घर से बाहर नहीं जा सकते हैं तो कमरे में एक जगह पर खड़े होकर करें जॉगिंग, जानें 'स्टेशनरी जॉगिंग' के फायदे

अगर आप घर से बाहर नहीं जा सकते तो हम आपको बताएंगे स्‍टेशनरी जॉग‍िंग करने का तरीका और फायदे ज‍िसे आप कहीं भी और कभी भी कर सकते हैं 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: May 05, 2021
घर से बाहर नहीं जा सकते हैं तो कमरे में एक जगह पर खड़े होकर करें जॉगिंग, जानें 'स्टेशनरी जॉगिंग' के फायदे

स्‍टेशनरी जॉग‍िंग क्‍या होता है? आज कल ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग स्‍टेशनरी जॉग‍िंग की तरफ मुड़ रहे हैं। इस जॉग‍िंग की ओर लोगों का रुझान बढ़ने का सबसे बड़ा कारण है क‍ि इसे करने के ल‍िए कहीं बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ती। जॉग‍िंग करने के ल‍िए आपको बाहर जाना पड़ता है पर स्‍टेशनरी जॉग‍िंग के ल‍िए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं पड़ेगा और इसके ल‍िए आपको जगह की जरूरत भी नहीं होगी। आप एक ही जगह पर खड़े होकर स्‍टेशनरी जॉग‍िंग कर सकते हैं। अगर आप हर द‍िन स्‍टेशनरी जॉग‍िंग करें और हेल्‍दी डाइट लें तो आप एक महीने में करीब दो क‍िलो वजन घटा सकते हैं। इस कसरत को करने से कई तरह की गंभीर बीमार‍ियां जैसे हार्ट स्‍ट्रोक, कैंसर आद‍ि से भी सुरक्षा म‍िलती है। ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के रवींद्र योगा क्लीनिक के योगा एक्सपर्ट डॉ रवींद्र कुमार श्रीवास्तव से बात की। 

stationary jogging benefits

स्‍टेशनरी जॉगिंग क्‍या होता है? (What is Stationary Jogging)

स्‍टेशनरी का मतलब होता है स्‍थिर। जब मूव करने के बजाय एक ही जगह पर खड़े होकर जॉग‍िंग की जाए तो उसे स्‍टेशनरी जॉग‍िंग कहेंगे। ये जॉग‍िंग उन लोगों के ल‍िए अच्‍छी है जो ज्‍यादातर घर में ही रहना पसंद करते हैं और बाहर धूल और पॉल्‍यूशन के बीच नहीं जाना चाहते। इस जॉग‍िंग को कहीं भी और कभी भी आसानी से कर सकते हैं। आप इसे 10 म‍िनट के ल‍िए चार से पांच बार कर सकते हैं। इस कसरत को करने से पहले आप वॉर्म अप कर सकते हैं। उसके ल‍िए हल्‍के कदमों से स्‍टेशनरी जॉग‍िंग करें फ‍िर धीरे-धीरे रफ्तर बढ़ाएं। खत्‍म करने के ल‍िए स्‍पीड कम करें और कुछ हल्‍की स्‍ट्रेच‍िंग कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- एक्सरसाइज से पहले वार्म अप के लिए पुश अप्स करने से शरीर को मिलते हैं ये 6 फायदे, जानें करने का तरीका भी

स्‍टेशनरी जॉगिंग को करने का तरीका (Method of Stationary Jogging)

stationary jogging

  • 1. अपने राइट हाथ को ऊपर उठाएं और उसी समय लेफ्ट पैर को उठाएं। 
  • 2. आपके घुटने ह‍िप्‍स तक जाएं, इतना ऊपर उठाना है। 
  • 3. फ‍िर जल्‍दी से दूसरे पैर और अपोस‍िट हाथ को उठाएं। 
  • 4.  राइट हाथ को पीछे करें और लेफ्ट हाथ को आगे ले जाएं। 
  • 5. इसी मूवमेंट को आपको र‍िपीट करना है। 

इसे भी पढ़ें- घर पर कर रहे हैं एक्सरसाइज की शुरुआत तो इन 6 बातों का रखें ध्यान, ताकि मिले सही परिणाम

स्‍टेशनरी जॉगिंग के फायदे (Benefits of Stationary Jogging)

  • 1. स्‍टेशनरी जॉग‍िंग एक तरह की कॉर्ड‍ियोवैस्‍कुलर एक्‍सरसाइज है इसल‍िए ये हॉर्ट ड‍िसीज को दूर रखने में मदद करती है। इस जॉगिंग को करने से द‍िल का दौरा, छाती में दर्द आद‍ि समस्‍याएं भी नहीं होतीं। 
  • 2. इस एक्‍सरसाइज का सबसे बड़ा फायेदा है क‍ि इसे आप कभी भी कर सकते हैं और आपको बाहर जाने की जरूरत भी नहीं है, इसे आप घर पर एक जगह खड़े होकर कर सकते हैं। आपको ज्‍यादा जगह की जरूरत या मैट या मशीन की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। 
  • 3. गंभीर बीमार‍ियां हैं तो स्‍टेशनरी जॉग‍िंग जरूर ट्राय करें, इससे आपको फायेदा होगा। अगर आप इस कसरत को रोज करें तो हाई कोलेस्‍ट्रॉल, डायब‍िटीज, कैंसर, ऑस्‍ट‍िओपोरोस‍िस आद‍ि बीमार‍ियों से न‍िजात म‍िल सकता है। आप इसे हफ्ते में 5 द‍िन करें तो इन बीमार‍ियों से बच सकते हैं। 
  • 4. स्‍टेशनरी जॉग‍िंग को करने से मसल्‍स बनती है। कॉर्फ मसल्‍स, क्‍वाड्र‍िसेप्‍स, हैमस्‍ट्रिंग मस्‍लस इस कसरत को करने से टोन्‍ड होती है। अगर आप इस कसरत से और अच्‍छी सेहत चाहते हैं तो आप इसे डंबल्‍स के साथ भी कर सकते हैं। 
  • 5. स्‍टेशनरी जॉग‍िंग करने से आप अपना वजन भी कम कर सकते हैं। अगर आप 30 म‍िनट तक स्‍टेशनरी जॉग‍िंग करें तो करीब 290 कैलोरीज बर्न कर सकते हैं। वहीं एक महीने रोजाना ये कसरत करने से आपका दो कि‍लो वजन घट सकता है। 

अगर आपको इस एक्‍सरसाइज को करने में द‍िक्‍कत हो तो एक्‍सपर्ट की मदद लें, आपको कोई बीमारी है तो डॉक्‍टर की सलाह पर ही इस एक्‍सरसाइज को करें। शुरूआत में कुछ म‍िनट करके देखें, सूट करें तो समय बढ़ाएं। 

Read more on Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer