Morning Constipation: जानिए किन गलत 10 आदतों की वजह से होती है कब्ज की समस्या

सुबह उठने के बाद पॉटी न आना (morning constipation) एक बड़ी समस्‍या है। इसके चलते लोग सुस्‍त और आलस्‍य का शिकार हो जाते है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiUpdated at: Jun 07, 2020 14:52 IST
Morning Constipation: जानिए किन गलत 10 आदतों की वजह से होती है कब्ज की समस्या

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

आमतौर पर सुबह उठने के कुछ मिनट बाद ही लोग शौच के लिए जाते हैं। इसके बाद ही अपने दिन की शुरूआत करते हैं। मगर तमाम लोग ऐसे भी हैं जो सुबह उठते ही चाय या कॉफी या फिर बीड़ी या सिगरेट की तलाश करते हैं ताकि वे आसानी से पॉटी कर सकें। हालांकि, इन प्रयासों के बाद भी वह सुबह-सुबह ठीक तरह से फ्रेश नहीं हो पाते हैं जो की मॉर्निंग कान्स्टीपेशन (morning constipation) कहलता है। सुबह फ्रेश होने के लिए कई लोग रात में चूरन भी फांकते हैं और दवाईयां या सिरप की मदद लेते हैं। फिर भी स्थिति में कोई खास सुधार देखने को नहीं मिलता है।

दरअसल, इस समस्‍या की सबसे बड़ी वजह है कब्‍ज या गैस। जिसे हम अंग्रेजी में कांस्‍टीपेशन भी कहते हैं। और इस कब्‍ज की वजह आपकी खराब जीवनशैली है, जिसके बारे में यहां हम आपको विस्‍तार से बता रहे हैं। साथ ही हम आपको इससे बचने के उपायों के बारे में बताएंगे।

सुबह-सुबह फ्रेश न होने का कारण क्‍या है? (Causes of morning constipation)

सुबह सोकर उठने के बाद पॉटी न आने के कई कारण हो सकते हैं। जानिए इसके बारे में विस्‍तार से...

insomnia

1. देर रात तक जागना

देर रात तक मोबाइल चलाना लोगों के जागने का सबसे बड़ा कारण है। जब आप देर रात तक जागते हैं तो आपका शरीर आराम नहीं कर पाता है। इससे आपकी पाचन क्रिया सुस्‍त पड़ जाती है। देर रात तक जागने से आपका बॉडी क्‍लॉक बिगड़ जाता है। इन कारणों की वजह से सुबह फ्रेश होने में आपको दिक्‍कत होती है।

2. धूम्रपान करना 

आजकल युवाओं और वयस्‍कों में धूम्रपान एक बड़ी समस्‍या है। सिगरेट और तम्‍बाकू का सेवन न सिर्फ आपके फेफड़ों और हृदय को नुकसान पहुचाते हैं बल्कि यह आपकी पाचन प्रणाली को पूरी तरह से ध्‍वस्‍त कर देते हैं। जिसका असर आपके संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ता है।  

3. एक्‍सरसाइज न करना 

सुबह उठने के बाद आप थोड़ी ही देर एक्‍सरसाइज करें मगर जरूर करना चाहिए। सुबह ब्रश करने के बाद वॉकिंग, जॉगिंग, स्‍ट्रेचिंग और योग-प्राणायाम जरूर करने चाहिए। इससे न सिर्फ आप पूरे दिन एक्टिव रहते हैं बल्कि आपकी पाचन क्रिया मजबूत होती है। रात को अच्‍छी नींद भी आती है।

exercise-tips

4. पानी कम पीना

हमारे शरीर के लिए सबसे ज्‍यादा जरूरी जल है। जब आप पानी पीते हैं तो इससे आपकी बॉडी हाइड्रेट रहती है साथ ही शरीर की सारी क्रियाएं होती रहती हैं। पानी कम पीने से स्‍टूल हार्ड हो जाता है, यह आपकी आंतों में चिपक जाता है। इससे बवासीर, कब्‍ज होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए सुबह उठकर दो ग्‍लास गुनगुना पानी जरूर पीएं। इससे आपकी आंतें साफ हो जाएंगी। इनके अलावा दिनभर पर्याप्‍त मात्रा में पानी पीएं।

