10 से 20 रुपये वाले ये 5 एंटी-वायरल फूड इम्यूनिटी बढ़ाकर आपको कोरोना से बचाएंगे, जानें लाभ

Corona prevention: बाजार में 10 से 20 रुपये में मिलने वाले ये 5 एंटी-वायरल फूड आपकी इम्यूनिटी बढ़ाकर आपको कोरोना से बचाएंगे और ये फायदे देंगे।

सम्‍पादकीय विभाग
स्वस्थ आहारWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Mar 13, 2020Updated at: Apr 12, 2021
10 से 20 रुपये वाले ये 5 एंटी-वायरल फूड इम्यूनिटी बढ़ाकर आपको कोरोना से बचाएंगे, जानें लाभ

विश्वभर में कोरोनावायरस (coronavirus (COVID-19) से मरने वालों की संख्या 4 हजार पार कर चुकी है और दुनियाभर में 1, 20, 000 से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित है। भारत में भी कोरोना से पहली मौत होने का मामला सामने आया है और टर्की सहित ज्यादातर देश अपने यहां कोरोना के पहले मामले के दर्ज होने की पुष्टि कर रहे हैं। भारत में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 78 हो चुकी है, जिसमें से 14 विदेशी नागरिक हैं, जो भारत की यात्रा पर आए थे। कोरोना से बचने के लिए खुद को साफ रखना बेहद जरूरी नियम है और इसके साथ ही आपका इम्यून सिस्टम सही से काम करे ये भी बेहद जरूरी है। इसके लिए आपको कुछ एंटी-वायरल फूड का सेवन करना चाहिए ताकि आप अपनी इम्यूनिटी को बूस्ट कर सकें और खुद को इस संक्रामक रोग से सुरक्षित रख सकें। इन एंटी-वायरल फूड को खरीदने के लिए आपको कहीं दूर जाने की जरूरत नहीं है बल्कि ये 5 फूड 10 से 20 के रुपये के हैं और आपको सब्जी मंडी या अपनी गली में किसी सब्जी वाले के पास भी मिल जाएंगे। तो आइए जानते हैं कि इन सस्ते एंटी-वायरल फूड के बारे में।

corona

5 एंटी वायरल फूड, जो बढ़ाएंगे इम्यूनिटी और देंगे कोरोना से सुरक्षा

लहसुन

एलिसिन नाम के तत्व से भरपूर लहसुन आपको कई प्रकार के इंफेक्शन से बचाने में मदद कर सकता है लेकिन इसका नियमित रूप से सेवन बहुत ही जरूरी है। जिन लोगों ने अभी तक लहसुन खाने की आदत नहीं डाली है उनके लिए ये जानना बेहद जरूरी है कि एलिसिन एक ऐसा तत्व है, जो वायरस से लड़ने और इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद कर सकता है। आप लहसुन को चबाकर, किसी चीज में मिलाकर या फिर सब्जियों में लहसुन का तड़का लगाकर खा सकते हैं। एलिसिन ही वहीं तत्व है, जो लहसुन को अनूठी महक प्रदान करता है। वायरस को खत्म करने के लिए आप लहसुन की दो कलियां रोजाना गर्म पानी के साथ लें और अपने डेली रूटीन का हिस्सा बनाएं। इसके अलावा आप इसे इसे सूप में भी मिलाकर पी सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः COVID 19: कोरोना से बचने के लिए इम्यूनिटी मजबूत होना जरूरी, दादी मां के ये 8 नुस्खे करेंगे इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग

दालचीनी

जी हां, यह सुगंधित मसाला आपके पसंदीदा व्यंजनों में स्वाद बढ़ाने के अलावा और भी बहुत कुछ काम कर सकता है। न्यूयॉर्क के टौरो कॉलेज द्वारा किए गए एक प्रारंभिक अध्ययन में पाया गया कि दालचीनी में एंटीवायरल गुण हो सकते हैं। शोध के इन निष्कर्षों के अनुसार, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने की अपनी सिद्ध क्षमता के अलावा दालचीनी वायरल संक्रमण के खिलाफ भी शरीर की रक्षा कर सकता है। आपको दालचीनी का सेवन करने के लिए बस करना ये है कि दालचीनी को रात भर पानी में भिगो दें और अगली सुबह इसके पानी को पी लें। दालचीनी के पानी के अलावा आप इस सुगंधित मसाले की एक चुटकी को अपनी सुबह की कप चाय या कॉफी में डाल कर पी सकते हैं और स्वाद के साथ-साथ स्वास्थ्य को दुरुस्त बना सकते हैं।

दही

दही में मुख्य रूप से पाया जाने वाले प्रोबायोटिक इन्फ्लूएंजा वायरस के कारण श्वसन संक्रमण के प्रभाव को कम करने के लिए जाना जाता है। इसके अलावा, नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) में प्रकाशित एक शोध के अनुसार, प्रोबायोटिक का सेवन बच्चों में भी  श्वसन पथ संक्रमण के खतरे को कम करने के लिए एक संभव तरीका बताया जाता है। चूंकि दही विभिन्न स्वादों में उपलब्ध है, आप इसे दिन में किसी भी वक्त खा सकते हैं लेकिन दोपहर में भोजन के साथ दही का सेवन उत्तम माना जाता है। आप अपनी पसंदीदा मिठाई को भी दही के साथ बदल सकते हैं, क्योंकि आप भोजन को खत्म करने के बाद मुंह को मीठा करने के लिए भी इसका सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः COVID 19: जल्द टलने वाला है कोरोनावायरस का खतरा! इस देश ने तैयार की वैक्सीन, जानिए कितने दिन में मिलेगी

मशरूम

मशरूम बीटा-ग्लूकन से भरा होता है, जो अपने एंटी-वायरल और एंटी-बैक्टीरियल तत्वों के लिए जाना जाता है। मशरूम न केवल आपकी इम्यूनिटी को बूस्ट करने में मदद करता है बल्कि सूजन और जलन को भी कम करने का काम करता है। आप मशरूम को नारियल तेल में भूनकर खा सकते हैं लेकिन ध्यान रखें कि मशरूम का ऊपरी हिस्सा काट दें और उसके बाद इसे खाएं।

immunity

मुलेठी

मुलेठी का प्रयोग प्राचीन काल से पारंपरिक तौर पर चीनी नुस्खों में होता आ रहा है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी में प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, मुलेठी में पाया जाने वाले सक्रिय तत्व कई फार्माकोलोजॉकिल गतिविधियों को करने में मदद करते हैं जैसे एंटी-वायरल, एंटी-माइक्रोबायल, एंटी-इंफ्लामेटरी, एंटी-ट्यूमर और अन्य। इसके अलावा मुलेठी का प्रयोग गले की खराश और बलगम को दूर करने के लिए भी किया जाता है। आपको बस करना ये है कि मुलेठी को पानी में उबाल लें और धीरे-धीरे पीएं। आप चाहे तो मुलेठी की चाय बनाकर भी पी सकते हैं, जो आपको सर्दी से निजात दिलाने में मदद करेगी।

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer