नौकरी में नहीं लग रहा मन तो साइकोलॉजिस्ट की ये टिप्स आपके लिए हो सकती हैं कारगर

नौकरी में मन न लगने की समस्या या वर्क एंग्जायटी से जूझ रहे लोगों के लिए साइकोलॉजिस्ट की ये टिप्स कारगर साबित हो सकती है, जानें इसके बारे में।

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Aug 20, 2021Updated at: Aug 20, 2021
नौकरी में नहीं लग रहा मन तो साइकोलॉजिस्ट की ये टिप्स आपके लिए हो सकती हैं कारगर

आपके मानसिक स्वास्थ्य पर आपके काम का तनाव भरी पड़ सकता है। कई बार लोग काम की चिंता, कार्यस्थल के प्रदर्शन और नौकरी में मन न लगने के कारण मानसिक बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। दरअसल आप जिस जगह पर काम या नौकरी कर रहे हैं वहां पर आपका मन न लगने के कई कारण हो सकते हैं लेकिन कभी-कभी यह स्थिति बहुत गंभीर हो जाती है और इसकी वजह से लोग मानसिक समस्याओं का शिकार भी बन जाते हैं। कुछ दिनों पहले हुए एक शोध के मुताबिक 50 प्रतिशत से अधिक लोग अपने काम या नौकरी से संतुष्ट नहीं हैं या फिर वे काम की चिंता यानि वर्क एंग्जायटी (Work Anxiety) से ग्रसित होते हैं। इस समस्या का कोई सटीक इलाज भी नहीं है लेकिन अगर आपका भी मन नौकरी में नहीं लग रहा है या आप भी वर्क एंग्जायटी की समस्या से ग्रसित हैं तो हैदराबाद स्थित अपोलो हॉस्पिटल की साइकोलॉजिस्ट डॉ मंजुला राव की ये टिप्स आपके काम की हो सकती है। आइये जानते हैं वर्क एंग्जायटी और नौकरी में मन न लगने की समस्या से कैसे बचें।

वर्क एंग्जायटी या नौकरी में मन न लगने की समस्या के लक्षण (Signs of Job or Work Anxiety)

नौकरी या काम में मन न लगने के कारण इंसान को कई समस्याएं हो सकती हैं। आज के समय में वयस्कों में तनाव और डिप्रेशन की समस्या सबसे ज्यादा काम में मन न लगने या वर्क एंग्जायटी के कारण हो रही है। वर्क एंग्जायटी या काम में मन न लगने वाले व्यक्तियों में दिखने वाले लक्षण इस प्रकार से हैं।

  • काम के प्रति सहनशीलता की कमी।
  • ऑफिस या दफ्तर में समय से काम का टारगेट न पूरा कर पाना।
  • दफ्तर में मन न लगना।
  • दिन भर उदासी या चिड़चिड़ापन
  • साथ में काम करने वाले लोगों से दूरी बनाना।
  • ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई। 
  • काम में रुचि न होना।
  • मानकों के अनुरूप प्रदर्शन नहीं करने का डर।
  • नए कामों को करने से बचना।
  • तनाव, डिप्रेशन जैसी समस्या का शिकार।
Psychologist-Tips-to-Tackle-Work-Anxiety
(Image Source - Freepik.com)

वर्क एंग्जायटी की समस्या में अपनाएं साइकोलॉजिस्ट की ये टिप्स (Psychologist Tips to Tackle Work Anxiety) 

कुछ दिनों पहले कार्यस्थल और काम करने वाले लोगों को लेकर हुए एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि वयस्क लोगों में तनाव और मानसिक सस्याओं का सबसे प्रमुख कारण काम की चिंता या नौकरी में मन न लगना ही है। काम करने की जगह के तनाव के कारण तमाम लोग मानसिक समस्याओं का शिकार हो रहे हैं। दरअसल जब किसी भी व्यक्ति का मन उसकी नौकरी में नहीं लगता है तो ऐसे में उसकी प्रोडक्टिविटी भी कम हो जाती है। इस कारण से दबाव में काम करना पड़ता है। काम का प्रेशर पड़ने पर तमाम लोग कई तरह की मानसिक समस्याओं के शिकार हो जाते हैं। इन समस्याओं से बचने के लिए आप एक्सपर्ट की बताई इन बातों का ध्यान रख सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : जिंदगी की दौड़ हो या पढ़ाई और नौकरी, आपको सफलता की तरफ ले जाएंगी ये 5 अच्छी आदतें

