ज्यादा खाना और फिर वजन घटाने के लिए भूखे रखना, उल्टी करना जैसे लक्षण हैं बुलिमिया ईटिंग डिसऑर्डर का संकेत

बुल‍िम‍िया एक ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर है ज‍िसमें व्‍यक्‍त‍ि खाना खाकर जानबूझकर उल्‍टी करता है और वो वजन घटाने के ल‍िए भूखा भी रह सकता है

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Apr 14, 2021 18:08 IST
ज्यादा खाना और फिर वजन घटाने के लिए भूखे रखना, उल्टी करना जैसे लक्षण हैं बुलिमिया ईटिंग डिसऑर्डर का संकेत

इन द‍िनों लोगों पर वजन कम करने का जुनून सवार है। ज्‍यादातर लोग वर्क फ्रॉम होम के दौरान वजन कम लेना चाहते हैं पर क्‍या आप जानते हैं वजन कम करने का जुनून और सनक में क्‍या फर्क होता है? वजन कम करने वाला व्‍यक्‍त‍ि डाइट और कसरत के जरिए वजन कम करता है पर ऐसे लोग ज‍िन्‍हें ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर है वो वजन कम करने के ल‍िए अपने शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। ऐसा ही एक ड‍िसऑर्डर है बुल‍िम‍िया। ज‍िन लोगों को बुल‍िमिया होता है वो वजन कम करने के ल‍िए न सिर्फ खुद को भूखा रखते हैं बल्‍क‍ि कुछ केस में लोग खाना खाकर उसे उल्‍टी करके  जानबूझकर अपने शरीर से बाहर भी न‍िकाल लेते हैं। बुल‍िम‍िया से पीड़‍ित व्‍यक्‍त‍ि के मन में कई सवाल चलते हैं जैसे ऐसा तो नहीं क‍ि मैं कम आकर्षक हूं? कहीं ऐसा तो नहीं क‍ि मैं मोटा लग रहा हूं या लग रहीं हूं? इन सवालों से परेशान व्‍यक्‍त‍ि वजन कम करने के ल‍िए कोई भी कदम उठाने को तैयार हो जाता है। अगर आपके आसपास ऐसा कोई व्‍यक्‍त‍ि है तो उसकी काउंसल‍िंग करवाएं। ऐसे मरीजों को जल्‍द से जल्‍द ट्रीटमेंट की जरूरत होती है। ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के बोधिट्री इंडिया सेंटर की काउन्‍सलिंग साइकोलॉज‍िस्‍ट डॉ नेहा आनंद से बात की। 

what is bulimia

बुल‍िमि‍या क्‍या है? (What is Bulimia)

बुल‍िम‍िया एक तरह का ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर है ज‍िसमें व्‍यक्‍त‍ि को हर समय वजन घटाने की धुन सवार होती है। वो वजन बढ़ने के डर से भूखा रहता है और वजन कम करने के ल‍िए खाया हुआ खाना भी उल्‍टी करके जानबूझकर बाहर न‍िकाल देता है। ऐसे व्‍यक्‍तियों को साइकोलॉज‍िकल हेल्‍प की जरूरत होती है, ये ड‍िसऑर्डर क‍िसी बड़े से लेकर छोटे तक को हो जाता है। 

इसे भी पढ़ें- Phobia Diseases: क्या है डर (फोबिया) के 10 लक्षण? जानें इसके कारण और बचाव भी

बुल‍िमि‍या के लक्षण क्‍या होते हैं? (Symptoms of Bulimia)

symptoms of bulimia

  • 1. बुल‍िम‍िया होने पर शरीर में कमजोरी लगती है क्‍योंक‍ि व्‍यक्‍त‍ि खाना कम कर देता है। 
  • 2. हर समय थकान लगती है, क‍िसी काम में मन न लगना भी इसके लक्षण हैं। 
  • 3. बुल‍िम‍िया होने पर बाल तेजी से झड़ने लगते हैं। 
  • 4. ये ईट‍िंग ड‍िसऑर्डर होने पर नाखून कमजोर पड़ने लगते हैं। 
  • 5. स्‍क‍िन ढीली और बेजान पड़ जाती है। 
  • 6. दांतों में सड़न और बदबू आना भी बुल‍िमि‍या के लक्षण हैं। 
  • 7. ज्‍यादा कमजोरी के चलते व्‍यक्त‍ि को हॉर्ट की बीमारी हो सकती है। 
  • 8. पीर‍ियड्स अन‍ियम‍ित होना भी बुल‍िमि‍या का लक्षण है। 
  • 9. जब व्‍यक्‍त‍ि जानबूझकर खाना खाकर उल्‍टी करना चाहे।

इसे भी पढ़ें- गर्मी की धूप से चेहरे पर हो सकते हैं बटरफ्लाई स्पॉट, जानें क्या है ये और कैसे पाएं इससे छुटकारा

बुल‍िम‍िया का इलाज क्‍या है? (Bulimia treatment)

बुल‍िम‍िया होने पर कई टेस्‍ट क‍िए जाते हैं ताक‍ि ट्रीटमेंट शुरू क‍िया जा सके। ब्‍लड टेस्‍ट और यूरीन टेस्‍ट होता है। इसके अलावा साइकोलॉज‍िकल टेस्‍ट भी क‍िए जाते हैं। क्‍योंक‍ि ये एक साइकोलॉज‍िकल ड‍िसऑर्डर है इसल‍िए इसमें फैम‍िली सपोर्ट बहुत जरूरी होता है। साइकोलॉज‍िकल टेस्‍ट में बॉडी टाइप और वजन भी चेक क‍िया जाता है। बुल‍िम‍िया होने पर काउंसल‍िंग क‍ी जाती है। साइकोलॉज‍िकल काउंसल‍िंग में कॉग्‍नेट‍िव ब‍िहेवर‍ियल थैरेपी दी जाती है ज‍िससे ईटिंग पैटर्न ठीक होते हैं। नेगेट‍िव फील‍िंग्‍स को इंसान के अंदर से दूर क‍िया जाता है। उसकी अनहेल्‍दी आदतों का पता लगाया जाता है। इसके अलावा काउंसल‍िंग में फैम‍िली की मदद ली जाती है। कई बच्‍चों को ये ड‍िसऑर्डर हो जाता है तो काउंसलिंग में उनके पैरेंट्स को शाम‍िल क‍िया जाता है। इसे फैम‍िली बेस्‍ड ट्रीटमेंट कहते हैं। इसके अलावा इंटरपर्सनल साइकोथैरेपी दी जाती है ज‍िसमें करीबी र‍िश्‍तों पर या संचार बढ़ाने की कोश‍िश की जाती है ताक‍ि मरीज सहज महसूस करे और अपनी बात खुलकर बोल सके। 

अगर आप ऐसे क‍िसी व्‍यक्‍त‍ि को जानते हैं ज‍िसे बुल‍िमि‍या है तो उसकी मनोदशा को समझने की कोश‍िश करें। इस समय मरीज को पर‍िवार की सहानुभूत‍ि और प्‍यार की सबसे ज्‍यादा जरूरत होती है। ऐसे व्‍यक्‍ति को तुरंत साइकोलॉज‍िस्‍ट के पास लेकर जाना चाह‍िए।

Read more on Other Diseases in Hindi 

Disclaimer