5. तनाव लेना 

जीवनशैली में हो रहे बदलावों की वजह से तनाव एक प्रमुख मुद्दा बन गया है। तनाव न सिर्फ एक मानसिक समस्‍या है बल्कि इससे शरीर की कार्य प्रणाली भी प्रभावित होती है। जो कब्‍ज का कारण बनता है। कब्‍ज ज्‍यादा बनने के कारण ही सुबह फ्रेश होने में समस्‍या का सामना करना पड़ता है।

6. भोजन में फलों और सब्जियों का आभाव

हमारा भोजन ही स्‍वस्‍थ शरीर का आधार है। आहार में फलों और सब्जियों को शामिल करने से आप कई प्रकार के रोगों से बच जाते हैं। इसमें मौजूद प्रोटीन, विटामिन, मिनरल और फाइबर जैसे पोषक तत्‍व शरीर को मजबूती प्रदान करते हैं साथ ही यह आंतों को भी स्‍वस्‍थ रखते हैं।

diet

7. सुबह ब्रेकफास्‍ट न करना

आमतौर पर लोग सुबह अच्‍छा भोजन नहीं करते हैं। सुबह के नाश्‍ते में चाय, ब्रेड या बिस्किट ही उनका नाश्‍ता होता है। जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए। सुबह का नाश्‍ता हेल्‍दी होना चाहिए। उसमें अंकुरित अनाज, दलिया, सेब, नट्स या आप रोटी सब्‍जी भी खा सकते हैं। नाश्‍ता सुबह 8 से 9 बजे के बीच करें। लंच 12 से 2 बजे तक और डिनर शाम 7 बजे तक करें।

8. कोल्‍ड ड्रिंक्‍स या मीठे पेय का अत्‍यधिक सेवन 

कुछ लोग प्‍यास लगने पर पानी पीने के बजाए कोल्‍ड ड्रिंक्‍स, पैकेट बंद जूस आदि का सेवन करते हैं। दरअसल, ये पेय पदार्थ कैलोरी में ज्‍यादा होते हैं साथ ही यह एसिडिटी और कब्‍ज का कारण बनते हैं। ऐसे में प्‍यास लगने पर आप पानी या फ्रेश नींबू पानी पीएं। 

9. फास्‍ट फूड और तली हुई चीजों का ज्‍यादा सेवन

कभी-कभी आप फास्‍ट फूड ले सकते हैं (घर का बना हो तो ज्‍यादा बेहतर है) मगर अधिक मात्रा में इसका सेवन करना आपके पेट की परेशानी को बढ़ा सकता है। फास्‍ट फूड और तली भुनी चीजें कब्‍ज का कारण बनती हैं। यह स्‍टूल को कठोर बनाते हैं। इनके ज्‍यादा सेवन से बवासीर की बीमारी हो सकती है।

10. लंबे समय तक एक ही स्‍थान पर बैठे या लेटे रहना

आमतौर डेस्‍क जॉब वाले और शॉप पर काम करने वालों को बैठकर काम करना पड़ता है। दरअसर, यह कब्‍ज का बहुत बड़ा कारण है। लगातार बैठे रहने का असर हमारी आंतों और पाचन तंत्र पर पड़ता है। अगर आपका लगातार बैठकर काम करना मजबूरी है तो काम करने के दौरान थोड़ी देर के लिए जरूर टहलें।

निष्‍कर्ष

जैसा कि हमने आपको बताया कि सुबह पेट साफ न होने का मुख्‍य कारण कब्‍ज है और इसकी प्रमुख वजहों के बारे में हमने आपको विस्‍तार से बताया है। अगर आप इन आदतों में सुधार करते हैं तो निश्चित रूप से आपको इस समस्‍या का समाधान मिलेगा।

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer