हॉर्मोनल बदलाव के कारण मुहांसों से हैं परेशान? एक्सपर्ट से जानें इसे कंट्रोल करने के लिए 4 एक्यूप्रेशर पॉइंट्स

एक्यूप्रेशर और रिफ्लेक्सोलॉजी दोनों का मानना है हमारे शरीर में कुछ प्रेशर पॉइंट्स हैं, जिन्हें दबा कर हम एक्ने की परेशानी को कम कर सकते हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Nov 27, 2020Updated at: Nov 27, 2020
हॉर्मोनल बदलाव के कारण मुहांसों से हैं परेशान? एक्सपर्ट से जानें इसे कंट्रोल करने के लिए 4 एक्यूप्रेशर पॉइंट्स

आज कल खराब होती लाइफस्टाइल और डाइट से जुड़ी गड़बड़ियों के कारण लोगों में एक्ने की परेशानी बढ़ रही है। पर अगर बात टीनएज बच्चों और युवाओं की करें, तो होर्मोनल डिसबैलेंस एक्ने का एक बड़ा कारण है। एक्यूप्रेशर त्वचा से जुड़ी इन्हीं समस्याओं (acupressure points for skin problems)जैसे मुंहासे, पिंपल्स और दाग-धब्बों से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। इसलिए एक्ने के लिए कुछ आसान एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स (acupressure points to control acne) के बारे में जानने के लिए हमनें एक्यूप्रेशर हेल्थ केयर सिस्टम, लखनऊ में कार्यरत एक्यूप्रेशर एक्सपर्ट संजय उमरोव (Sanjay Umrao) से बात की। संजय उमरोव (Sanjay Umrao) ने पहले तो जहां एक्ने के कुछ कारणों से बारे में बताया, वहीं उन्होंने हमें 4 एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स भी बताएं, जिसे हम प्रेस करके एक्ने की परेशानी को कम कर सकते हैं।

insideacne

किन लोगों को ज्यादा होती है एक्ने की परेशानी?

क्यूप्रेशर एक्सपर्ट संजय उमरोव (Sanjay Umrao)कहते हैं कि आज कल लोगों की लाइफस्टाइल बहुत खराब हो गई है। लोग गलत वक्त पर खाना खाते और गलत टाइम पर उठते-जागते हैं। पर इनके अलावा ऐसे कुछ अन्य कारण भी हैं, जिसकी वजह से लोगों को लगातार एक्ने होती है। जैसे कि

  • - पैराथाइरॉइड ग्लैंड (parathyroid hormone)की गड़बड़ी के कारण
  • -ऑयली फेस के कारण
  • -ज्यादा मीठा खाने के कारण
  • -स्लीप साइकिल में गड़बड़ी
  • -पीरियड्स के कारण
  • -थायराइड के कारण
  • -शरीर के मैग्नेटिक फील्ड का सही न होना

इसे भी पढ़ें : खाने की क्रेविंग होने पर दबाएं शरीर के ये 5 एक्यूप्रेशर प्वाइंट, वजन घटाने में भी है मददगार

एक्ने की परेशानी के लिए 4 एक्यूप्रेशर पॉइंट्स (4 Acupressure points to control acne)

मुंहासे के लिए कुछ एक्यूप्रेशर पॉइंट्स( acupressure points for pimples)को एक्टिव करने और ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाना बेहद जरूरी बै। ऐसा इसलिए कि एक्यूप्रेशर त्वचा के पोर्स,  चयापचय और ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाते हैं। साथ ही एक्यूप्रेशर की मदद से आप एपिडर्मिस स्किन में नए सेल्स के प्रोडक्शन को उत्तेजित कर सकते हैं, जो कि दाग-धब्बे वाली स्किन को साफ करने में भी मदद करेंगे। इसके लिए आप इन चार प्वाइंट्स पर प्रेशर बनाएं। जैसे कि