1. आप वर्क एंग्जायटी या नौकरी में मन न लगने की स्थिति में कुछ समय के लिए उससे दूरी बनाकर खुद पर ध्यान केन्द्रित करें। काम से छुट्टी लेकर कुछ दिनों के लिए अपनी पसंदीदा जगह पर जायें और आपकी पसंदीदा चीजों को करें। जूम आउट करने के बाद क्खुद की जरूरतों और रूचि के बारे में सोचें। स्थिति से दूर जाकर कुछ दिन बाद आप दोबारा से अच्छी शुरुआत कर सकते हैं। एक बार जब बड़ी तस्वीर ध्यान में आ जाती है तो फिर आप अपने काम को पसंद करने लगते हैं और काम के प्रेशर को भी एन्जॉय करने लगते हैं। अपने दृष्टिकोण को बदलने पर आपको दोबारा जूम इन करने में सफलता मिलेगी।

Psychologist-Tips-to-Tackle-Work-Anxiety

(Image Source - Freepik.com)

इसे भी पढ़ें : नौकरी को लेकर असुरक्षित महसूस करना हो सकता है खतरनाक, जानें इससे बचने के तरीके

2. कार्यस्थल पर सहकर्मियों के बारे में गपशप करने या दूसरों के बारे में बात करने में अस्थायी राहत या मनोरंजन भले ही मिलता हो लेकिन यह भी तनाव का एक कारण हो सकता है। ऑफिस या दफ्तर में नकारात्मकता से दूर होकर लोगों से घुलने मिलने की कोशिश करें। लोगों से घुल मिलकर रहने से आप अपनी बात दूसरों से शेयर कर सकते हैं और हो सकता है कि वहां आपको कोई अच्छी सलाह या राय मिले जो आपके लिए उपयोगी हो।

इसे भी पढ़ें : क्‍या होता है जब आप स्‍वास्‍थ्‍य को नजरअंदाज कर जॉब को देते हैं प्राथमिकता

3. काम की डेडलाइन कई बार तनाव और चिंता जैसी मानसिक समस्याओं का कारण बन सकती है। अपने काम की डेडलाइन के बारे में खुद से सोचें और ईमानदारी से खुद अपनी डेडलाइन तय करें। काम के प्रेशर को ऑफिस तक ही सीमित रखें और ऑफिस के समय में ही अपना काम खत्म करने की कोशिश करें।

इसे भी पढ़ें : दिल के लिए खतरनाक है नौकरी जाना

4. ऑफिस में तनाव या नौकरी में मन न लगने पर आप खुद पर ध्यान दें। खद से यह सवाल पूछें कि क्या यह वही मुकाम है जहां आप पहुंचना चाहते थे? क्या आप यही काम करने के लिए इतने दिनों से प्रयास कर रहे थे। इन सवालों का जवाब मिलते ही आपको वर्क एंग्जायटी और नकरी में मन न लगने की समस्या से छुटकारा मिलेगा।

5. मानसिक समस्या अगर आप पर हावी हो रही हो तो इसके लिए आप किसी एक्सपर्ट से सलाह ले सकते हैं। इसके अलाव नियमित रूप से योग और मेडिटेशन करने से भी आपका दिमाग शांत रहता है और काम में मन सही ढंग से लग पाता है। 

इसे भी पढ़ें : नौकरी मन की न हो तो तन पर पड़ता है बुरा असर

नौकरी में मन न लगने और वर्क एंग्जायटी की समस्या में आप एक बात का ध्यान जरूर रखें कि अगर आपका एक नौकरी में आपका मन नहीं लग रहा है तो जरूरी नहीं कि किसी और नौकरी में आप अच्छे से काम कर पाएंगे। इसलिए खुद का मूल्यांकन करें और मन न लगने की वजह जानने की कोशिश करें। वजह मिलते ही आप निर्णय लेने की स्थिति में आ जायेंगे।

(Main Image Source - Freepik.com )

Read More Articles on Mind and Body in Hindi

Disclaimer