वजन नॉर्मल है फिर भी दिखते हैं मोटे तो कारण हो सकता है Skinny fat, जानें इसके नुकसान

अगर आपका वजन नॉर्मल है फिर भी आप मोटे दिखते हैं तो आपको हो सकती हैं कई बीमार‍ियां, जान‍िए इनके बारे में

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jun 11, 2021
वजन नॉर्मल है फिर भी दिखते हैं मोटे तो कारण हो सकता है Skinny fat, जानें इसके नुकसान

स्‍क‍िनी फैट क्‍या होता है? स्‍क‍िनी फैट एक टर्म है जो ऐसे लोगों के ल‍िए इस्‍तेमाल क‍िया जाता है जिनका वजन नॉर्मल होता है पर द‍िखने में मोटे होते हैं। ऐसे लोगों का बॉडी मास इंडेक्‍स यानी बीएमआई नॉर्मल होता है तब भी इन्‍हें कई बीमारि‍यां हो सकती हैं जैसे- हाई ब्‍लड प्रेशर की बीमारी या कोलेस्‍ट्रॉल ज्‍यादा रहना, ब्‍लड शुगर बढ़ना आद‍ि। स्‍क‍िनी फैट होने पर आपको डायब‍िटीज, स्‍ट्रोक और हार्ट ड‍िसीज हो सकती है। ऐसे लोगों को बीमार‍ियों से बचने के ल‍िए हेल्‍दी डाइट और रोजाना कसरत करने की सलाह दी जाती है। स्‍क‍िन फैट की समस्‍या मह‍िला और पुरूष दोनों में हो सकती है। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

skinny fat 

क‍िन लोगों को स्‍क‍िनी फैट कहा जाता है? (Who all are called skinny fat)

(Skinny fat) स्‍क‍िनी फैट एक टर्म है जो ऐसे लोगों को द‍िया गया है जिनका वजन सामान्‍य होता है पर ये मोटे नजर आते हैं, यूं भी कह सकते हैं क‍ि ऐसे लोग ज‍िनका वजन सामान्‍य द‍िखता है पर अंदर से उनका शरीर बीमार होता है। स्‍किनी फैट का व‍िवरण अलग-अलग ढंग से द‍िया जाता है। स्‍क‍िनी फैट का मतलब ये भी होता है क‍ि शरीर में बॉडी फैट ज्‍यादा और मसल्‍स का कम होना। ये एक गलत धारणा है क‍ि जो लोग पतले होते हैं उनकी सेहत अच्‍छी होती है पर ऐसा नहीं है। डॉ सीमा यादव ने बताया क‍ि ज‍िनका बॉडी फैट (body fat) ज्‍यादा होता है और मसल्‍स मांस (muscle mass) कम होता है उन्‍हें भी कई बीमारियों का खतरा रहता है।

स्‍कि‍नी फैट होने के क्‍या कारण हैं? (Causes of being skinny fat)

  • असंतुलित हार्मोन्‍स के कारण बॉडी फैट बढ़ जाता है और आप स्‍क‍िनी फैट की श्रेणी में आ सकते हैं। 
  • अगर आप बहुत ज्‍यादा चीनी खाते हैं तो भी आपको स्‍क‍िनी फैट होने का खतरा बन सकता है। चीनी के ज्‍यादा सेवन से बॉडी फैट बढ़ जाता है। 
  • कुछ लोगों में जेनेट‍िक कारणों से बॉडी फैट ज्‍यादा होता है, ऐसे लोग भी स्‍क‍िनी फैट की कैटगरी में आते हैं। 
  • उम्र बढ़ने के साथ भी मसल्‍स लॉस की समस्‍या होती है और बॉडी फैट बढ़ जाता है। 

इसे भी पढ़ें- वजन घटाने के लिए सीखें फूड पैकेट्स पर दी जानकारी पढ़ने का तरीका

स्‍क‍िनी फैट होने के क्‍या नुकसान हैं? (Risks of being skinny fat)

skinny fat risks

जो लोग स्‍क‍िनी फैट कहलाते हैं उनके सेहत को कई नुकसान हो सकते हैं जैसे- 

  • ऐसे लोगों को हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या आए द‍िन होती है, इनका ब्‍लड प्रेशर कभी भी तेज हो जाता है। 
  • जो लोग स्‍क‍िनी फैट कहलाते हैं उनका ब्‍लड शुगर लेवल भी बहुत ज्‍यादा होता है, इन्‍हें डायब‍िटीज की समस्‍या हो सकती है। 
  • जो लोग स्‍क‍िनी फैट कहलाते हैं उनके शरीर में एचडीएल HDL (High-density lipoprotein) कोलेस्‍ट्रॉल यानी गुड कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा बहुत होती है जि‍ससे उनका बैड कोलेस्‍ट्रॉल कम नहीं हो पाता।
  • जो लोग स्‍क‍िनी फैट होते हैं उनकी कमर में हमेशा ज्‍यादा फैट जमा होता है। 
  • स्‍क‍िनी फैट कहलाए जाने वाले लोगों को हार्ट ड‍िसीज का खतरा ज्‍यादा होता है।

इसे भी पढ़ें- तेजी से वजन घटाते हैं ये 5 डांस फॉर्म, फ्री टाइम में रोज़ करें थोड़ा डांस

स्‍क‍िन‍ी फैट की समस्‍या से कैसे बचें? (Tips to prevent skinny fat)

  • स्‍क‍िनी फैट की समस्‍या से बचने के ल‍िए आपको रोजाना कसरत करनी चाह‍िए, इससे बॉडी फैट कम होगा और बॉडी में फैट और मसल्‍स का संतुलन बनेगा। 
  • ज्‍यादा चीनी का सेवन न करें, शुगर ड‍िटॉक्‍स ट्राय करें क्‍योंक‍ि आप कुछ भी खाएं उसमें नैचुरल शुगर होती है इसल‍िए अलग से चीनी न डालें।
  • स‍िंपल कॉर्बोहाइड्रेट का सेवन करें जैसे होल ग्रेन, सब्‍ज‍ियां आद‍ि। 
  • प्रोटीन को अपनी डाइट में शाम‍िल करें, जैसे दाल, अंडा आद‍ि। 
  • हाई कैलोरी स्‍नैक्‍स या प्रोसेस्‍ड फूड्स से दूर रहें।

अगर आप रोजाना कसरत करें, हेल्‍दी डाइट लें और न्‍यूट्र‍िएंट्स का सेवन करें तो आप बॉडी फैट और मसल्‍स में सही संतुलन बना पाएंगे। 

Read more on Weight management in Hindi 

Disclaimer