एक्सरसाइज से पहले वार्म अप के लिए पुश अप्स करने से शरीर को मिलते हैं ये 6 फायदे, जानें करने का तरीका भी

बॉडी का लचीलापन बरकरार रखना चाहते हैं तो एक्सरसाइज से पहले वार्म अप के लिए पुश अप्स करें। यहां जानें इससे होने वाले फायदों के बारे में।

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Apr 28, 2021Updated at: Apr 28, 2021
एक्सरसाइज से पहले वार्म अप के लिए पुश अप्स करने से शरीर को मिलते हैं ये 6 फायदे, जानें करने का तरीका भी

शरीर को चुस्त दुरुस्त रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम (Regular Exercise) करना बहुत आवश्यक है। बिना किसी शारीरिक गतिविधी में शामिल होकर खुद को स्वस्थ रख पाना बेहद मुश्किल है। ऐसे में व्यायाम ही है, जो आपके शरीर के प्रतयेक हिस्से को न सिर्फ लचीला बनाता है बल्कि शरीर में मेटाबॉलिज्म के स्तर (Metabolism Level) में सुधार करने से लेकर खून बढ़ाने में भी मदद करता है। लेकिन व्यायाम करने का भी सही तरीका होता है। व्यायाम से पहले वॉर्म अप करना जरूरी है ताकि शरीर में लचीलापन (Flexibility) बना रहे। वॉर्म अप करना व्यायाम का ही हिस्सा है। एक्सरसाइज करने से पहले वार्म अप करने से आपके कार्टिलेडज और मसल्स में खून (Blood Flow in Muscle) के बहाव को बढ़ाता है। वार्म अप करने से आपकी मसल्स एक्टिव हो जाती हैं और मांसपेशियों में खिंचाव आने का खतरा कम हो जाता है।

अब वार्म अप कई तरीके से कर सकते हैं जैसे कार्डियो एक्सरसाइज (Cardio Exercise), डायनेमिक वार्म अप, स्क्वैट, प्लैंक आदि कर सकते हैं। लेकिन वार्म अप के तौर पर यदि पुश अप्स लगाए जाएं तो इससे आपकी बॉडी को एक्सरसाइज करने के लिए काफी उर्जा मिलती है। इस दौरान आपका ब्लड सर्कुलेशन (Blood Circulation) भी सुचारू रूप से होता है। फैट बर्निंग एक्सरसाइज (Fat Burning Exercise) मानी जाने वाले पुश अप्स आपके बढ़ते वजन को भी नियंत्रित करने में मदद करते हैं। जिम में एक्सरसाइज करने से पहले फिटनेस ट्रेनर हमेशा पुश अप्स करने की सलाह देते हैं। यदि आप भी लीन बॉडी पाने की चाह रखते हैं तो एक्सरसाइज से पहले पुशअप्स जरूर लगाएं। आइये जानते हैं वार्म अप के तौर पर पुश अप्स लगाने के फायदे। 

pushups

क्या है पुश अप्स (What is Push Ups)

बॉडी को जमीन के सामांतर आकार सीध में रखकर की जाने वाली एक एक्सरसाइज है, जिसे फ्री स्टाइल और फैट बर्निंग एक्सरसाइज के नाम से भी जाना जाता है। यह एक्सरसाइज आपके कंधों को मजबूत बनाने के साथ ट्राइसेप्स का बेहतर आकार भी देती है। यह कई प्रकार से की जाती है, जैसे डिक्लिन पुश अप्स, नैरो पुश अप्स और स्टैंडर्ड पुश अप्स (Standard Push Ups) आदि । वार्म अप के तौर पर पुश अप लगाने से आपकी मांसपेशियों की सहनशीलता बढ़ती है। साथ ही मांसपेशियों में खिंचाव भी नहीं आता है। जिम में या फिर एक्सरसाइज करने से पहले कुछ पुश अप्स लगा लेने से आपकी शरीर में रक्त का संचार तेज गति से होने लगता है और इस दौरान शरीर में उर्जा का संचार होता है, जो आपको लंबे समय तक एक्सरसाइज करने की क्षमता देता है। यह एक ऐसी एक्सरसाइज है, जिसे बिना जिम के उपकरणों के ही की जा सकती है। 

इसे भी पढ़ें - गठीली बॉडी की चाह है तो जिम जाने से पहले इन 7 चीजों को खाकर करें वर्कआउट की शुरूआत

पुश अप्स लगाने के फायदे (Benefits of Push Ups)

1. मांसपेशियों में मजबूती आती है (Muscle Get Strength)

मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिहाज से पुश अप को काफी कारगर माना जाता है। वार्म अप के तौर पर इसे करने से आपकी मांसपेशियों में खिंचाव आने की संभावना काफी कम हो जाती है। इसे करने से न सिर्फ  आपकी बल्कि कंधों और भुजाओं में भी बल और मजबूती आती है। इसे करने के दौरान आपके हाथों पर अधिक बल आता है, जिससे हाथों की मांसपेशियां ज्यादा मजबूत होती हैं। पुश अप्स के साथ एक्सरसाइज की शुरूआत करने पर बॉडी में चोट लगने की आशंका भी कम हो जाती है। 

backpain

2. लोअर बैक पेन दूर होता है ( Get Relief from Lower Back Pain)

पुश अप्स आपके निचले हिस्से को मजबूत बनाने में भी कारगर है। एक शोध के अनुसार पुश अप करने से मांसपेशियों में मजबूती आने के साथ ही कमर के निचले हिस्से की जकड़न और दर्द दूर होता है। नियमित रूप से पुश अप करने से कमर की पुरानी जकड़न भी दूर हो जाती है। यह स्पॉंडिलाइटिस से ग्रस्त व्यक्तियों के लिए भी फायदेमंद है। लेकिन आप पहले से ही स्पाइन या फिर किसी हड्डियों से जुड़ी समस्या से जूझ रहे हैं तो इसे न करें। 

heartproblem

3. कार्डियक डिजीज से बचाव  (Prevention From Cardiac Disease)

कार्डियक डिजीज यानि दिल से संबंधित बीमारियां। रोजाना 15 से 20 पुश अप्स करने से आपको दिल की बीमारियां होने की संभावना कम हो जाती है। एक शोध में यह सामने आया कि दिन भर में 40 या उससे उपर पुश अप लगाए जाने पर 96 प्रतिशत तक दिल की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। इस एक्सरसाइज के दौरान हृदय को टिशु तक ऑक्सीजन पहुंचने में अधिक बल लगता है, जो आपके दिल को स्वस्थ बनाता है। हृदय रोगों से बचने के लिए यह बेहद कारगर है। 

4. लचीलापन आता है और स्ट्रैंथ बढ़ती है (Increases Flexibility and Strength)

स्टैमिना बढ़ाने के लिए वार्म अप के तौर पर पुश अप्स लगाना आपका स्टैमिना बढ़ाता है। 15 से 20 पुश अप लगाने मात्र से ही शरीर में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है और मसल्स एक्टिव होने लगती हैं। इस दौरान आप एक्सरसाइज के लिए खुद को पहले की अपेक्षा ज्यादा उर्जावान पाते हैं। बात करें शरीर के लचीलेपन की तो इसे करने के साथ ही आपका पूरा शरीर लचीला बनता है। पोश्चर में सुधार करने के साथ साथ यह आपके बैक में भी लचीलापन लाता है।  

5. वजन कम करने में असरदार (Reduces Weight)

पुश अप को फैट बर्निंग एक्सरसाइज के नाम से भी जाना जाता है। इसे रोजाना करने से शरीर का फैट आसानी से कम हो जाता है। पुश अप्स आपकी शरीर से कैलरी काफी तेजी से बर्न करता है। यह आपके पेट के आस पास के एक्सट्रा चर्बी को भी कम करने में सहायक है। नियमितता के साथ इसे करने से बॉडी की शेप में सुधार होने के साथ ही आपकी मस्ल्स कोर होती हैं। इससे आपकी चेस्ट के आसपास की चर्बी पर भी दबाव पड़ता है, जिससे चेस्ट की चर्बी कम होने के साथ ही उसे सही आकार भी मिलता है। 

इसे भी पढ़ें - OMH Master Class में पिलाते एक्सपर्ट वेसना जैकब ने बताया बॉडी को टोन्ड और लचीला बनाने का तरीका, आप भी सीखें

6. टेस्टेस्टेरोन का स्तर बढ़ता है (Boosts Testosterone)

यह पुरुषों में पाए जाने वाला एक सेक्स हार्मोन है। अक्सर जिम जाने वालों में या फिर बॉडी बिल्डिंग करने वालों में इस हार्मोन की आवश्यकता होती है। इस हार्मोन के बढ़ने से हड्डियां मजबूत होती हैं। साथ ही शरीर में एक्सरसाइज करने के लिए अधिक उर्जा आती है और सेक्स संबंधी समस्याएं भी कम होती हैं। पैरों से जुड़ी एक्सरसाइज करने से भी शरीर में इस हार्मोन का स्तर बढ़ता है। इस हार्मोन को बढ़ाने के लिए नियमित रूप से वर्क आउट या पुश अप करना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। 

pushup

कैसे करें पुश अप्स (How to Do Push Ups)

  • पुश अप्स करने के लिए सबसे पहले हाथों और पैरों के बल उल्टा होकर हाथों को कंधों की सीध से थोड़ा चौड़ा रखें। 
  • अब अपने पूरे वजन को हाथों के पंजों और पैरों की उंगलियों पर टिका लें। 
  • इस अवस्था में आपकी स्पाइन और पूरी शरीर सीध में ही रहनी चाहिए। 
  • पैरों को सीध में न रखते हुए थोड़ा क्रॉस रखें। 
  • अब अपनी हथेलियों की मदद से पूरे शरीर को उपर की ओर लेकर जाएं। 
  • शरीर को उपर ले जाने के दौरान सांस लें और नीचे लाने के दौरान सांस छोड़ते हुए आएं। 
  • ध्यान रहे कि बॉडी के सभी हिस्से एक साथ उपर नीचे हों। 

रोजाना वार्म अप के तौर पर पुश अप्स करने से आपको इस लेख में दिए गए सभी फायदे मिलते हैं। इसलिए एक्सरसाइज के लिए खुद को तैयार करने के लिए पुश अप्स जरूर करें। यदि आप स्पाइन या फिर हड्डी की किसी अन्य समस्या से पीड़ित हैं तो चिकित्सक की सलाह के बाद ही इसे करें। 

Read more Articles on Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer