काेराेना वायरस का कप्पा वैरिएंट कितना खतरनाक है? जानें इस वैरिएंट के लक्षण और जरूरी बातें

Kappa Variant : देश में काेराेना वायरस के कप्पा वैरिएंट ने दस्तक दी है। जानें इसके लक्षण और कुछ जरूरी बातें 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jul 12, 2021Updated at: Jul 12, 2021
काेराेना वायरस का कप्पा वैरिएंट कितना खतरनाक है? जानें इस वैरिएंट के लक्षण और जरूरी बातें

देश में काेराेना वायरस (Coronavirus) के कप्पा वैरिएंट (Kappa Variant) ने दस्तक दी है। काेराेना वायरस की दूसरी लहर (Second Wave of Covid-19) में भले ही कमी देखने काे मिली हाे, लेकिन यह अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। अब विशेषज्ञाें के द्वारा तीसरी लहर (Third Wave of Covid-19) आने की बात कही जा रही है। इसे लेकर सरकार देशभर में अभी से सख्ती दिखा रही हैं और तीसरी लहर काे टालने के लिए पर्याप्त कदम उठा रही हैं। इसी बीच देश में डेल्टा प्लस वैरिएंट के बाद अब  काेराेना वायरस के कप्पा वैरिएंट ने दस्तक दे दी है। इसने सरकार, डॉक्टराें और लाेगाें की चिंता बढ़ा दी है। कुछ राज्याें से इसके मामले सामने आने लगे हैं। कप्पा वैरिएंट ने लाेगाें के मन में डर पैदा कर दिया है।

kappa Variant

काेराेना वायरस के कप्पा वैरिएंट के मामले उत्तर प्रदेश में देखने काे मिले हैं। एक्सपर्ट्स का मानना है कि काेराेना के नए वैरिएंट्स खतरनाक साबित हाे सकते हैं। चलिए फैमिली फिजिशियन ऑफ इंडिया के जनरल फिजिशियन डॉक्टर रमन कुमार से जानते हैं काेराेना के नए वैरिएंट यानी कप्पा वैरिएंट के लक्षण, कारण और बचाव टिप्स के बारे में (Kappa Variant Symptoms Causes and Prevention Tips)।

इसे भी पढ़ें - काेराेना वायरस का कप्पा वैरिएंट कितना खतरनाक है? जानें इस वैरिएंट के लक्षण और जरूरी बातें

क्या है कप्पा वैरिएंट (What is Kappa Variant)

काेराेना वायरस की दूसरी लहर के बाद कप्पा वैरिएंट ने दस्तक दी है। कप्पा वैरिएंट काे B.1.617.1 के रूप में भी जाना जाता है। यह डबल म्यूटेंट वैरिएंट है, इसमें E484Q और L453R उत्परिवर्तन हैं। 

kappa variant symptoms

कप्पा वैरिएंट के लक्षण (Kappa Variant Symptoms)

कप्पा वैरिएंट के शुरुआती लक्षण काेराेना वायरस की तरह ही है। इसके साथ ही इसके माइल्ड और गंभीर लक्षण भी दूसरे म्यूटेंट या वैरिएंट की तरह की हाेगें। बच्चाें और वयरस्काें में काेराेना के लक्षणाें में अंतर देखने काे मिल सकता है। जानें कप्पा वैरिएंट के कुछ सामान्य लक्षण-

  • खांसी (Cough)
  • तेज बुखार (High Fever)
  • गले में खराश (Sore Throat)
  • नाक बहना (Running Nose)
  • बॉडी पेन (Body Pain)
  • थकावट (Exhaustion )
  • शरीर पर चकत्ते (Rashes on Body)
  • लाल आंखें (Red Eyes)

कप्पा वैरिएंट के कारण (Causes of Kappa Variant)

डॉक्टराें का कहना है कि कप्पा वैरिएंट काेई चिंता का कारण नहीं है। म्यूटेशन और वैरिएंट संक्रमण में सामान्य है। कप्पा वैरिएंट का इलाज संभव है, ऐसे में चिंतित हाेने या घबराने की काेई जरूरत नहीं है। इसमें शरीर पर चकत्ते नजर आ सकते हैं, लेकिन इसे हराया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें - क्या कोरोना का डेल्टा प्लस वैरिएंट है भारत में तीसरी लहर का संभावित कारण? जानें इस वैरिएंट के बारे में सबकुछ

कप्पा वैरिएंट से बचाव (Kappa Variant Prevention Tips)

काेराेना वायरस के नए कप्पा वैरिएंट से बचाव करने के लिए भी आपकाे काेविड-19 गाइडलाइंस का पूरा पालन करना बहुत जरूरी हाेता है। इससे आप इसके नए-नए वैरिएंट्स से अपना बचाव कर सकते हैं।

  • काेराेन वायरस के इस वैरिएंट से बचने के लिए आपकाे मास्क पहनना बहुत जरूरी है।
  • इसके लिए साेशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें। कम से कम दाे गज की दूरी बनाकर रखें।   
  • काेराेना वायरस से बचने के लिए आपकाे साफ-सफाई का भी ध्यान रखना चाहिए।
  • अनावश्यक घर से बाहर निकलने से बचें। बहुत जरूरी काम हाेने पर ही घर से बाहर निकलें।
  • बाहर निकलते वक्त डबल मास्क लगाकर रखें इसके लिए आप सर्जिकल, फैब्रिक मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अपने हाथाें काे बार-बार सैनिटाइज करते रहें।
  • बाहर से आने के बाद सामान काे अच्छे से संक्रमणमुक्त (Infection Free or Disinfect) करें ।
  • इससे अपना बचाव करने के लिए आप अपनी डाइट पर भी खास ध्यान दें। इससे आपका इम्यून सिस्टम मजबूत बनेगा।

डेल्टा वैरिएंट vs  कप्पा वैरिएंट (Delta Variant vs Kappa Variant)

काेराेना वायरस का डेल्टा वैरिएंट बहुत खतरनाक है। कप्पा वैरिएंट, डेल्टा वैरिएंट की तुलना में बहुत खतरनाक नहीं है। देश में कप्पा वैरिएंट के मामले भी सामने आने लगे हैं, इसलिए इसका खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में आपकाे वैक्सीन जरूर लगानी चाहिए। साथ ही इससे बचाव के लिए काेविड-19 की सभी गाइडलाइंस का पालन भी जरूर करें। 

अगर आपकाे काेराेना वायरस के काेई भी लक्षण नजर आए, ताे तुंरत आइसाेलेट हाे जाएं और अपनी जांच करवाएं। इसके साथ ही आप इससे बचाव के लिए काेराेना वैक्सीन भी जरूर लगवाएं। काेराेना वैक्सीन काेविड-19 के खतरे काे काफी हद तक कम कर देती है।

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer