इमली के सेवन से वजन हो सकता है कम, जानें इसके फायदे और नुकसान

कच्ची इमली हो या उसका रस सेहत के लिए बेहद अच्छा है। ऐसे में जानते हैं कि इमली के सेवन के क्या फायदे हैं और क्या नुकसान...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jan 04, 2021Updated at: Jan 05, 2021
इमली के सेवन से वजन हो सकता है कम, जानें इसके फायदे और नुकसान

इमली का स्वाद खट्टा-मीठा होता है। इसके अंदर पाए जाने वाले एंटीसेप्टिक गुण सेहत के लिए बेहद कारगर होते हैं। भारतीय व्यंजनों में चाहे पानी पूरी हो या कोई सब्जी खट्टी मीठी स्वाद के लिए या चटनी बनाने के लिए इमली का प्रयोग किया जाता है। ऐसे में यह जानना बेहद जरूरी है कि इमली किन तरीकों से सेहत को तंदुरुस्त बनाए रख सकता है। बता दें कि इमली के अंदर विटामिन सी, विटामिन ए, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन आदि पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। आज हम इस लेख के माध्यम से आपको बताएंगे इमली के क्या-क्या फायदे हैं और इसके सेवन से क्या नुकसान पहुंच सकता है। पढ़ते हैं आंगे...

tamarind

इमली की तासीर कैसी होती है?

इमली के सेवन से शरीर को ठंडक पहुंचती है। चूंकि इसकी तासीर ठंडी होती है इसीलिए इसका अधिक मात्रा में सेवन करना सेहत के लिए सही नहीं होता है। अगर आप सीमित मात्रा में इसका सेवन करेंगे तो यह सेहत को अनेकों फायदे दिला सकता है।

इमली के फायदे (Tamarind Benefits in Hindi)

बालों की समस्या को रखे दूर( Tamarind for healthy hair)

बता दें कि सिर की त्वचा मे सीबन का उत्पादन होता है, जिसे नियंत्रित करने के लिए इमली एक अच्छा उपाय है। इससे न केवल बालों में मजबूती आती है बल्कि बालों को झड़ने से भी रोकता है। बालों को काला बनाए रखना चाहते हैं तो आप इमली के गूदे में छाछ और जैतून का तेल मिलाएं और पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को बालों पर 5 से 10 मिनट के लिए लगाएं और मालिश करें। फिर 15 मिनट बाद पानी से धो लें। उसके बाद शैंपू कर लें। आपके बाल चमकदार नजर आएंगे।

दिल की सेहत के लिए अच्छा (Tamarind for good heart)

इमली के माध्यम से कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप का स्तर कम हो सकता है। अगर शरीर में अधिक पोटेशियम होगा तो इससे रक्तचाप कम हो सकता है और जैसे कि हमने पहले भी बताया कि इमली के अंदर पोटेशियम पाया जाता है साथ ही इसके अंदर विटामिन सी भी मौजूद है, जिससे मेटाबॉलिज्म और कई हृदय संबंधित समस्याएं कम होती हैं।

इसे भी पढ़ें- खुद को हमेशा रखना चाहते हैं फिट, तो जानें शरीर के हिसाब से कैसे करना चाहिए तैयार डाइट प्लान

त्वचा के संक्रमण को करे दूर (Tamarind for skin problem)

बता दें कि इमली के अंदर भरपूर मात्रा में विटामिन सी और विटामिन बी पाया जाता है। साथ ही इसके अंदर मुहांसों को दूर करने के गुण भी पाए जाते हैं। ऐसे में अगर इमली के रस को हल्दी पाउडर ताजा दही के साथ मिलाया जाए और चेहरे पर लगाया जाए तो यह एक अच्छे पैक का काम करता है। यदि किसी को त्वचा का संक्रमण हो जाए या तो चेहरे पर निशानों से परेशान हैं तो वह इमली के गूदे के साथ हल्दी मिलाएं और चेहरे पर लगाएं। ऐसा करने से त्वचा की डेड कोशिकाएं दूर हो जाएंगी। साथ ही दाग धब्बों से भी छुटकारा मिल जाएगा। 

tamarind

वजन कम करें (Tamarind for weight loss) 

अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो आपको वजन कम करने के लिए आपको अपनी डाइट को नियंत्रित करने की जरूरत नहीं है या रोज जिम जाने की जरूरत नहीं है। आप केवल इमली के माध्यम से अपना वजन कम कर सकते हैं। बता दें कि इमली के अंदर भरपूर मात्रा में हाइड्रोसिल एसिड पाया जाता है। ध्यान दें कि अगर इमली का सेवन नियमित रूप से किया जाए तो इससे भूख कम लगती है। साथ ही यह आपके वजन को भी कम करता है।

पीलिया रोग को करें दूर ( Tamarind for jaundice problem)

किसी इंसान को पीलिया होने का मतलब है कि उसके लिवर में लाल रक्त कोशिकाओं में बिलीरुबिन अधिक मात्रा में पाया जाता है। जिसकी वजह से त्वचा, आंख और मूत्र का रंग पीला हो जाता है। इमली का सेवन किया जाए तो भी बिलीरुबिन के स्तर को नियंत्रित करता है। इमली का पानी, बुखार, सिर दर्द आदि से को दूर रखने में मददगार है।‌ ऐसे में आप इमली के फूल और पत्तियों को अच्छे से उबाले और इसे पिएं। इसके रस से पीलिया रोग में आराम मिलेगा।

इसे भी पढ़ें- क्या है सहजन के तेल के फायदे और नुकसान? जानें क्या है इसको इस्तेमाल करने का तरीका

आंखों के लिए अच्छी (Tamarind for eyes)

इमली के सेवन से आंखों में लाली पन, जलन और आंखों में होने वाले दर्द को दूर किया जा सकता है। ऐसे में इमली के जूस को दूध के साथ मिलाकर आंखों की पलकों पर लगाएं। आराम मिलेगा।

इमली का सेवन किस तरीके से करें

  • भारतीय घरों में डोसा, इडली, सांवर आदि में इमली का पानी इस्तेमाल किया जाता है।
  • इमली जुखाम, गले में दर्द और बुखार की समस्या को दूर कर सकता है। अगर आप ठंड से बचना चाहते हैं तो काली मिर्च का पाउडर इमली के साथ मिलाएं और सेवन करें शरीर को लाभ मिलेगा।
  • आप इमली के साथ खजूर मिलाकर चटनी बनाकर खा सकते हैं।
  • गर्भवती महिलाएं अगर इमली की कैंडी का सेवन करें तो इससे उनकी पाचन क्रिया में सुधार आता है इसके अलावा जी मिचलाना, उल्टी जैसी समस्या भी इसके माध्यम से दूर हो सकती है।

इमली के नुकसान (Tamarind Side Effects in hindi)

  • 1- अगर किसी व्यक्ति को गले में खराश है तो वह ज्यादा मात्रा में इमली का सेवन ना करें। क्योंकि इसके अंदर अम्लीय खाद्य पदार्थ पाया जाता है।
  • 2- ध्यान दें कि इमली के अंदर विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। ऐसे में अगर इसका अधिक सेवन किया जाए तो यह ब्लड में एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ा देता है, जिसके कारण गर्भाशय में संकुचन और बिल्डिंग पैदा हो जाती है।
  • 3- अगर किसी व्यक्ति को इमली से एलर्जी हो तो उसमें चक्कर, बेहोशी, खुजली, सूजन, सांस में तकलीफ आदि लक्षण दिखने लगते हैं।
ये लेख पारस ह़ॉस्पिटल की डाइटीशियन नेहा पठानिया से बातचीत पर आधारित है।
 

Read More Articles on Healthy Diet in hindi

Disclaimer