वजाइना से जुड़ी इन 5 अफवाहों को आप मानती हैं सही? डॉक्टर से जानें सच्चाई

महिलाओं की वजाइना से जुड़े कई ऐसे मिथ हैं, जिन्हें अकसर लोग सही मान लेते हैं। ऐसे में इनकी सच्चाई के बारे में जानना जरूरी है। चलिए जानते हैं

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jul 16, 2021Updated at: Jul 16, 2021
वजाइना से जुड़ी इन 5 अफवाहों को आप मानती हैं सही? डॉक्टर से जानें सच्चाई

लड़कियां और महिलाएं अपने वजाइना (Vagina) के बारे में काफी कुछ जानती और समझती हैं। लेकिन इसके बारे में भी जाने-अनजाने में कई ऐसी अफवाहें फैल चुकी हैं, जिन्हें अकसर आप सही मान लेती हैं (Myths Related to Vagina)। ऐसे में इनकी सच्चाई के बारे में जानना आपके लिए बहुत जरूरी हो जाता है। जैसे वजाइना में खुजली का मतलब इंफेक्शन होता है, वजाइना से डिस्चार्ज होना किसी बीमारी का संकेत है आदि ऐसे मिथ है, जो आप सही मान लेती हैं। आज हम आपको वजाइना से जुड़ी ऐसे ही कुछ अफवाहों और उनकी सच्चाई (Myths and Facts Abouts Vagina) के बारे में बताने जा रहे हैं। वॉकहार्ट अस्पताल, मुंबई सेंट्रल की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर गांधली देशपांडे (Dr Gandhali Despande, Gynaecologist, Wockhardt Hospital, Mumbai Central) से जानें इनके बारे में-

vaina

मिथ 1 : वजाइना में खुजली होने का मतलब है यीस्ट इंफेक्शन हो गया है।

डॉक्टर गांधली बताती हैं कि वजाइना से जुड़ी अफवाहों में यह मिथ सबसे प्रमुख है। अकसर लड़कियां इस बात को सही मानती हैं। उन्हें वजाइना में थोड़ी सी भी खुजली होती है, तो वे इसे यीस्ट इंफेक्शन मान लेती हैं और डर जाती हैं। जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। वजाइना में खुजली होने के पीछे कई अन्य कारण भी हो सकते हैं। इसमें बैक्टीरियल इंफेक्शन (Bacterial Infection), प्यूबिक लाइस (Pubic Lice), हार्मोनल असंतुलन (Hormonal Imbalance), एसटीडी (STD) या इरिटेशन (Irritation) हो सकता है। इसलिए वजाइना में खुजली होने पर आपको एक बार अपनी स्त्री रोग विशेषज्ञ से जरूर संपर्क करें। इसके लिए वे आपका सही उपचार करेंगे।

इसे भी पढ़ें - पीरियड में ब्लड क्लॉट्स (खून के थक्के) आने के कारण और उपचार

मिथ 2 : वजाइना की सफाई के लिए खास प्रोडक्ट्स की जरूरत होती है।

वजाइना खुद को अपने आप साफ रख सकती है। हमें वल्वा को साफ रखने की जरूरत होती है। लेकिन इसे किसी खास प्रोडक्ट्स से ही साफ करना चाहिए ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। इसे सिर्फ साबुन और पानी से भी साफ रखा जा सकता है। इसलिए यह भी एक अफवाह ही है। वजाइना स्वंय को साफ कर सकती है। वजाइना या योनि की सफाई के लिए आपको किसी खास ब्रांड के प्रोडक्ट की जरूरत नहीं होती है।

vagina

मिथ 3 : दही खाने से यीस्ट इंफेक्शन ठीक हो जाता है।

यीस्ट इंफेक्शन को ठीक करने के लिए डॉक्टर से संपर्क करना होता है। दही यीस्ट इंफेक्शन के लिए अच्छा प्रोबायोटिक्स है। लेकिन दही खाने से यीस्ट इंफेक्शन को पूरी तरह से ठीक नहीं किया जा सकता है। यीस्ट इंफेक्शन में दही कुछ हद तक मदद कर सकता है। इसके लिए आपको उचित उपचार और दवाइयों की ही जरूरत पड़ती है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करके अपना उपचार करवाएं।  

मिथ 4 : वजाइना से डिस्चार्ज यानी किसी बीमारी का संकेत है।

डिस्चार्ज महिलाओं में होने वाली एक सामान्य समस्या है। जरूरी नहीं है कि यह किसी बीमारी या इंफेक्शन का ही संकेत हो। लेकिन लंबे समय तक वजाइन से डिस्चार्ज और इचिंग होना संक्रमण का संकेत हो सकता है। अगर आपको भी डिस्चार्ज और इचिंग दोनों साथ में हो रही है, तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। यह बैक्टीरियल इंफेक्शन, यीस्ट इंफेक्शन की वजह से हो सकता है। इसके लिए सही उपचार की जरूरत होती है। एक स्वस्थ महिला को सफेद और हल्के चिपचिपा वजाइनल डिस्चार्ज होता है, इसमें थोड़ा सा भी बदलाव होने पर तुंरत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें - प्रेग्नेंसी में पैदल टहलने (वॉक करने) से मिलेंगे कई फायदे, लेकिन ये सावधानियां हैं जरूरी

मिथ 5 : वजाइना से प्राकृतिक रूप से दुर्गंध आती है।

वजाइना से प्राकृतिक रूप से दुर्गंध आती है। यह भी एक अफवाह ही है। दरअसल, हर महिला के वजाइना में एक अलग गंध होती है। इसकी गंध महिलाओं के भोजन और पीएच लेवल पर निर्भर करता है। लेकिन वजाइना से दुर्गंध सिर्फ कोई इंफेक्शन होने पर या पीरियड्स के दौरान ही आती है। महिलाओं के वजाइना में कोई दुर्गंध नहीं होती है।

अगर आप भी इन सभी अफवाहों को सच मानती थीं, तो आज इनकी सच्चाई को जरूर जान लें। इससे आप किसी भ्रम में नहीं रहेंगी। साथ ही अगर वजाइना में कोई समस्या हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। 

Read More Articles on Womens Health in Hindi

Disclaimer