नवरात्र व्रत (Navratri Fasting) में ध्‍यान रखने वाली 8 बातें: जानिए व्रत के दौरान क्‍या करें और क्‍या नही

Navratri Fasting 2020: नवरात्र व्रत के दौरान सेहत का ख्‍याल रखना बहुत जरूरी है, इस दौरान भूल से भी ऐसा काम न करें जिससे आपके व्रत का संकल्‍प टूटे। 

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Sep 30, 2019Updated at: Oct 15, 2020
नवरात्र व्रत (Navratri Fasting) में ध्‍यान रखने वाली 8 बातें: जानिए व्रत के दौरान क्‍या करें और क्‍या नही

Navratri Fasting 2020: नवरात्र वह समय है जब उपवास और उत्‍सव दोनों साथ चलते हैं। ये 9 दिवसीय उत्सव 25 मार्च 2020 से 3 मार्च 2020 तक चलेगा। नवरात्र में ज्‍यादातर लोग व्रत रखते हैं। कुछ लोग नवरात्र के पहले और आखिरी दिन व्रत रखते हैं, जबकि तमाम ऐसे लोग भी हैं जो पूरे 9 दिन तक व्रत रखते हैं। ऐसे में, व्रत रखने वाले लोग आहार संबंधी कई सावधानियां बरतते हैं, इस दौरान गरिष्‍ठ भोजन से बचने की सलाह दी जाती है। हालांकि, उपवास रखना स्वस्थ है। मगर, कुछ नियमों का पालन करना और ओवरडोज से बचना आवश्यक है। यदि आप भी उपवास रख रहे हैं तो निम्‍नलिखित बातों का ध्‍यान रखना जरूरी है:

नवरात्रि व्रत में क्‍या करें?

1. हाइड्रेटेड रहें 

उपवास के दौरान खुद को हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी होता है। इससे शरीर में पानी की मात्रा कम नहीं होती। शरीर के समुचित कार्य को सुनिश्चित करने के लिए खुद को हाइड्रेट रखना जरूरी है, क्‍योंकि उपवास के दौरान शरीर का जलस्‍तर कम होने लगता है, जलयोजन स्तर हमेशा बनाए रखना बहुत जरूरी है। ऐसे में आप खुद को हाइड्रेट रखने के लिए नारियल के पानी, दूध और ताजे फलों के रस जैसे तरल पदार्थों को शामिल करने के बारे में भी सोच सकते हैं जो न केवल आपको हाइड्रेट रखते हैं बल्कि आपको रिचार्ज भी करते हैं। 

2. अति न करें 

व्रत के दौरान स्‍वादिष्‍ट चीजों को खाने से पहले दो बार सोचें। यदि आप अपने खाने की आदतों को संयमित नहीं करते हैं, तो यह न केवल उपवास के उद्देश्य से दूर होगा बल्कि आपके पाचन तंत्र पर भी असर डालेगा। कोशिश करें और अपने आहार में ताजा फल और सब्जियों को ही शामिल करें। चिकना, तैलीय भोजन आपको फूला हुआ भी महसूस करा सकता है। 

3. ज्‍यादा शुगर से दूर रहें 

बाजार में उपलब्ध बहुत सारी मिठाइयां प्रोसेस्ड शुगर से बनाई जाती हैं जो निश्चित रूप से अस्वास्थ्यकर होती हैं और कुछ ऐसी चीज़ों से आपको जितना हो सके बचना चाहिए, क्‍योंकि यह इससे आपको कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसके बजाय, आपको क्या करना चाहिए, घर पर मिठाई बनाएं और चीनी के बजाए गुड़ का विकल्‍प चुनने की कोशिश करें। (नवरात्रि में मखाना खाने से नहीं होती ये 6 गंभीर बीमारियां, शरीर को मिलता है पूरा पोषण

4. हेल्‍दी स्नैक्‍स लें 

उपवास का मतलब है कि आपको किसी भी समय पर भूख लगती है। ऐसे में आप चिप्स के पैकेट को हथियाने की जरूरत महसूस करते हैं, लेकिन हम आपको मखाना जैसे हेल्दी स्नैक्स रखने की सलाह देते हैं! फॉक्सनट्स विटामिन और आयरन में बेहद स्वस्थ और समृद्ध हैं। आप शकरकंद फ्राई करके, रोस्ट नट्स जैसे कुछ भी बना सकते हैं जो आपके कोलेस्ट्रॉल लेवल को नहीं बढ़ाएगा। नियमित अंतराल पर पानी पीना भी आपकी तलब को कम कर सकता है। (डायबिटीज और हाई ब्‍लड प्रेशर वाले लोग कैसे रखें नवरात्र व्रत)

5. फाइबर युक्त भोजन करें

नवरात्रों के दौरान, जब आपके पास खाने का समय होता है, तो यह आवश्यक है कि आप ऐसे खाद्य पदार्थों को चुनें जो फाइबर से भरपूर हों और पचने में अधिक समय लेते हों, अंततः आपको लंबी अवधि के लिए पूर्ण रहने में मदद करते हैं। व्रत के अनुकूल आहार- राजगीर, सिंघारा, कद्दू, और कोलोसैसिया (arbi) शामिल हैं। 

नवरात्रि व्रत में क्‍या करने से बचें?

1. पैकेज्ड फूड से बचें

हम जानते हैं कि बाजार में बहुत सारे आसान विकल्प उपलब्ध हैं जैसे व्रत के अनुकूल नमकीन, चिप्स और भोजन। हालांकि, याद रखें कि वे सारे प्रोसेस्‍ड होने के बाद आते हैं और रिफाइंड ऑयल में बने होते हैं। यह इन नौ पवित्र दिनों में उपवास के उद्देश्य को पूरा नहीं करता है।  

इसे भी पढ़ें: इन 5 हेल्‍दी रेसिपी से मिलेगा भरपूर पोषण, बरकरार रहेगी एनर्जी

2. अच्छी नींद जरूरी 

किसी भी उपवास में बॉडी डिटॉक्स होती रहती है, इस कारण आराम की बहुत आवश्यकता होती है। इसलिए, सुनिश्चित करें कि आप हर दिन 7-8 घंटे सोते हैं। आराम करने की कोशिश करें और अपने शरीर को पूरी तरह से डिटॉक्सीफाई करने के लिए आप मेडिटेशन भी कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: व्रत में कैसा होना चाहिए आहार? सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रूजुता दीवेकर से जानें खानपान का सही तरीका

3 . खुद को न थकाएं

इन नौ दिनों के दौरान, आप खानपान, कार्यक्रमों में भाग लेने और उपवास के साथ पूर्ण रहने की संभावना रखते हैं। हालांकि, याद रखें कि शरीर में ऊर्जा कम होती है, इसलिए कोशिश करें कि आपके शरीर पर अत्यधिक दबाव न डालें। समय-समय पर नाश्ता करते रहें और जब चाहें आराम करें।

Read More Articles On Miscellaneous In Hindi

Disclaimer