insideaccupressureatstomach

1.नाभी के एक्यूप्रेशर पॉइंट्स को दबाएं

 संजय उमरोव बताते हैं कि नाभी का आपके शरीर से काफी गहरा रिश्ता है। रिफ्लेक्सोलॉजी में नाभी देख कर शरीर की बीमारियों को पहचानने की कोशिश की जाती है। नाभी के चारों आर कुछ एक्यूप्रेशर पॉइंट्स होते हैं, जिन्हें दबाने से एंडोक्राइन ग्लैंड को संतुलित रखा जा सकता है।  इसे स्वस्थ रख कर आप हार्मोन्स और पीरियड्स को संतुलित रख सकते हैं। इसके लिए

  • -नाभी के राइट(दाहिने) 1 इंच बगल में प्रेशर पॉइंट को दबाएं।
  • -नाभी के लेफ्ट (बाएं) 1 इंच बगल में प्रेशर पॉइंट को दबाएं।
  • -नाभी के ढेढं इंच ऊपर प्रेशर पॉइंट को दबाएं।
  • -नाभी के  ढेढं इंच नीचे प्रेशर पॉइंट को दबाएं।
insideaccupressurepointsforacne

2.सिर के पीछे 

सिर में पीछे और कान के एक-आध इंच बगल में अंगूठे से दोनों प्वाइंट्स को दबाएं। यह एक तनाव से राहत देने वाला बिंदु है और मुंहासे जैसे त्वचा विकारों का इलाज कर सकता है। इसे आप कई और परेशानियों से निजात पाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। जैसे इसे करने से 

  • -आपका तनाव कम हो जाएगा। 
  • -अनिद्रा और थकावट में कमी आएगी।
  • -आंखों में खिंचाव और गर्दन में अकड़न कम होगी।
  • - सिर में भारीपन और गले में खराश जैसी कई परेशानियों से निजात मिलेगा।
insideaccupressurepoints

इसे भी पढ़ें : बच्चों के लिए कितना फायदेमंद और कितना सही है एक्यूप्रेशर, जानें क्या है डॉक्टरों की राय

3.हाथों में

हार्मोन्स को कंट्रोल करने के लिए हमारे हाथ में कई सारे एक्यूप्रेशर पॉइंट्स होते हैं। इनमें कुछ स्ट्रेस रिलीजिंग प्वाइंट्स भी होते हैं, जो स्ट्रेस को कम करते हैं और ऑयल प्रोडक्शन में कमी लाते हैं। इसे करने के लिए

  • -अपने अंगूठे और हथेली की गद्देदार वाली जगह दबाएं।
  • -फिर तर्जनी और मध्यमा अंगुली के बीच दबाएं।
  • -दोनों कलाइयों के दोनों को साइड्स को प्रेस करें।
insideaccupressure

4.माथे पर

औरतें जहां बिंदी लगाती हैं उस प्वाइंट को दबाने से एक्ने में कमी आ सकती है। इसके लिए  एक अगुंली से अपनी भौंहों के बीच और नाक के सीध पर मिलने वाले प्वाइंट को दबाएं। यह मास्टर एंडोक्राइन ग्लैंड नामक पिट्यूटरी ग्रंथि को उत्तेजित करता है, जो आपके पूरे शरीर में हार्मोन के संतुलन को बेहतर बनाता है और एक्ने में कमी लाता है। साथ ही ये ब्लड सर्कुलेशन को भी बेहतर बनाता है।

तो, एक्ने और त्वचा से जुड़ी परेशानियों को कम करने के लिए आप इन 4  एक्यूप्रेशर पॉइंट्स को दबाएं और स्किन को दाग-धब्बों से बचाएं। साथ ही अपने सोने और जगने की स्थिति को ठीक करें। शरीर में मैग्नेटिक फील्ड को सही करने के लिए रोज रात 9 से 10 के बीच सोएं। सोते समय सिर को पूर्व दिशा में और पैर को पश्चिम दिशा में करके सोएं। सुबह जल्दी उठें और हेल्दी रूटीन फॉलो करें।

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer