COVID+ लोगों की पॉजिटिव कहानियां: सोशल मीडिया पर लोग शेयर कर रहे हैं घर पर कोविड से ठीक होने की अपनी कहानी

भारत में इस बार कोरोना वायरस की लहर डरावनी है, पर हमें और आपको इससे डरना नहीं है। अपना बचाव करना है और कोविड होने पर भी इससे ठीक हो कर बाहर आना है। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Apr 19, 2021Updated at: Apr 19, 2021
COVID+ लोगों की पॉजिटिव कहानियां: सोशल मीडिया पर लोग शेयर कर रहे हैं घर पर कोविड से ठीक होने की अपनी कहानी

भारत में कोरोना की स्थिति दिन पर दिन खराब होती जा रही है। कल 2,61,500 नए मामले सामने आए और 1500 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। इस बार कोरोना की लहर बेकाबू है क्योंकि भारत के कई राज्यों जैसे महाराष्ट्र, दिल्ली, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में कोरोना से मरने वाले लोगों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। इसी बीच हर तरफ जब निराशा भरा माहौल है और हर कोई अपने घर में बंद है, तो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लोगों के लिए एक-दूसरे से जुड़ने और बात करने की जगह बन गई है। हाल ही, में ट्विटर पर लोगों ने अपने कोविड स्टोरी शेयर (COVID-19 STORY) की, जिसमें उन्होंने बताया कि कैसे उन्होंने या उनके माता-पिता और रिश्तेदारों ने घर में रह कर कोरोना वायरस को हराया। साथ ही इन लोगों उन टिप्स, दवाईओं और घरेलू नुस्खों की भी बात की, जिसने इन्हें कोरोना से उभरने में मदद की।

Inside1covid19patients

तो, आइए इस निराशाजनक माहौल में कुछ उम्मीद की बात करते हैं और इन लोगों की पॉजिटिव स्टोरी (coronavirus recovery)और टिप्स को जान कर कोविड-19 से लड़ने और जीतने की कोशिश करते हैं। पर आइए सबसे पहले जानतें कोरोना की इस दूसरी लहर में लोगों में कौन से लक्षण सबसे ज्यादा आम हैं और कौन से लक्षण पिछले साल वाले कोरोना से अलग हैं

कोरोना वायरस के ज्यादातर मरीजों में दिखने वाले लक्षण

सोशल मीडिया पर जिन लोगों ने अपनी कोविड स्टोरी (covid recovery stories) शेयर की उनमें से ज्यादातर लोगों ने बताया कि उन्हें कितने दिनों तक और कौन-कौन से कोरोना के लक्षण (Corvid-19 Symptoms) दिखें। ज्यादातर लोगों ने

  • -3 से 5 दिन तक लगातार बुखार रहने की शिकायत की।
  • -कुछ लोगों में ठंड लगने के साथ बुखार होता रहा।
  • -गले में खराश और स्वाद और सूंघने की शक्ति का चले जाना।
  • -नाक से पानी और जुकाम
  • -खांसी, जिसमें कि कुछ लोगों को कफ वाली खांसी और कुछ को सूखी खांसी रही।

क्या नए कोरोना वायरस के लक्षण पुराने वाले अलग हैं? 

इस सवाल पर लोगों के पोस्ट से पता चलता है, कि ज्यादातर लोगों में इसके लक्षण एक जैसे ही हैं, जिसमें बुखार, गले में खराश और जुकाम आदि शामिल है। पर कुछ लोगों ने कुछ अलग लक्षणों (new covid-19 symptoms) का भी जिक्र किया है, जैसे कि

  • - इस बार लोगों में लंबे समय तक रहने वाला शरीर दर्द है, जो कि बहुत ज्यादा होता है।
  • -थकान और बहुत अधिक कमजोरी
  • -पेट खराब होना
  • -उल्टी
  • -गेस्ट्रोइंटेस्टेनियल परेशानियां 
Inside3vapour

कोरोना के इलाज में ज्यादातर लोगों ने क्या किया?

कोरोना के इलाज में ज्यादातर लोगों ने सबसे पहले खुद को बाकी लोगों से अलग किया और डॉक्टर के कहे अनुसार 14 से 15 के लिए दवाइयों का सेवन किया। जिनमें कुछ दवाइयां शामिल हैं, जैसे कि

  • -पैरासिटामोल
  • -एंटीबायोटिक्स 
  • -फ्लू के लिए दी गई दवाइयां
  • -कफ सिरप
  • -विटामिन डी (हफ्ते में एक बार)
  • -विटामिन सी
  • -जिंक 

इसे भी पढ़ें : सरकार ने घटा दी रेमडेसिविर इंजेक्शन की कीमतें, जानें क्यों इतना ज्यादा डिमांड में है ये इंजेक्शन

कोरोना से ठीक होने में लोगों के घरेलू उपाय

अपनी कोविड स्टोरी में ज्यादातर लोगों ने दवाइयों के साथ कई तरह के घरेलू उपायों को भी शेयर किए। जैसे कि

  • -सुबह उठते ही गर्म पानी पिएं।
  • -दिन भर में कई बार गर्म पानी पिएं।
  • -यूकेलिप्टस (नीलगिरी) के तेल या विक्स के साथ लोगों ने दिन में कई बार गर्म पानी का भाप लिया। 
  • -खूब पानी पिएं।
  • -जूस और फलों का सेवन
  • -ज्यादातर लोगों ने घर का बना गर्म खाना खाया, जिसमें कि दाल, सब्जी, रोटी, दलिया और खिचड़ी आदि खाया।
  • -हल्दी, नमक और गर्म पानी के साथ 3 से 4 बार दिन में गार्गल करें।
  • -काढ़ा पिएं।
  • -नारियल पानी और मौसंबी का जूस पिएं।
  • -आंवला और गिलोय की चाय पिएं।

मन को शांत रखना है जरूरी 

कोरोना वायरस से ठीक होने वाले ज्यादात लोगों का कहना यही है कि इस स्थिति जिस तरह से खराब होती है, ऐसे में सभी परेशान हो जाते हैं, पर जरूरी ये है कि इस महामरी को खुद पर हावी होने न दें। आप खुद को शांत रखें और खुद की सेवा में हिम्मत से जुट जाएं। आइशोलेशन में अकेले रहने के कारण आप खुद को कई बार निराश और अवसादग्रस्त पा सकते हैं, पर निगेटिव विचारों को खुद पर हावी न होने दें। इसके लिए

  • -सुबह उठने के बाद हल्के एक्सरसाइज जैसे अलोम विलोम योग करें।
  • -गानें सुनें और खुश होने की कोशिश करें।
  • -खूब आराम करें और मूवी देखें।
  • -अच्छी किताबें पढ़ें।
  • -रिश्तेदारों और दोस्तों से वीडियो कॉल पर बात करें।
  • -तनाव में ना आएं। 

इसे भी पढ़ें : ब्लड में कितना होना चाहिए ऑक्सीजन का स्तर? एक्सपर्ट से जानें कोरोना के मरीजों को कब होना पड़ता है एडमिट

उम्रदराज लोगों ने कैसे जीती कोरोना की जंग?

कई लोगों ने बताया कि उनके घर में उनके उम्रदराज माता-पिता और दादा-दादी को भी कोरोना हुआ। ऐसे में सबसे पहले इन लोगों मे दवाइयों और घरेलू उपायों को करते हुए ऑक्सीमीटर पर इनका ऑक्सीजन लेवल चेक करते रहें। इस दौरान सबकी कोशिश यही रही है कि सबको पैनिक करने से बचाया जाए। साथ ही इन लोगों में कई गंभीर बीमारियों जैसे कि हार्ट डिजीज, डायबिटीज और टीबी आदि के भी रोगी थी, जिन्होंने आम लोगों की तरह कोरोना को हराया और इससे उभर आए। इनमें से ज्यादा लोगों ने जिन चीजों का पालन किया उनमें शामिल हैं- 

  • -डायबिटीज (Diabetes and Coronavirua) के मरीज ने कोरोना को घरेलू उपायों और आराम की मदद से हराया।
  • -ब्लड शुगर और बीपी को भी चेक करते रहें।
  • -इस दौरान बस ऑक्सीजन का लेवल चेक करते रहें। 94 या 90 से नीचे ऑक्सीजन का लेवन ना जाने दें।
  • -कुछ उम्रदराज लोग जिनमें हल्के लक्षणों हो और उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई हो, तो वो CT Scan करवा सकते हैं।
  • -ठीक हो जाने के बाद 45 साल से ऊपर के लोगों को कोरोना का वैक्सीन जरूर लगवाएं। 

सोशन मीडिया पर ज्यादातर लोगों ने जिस तरह के घरेलू उपायों को लोगों के साथ साझा किए हैं, वो काफी आसान हैं और हर कोई इसे कर सकता है। कोरोना महामारी जिस तरह से अपना पैर पसार रही है, ऐसे में जरूरी है कि हम खुद को इसके लिए अंदर से तैयार रखें। ऐसा इसलिए भी क्योंकि अब जिस तरह से कोरोना फैल रहा है उसमें किसी को नहीं पता है कि ये कैसे हो रहा है। मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग के बावजूद लोग घर में रहते हुए ही बीमार हो रहे हैं। तो, इनमें से ज्यादातर लोगों से यही सीख मिलती है कि कोरोन से ठीक होने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है अपने मन से न हारना। अपने विचारों को हमेशा जिंदादिल रखना। साथ ही निगेटिव चीजों पर ध्यान न दें।

बच्चे या बड़ों को करोना होने पर पैनिक करने से बचाएं और खूब आराम करने दें। बस बच्चे या बूढ़ों को कोरोना होने पर उनका बुखार, ऑक्सीजन लेवल और सांस लेने वाली परेशानियों को चेक करते रहें। साथ ही ठीक हो जाने के बाद कोरोना का वैक्सीन जरूर लगवा लें। पर वैक्सीनेशन के बाद ये न समझें कि आपको कोरोना दोबारा नहीं होगा। इसलिए कोशिश करें कि गर्म पानी पिएं, गिलोय और अदरक की चाय लेते रहें, हेल्दी खाना खाएं, घर पर रहें, घर में भी मास्क पहनें और अच्छा  व पॉजिटिव सोचें। ध्यान रहे कि अगर आपको कोरोना नहीं है या टेस्ट नहीं हुआ है और लक्षण कोरोना जैसे हैं, तो अपने आपको दूसरों से अलग करें और डॉक्टर की दवाइयों और इन घरेलू उपचारों के साथ इलाज शुरू करें।  

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer