इसके लक्षण

Home-Remedies-to-Cure-Infected-Nipple-Piercing

2. सही तरीके से इंफेक्शन वाली जगह की सफाई (How to Clean Infected Nipples?)

पियर्सिंग के बाद संक्रमण होने की स्थिति में निप्पल के आसपास की जगह की सही ढंग से साफ-सफाई बहुत जरूरी होती है। इंफेक्शन वाली जगह को छूने से पहले अपने हाथो को अच्छी तरह से साफ करें। हाथों को गर्म पानी और एंटीमाइक्रोबियल क्लींजर से धोना सुरक्षित होता है। इसके बाद क्रस्टी लेयर को हटाने के लिए निप्पल को हल्के गर्म पानी से धुलें। इसके बाद क्रस्टी लेयर को हटाने के लिए क्यू-टिप का इस्तेमाल करें। इसे हटाने के बाद निप्पल को भी अच्छी तरह से साफ करें और सूखने के बाद ही कपड़े पहने।

इसे भी पढ़ें : पुरुषों के निप्पल में उभार आने (Puffy Nipples) के कारण और इलाज

3. नीम की पत्तियों से दूर करें इंफेक्शन (Neem Leaves to Cure Nipple Infection)

नीम के पत्तों का इस्तेमाल किसी भी प्रकार के इंफेक्शन को दूर करने के लिए फायदेमंद होता है। निप्पल पियर्सिंग के बाद इंफेक्शन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप नीम के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप सबसे पहले नीम के साफ और ताजे पत्तों का पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट को इंफेक्शन वाली जगह पर लगाएं। कुछ देर तक इस पेस्ट को उस जगह पर लगे रहने दें और उसके बाद साफ पानी से धो लें। ऐसा दिन में कम से कम दो बार करने से निप्पल इंफेक्शन की समस्या में फायदा मिलता है।

निप्पल पियर्सिंग के बाद इंफेक्शन से बचाव के टिप्स (Tips to Avoid Infection after Nipple Piercing)

  • निप्पल पियर्सिंग कराने के बाद उस जगह की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें।
  • पियर्सिंग के बाद कुछ दिनों तक इंफेक्शन से बचने के लिए टाइट कपड़े न पहने।
  • नहाने के लिए एंटीमाइक्रोबियल साबुन का इस्तेमाल करें।
  • अल्कोहल और केमिकल युक्त प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से बचें।
  • पियर्सिंग के बाद निप्पल को हाथों से छूने से बचें।
  • संतुलित आहार लें और खूब पानी पिएं।

किसी भी तरह की पियर्सिंग के बाद उसका उचित ढंग से देखभाल किया जाना जरूरी होता है। अगर आपको पियर्सिंग के बाद इंफेक्शन के लक्षण दिखते हैं तो ऊपर बताये गए घरेलू उपचार का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन अगर ये लक्षण गंभीर हैं तो किसी एक्सपर्ट चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer