स्टेमिना बढ़ाने के लिए रोज पिएं कलौंजी वाला दूध, जानें बनाने का तरीका और 5 फायदे

कलौंजी वाला दूध पुरुषों और महिलाओं की कई परेशानियों को कम कर सकता है। साथ ही इसे पीने से शरीर को कई अन्य लाभ भी मिलते हैं। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Aug 24, 2021
स्टेमिना बढ़ाने के लिए रोज पिएं कलौंजी वाला दूध, जानें बनाने का तरीका और 5 फायदे

कलौंजी गहरे काले रंग के छोटे-छोटे बीज होते हैं, जिनका इस्तेमाल सब्जी, सलाद, पराठे, पुलाव और अचार आदि में किया जाता है। बहुत से लोग कलौंजी का तेल बना कर बालों को काला करने के लिए भी इस्तेमाल करते हैं। तो, कुछ लोग इसे स्क्रब की तरह इस्तेमाल करते हैं। पर सबसे ज्यादा फायदा कलौंजी को कूट कर इसका पानी पीने से या दूध में मिला कर पीसे से होता है। बात अगर कलौंजी के दूध की करें तो ये शरीर के लिए कई तरह से फायदेमंद है। ये पुरुषों से लेकर महिलाओं तक की कई परेशानियों का रामबाण इलाज बन सकता है। इसके अलावा इसके सेवन से शरीर को कई पोषक तत्व मिलते हैं जैसे कि एंटीऑक्सीडेंट्स, कैल्शियम, ऑयरन, कॉपर, फास्फोरस और फोलिक एसिड। तो, आइए जानते हैं शरीर के लिए कलौंजी वाला दूध पीने के फायदे (Kalonji doodh health benefits) और इसे बनाने का तरीका।

Inside3kalonjidoodh

Image credit: Atlanova

कलौंजी वाला दूध पीने के फायदे -kalonji doodh ke fayde

1. स्टेमिना बढ़ता है

कलौंजी वाला दूध आपकी स्टेमिना बढ़ाने में तेजी से मदद कर सकता है। दरअसल, कलौंजी जब दूध के साथ मिलता है तो इनकी न्यूट्रिशल वैल्यू बढ़ा देता है। साथ ही इसके और दूध के कैलोरी मिल कर शरीर को इंस्टेंट एनर्जी देने में मदद करते हैं। इसके अलावा कलौंजी में आयरन की मात्रा ज्यादा होती है जो कि शरीर में खून की कमी को दूर करता है और कमजोरी को कम करता है। 

2. इम्यूनिटी बूस्टर है 

कलौंजी वाला दूध इम्यूनिटी बूस्टर है। दरअसल, कलौंजी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो कि आपको मौसमी बीमारियों से बचाए रखने में मदद करते हैं। साथ ही इसमें जिंक होता है जो कि इम्यून सेल्स को मजबूत करने में मदद करते हैं और बैक्टीरियल व वायरल बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है। इसलिए सर्दी-जुकाम होने पर आपको कलौंजी वाला दूध पीने की कोशिश जरूर करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें : पोर्क (Pork) खाने से सेहत को मिलते हैं ये 9 फायदे, जानें किन्हें अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए पोर्क

3. वेट लॉस में मददगार 

कलौंजी वाला दूध वजन घटाने वालों के लिए भी मददगार है। दरअसल, कलौंजी मेटाबोलिज्म को सही रखता है और इसे तेज बनाता है। मेटाबोलिज्म के तेज होने से शरीर में फैट जल्दी से पच जाता है जिससे तेजी से वजन घटाने में भी मदद मिलती है। इसके अलावा कलौंजी वाला दूध पीने का एक फायदा ये भी है कि ये पेट को भी साफ रखता है जिससे कब्ज की समस्या नहीं होती। 

4. पुरुषों के लिए फायदेमंद 

कलौंजी वाला दूध पुरुषों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसे पीने से पुरुषों में कमजोरी दूर हो जाती है वहीं ये फर्टिलिटी बढ़ाने में मददगार भी है। साथ ही जिन परुषों को पिता बनने में कोई परेशानी आ रही है वो भी इस दूध का सेवन रेगुलर कर सकते हैं। इसका एंटीऑक्सीडेंट गुण उनके सेक्सुअल हेल्थ को बेहतर बनाने में भी मदद करेगा। 

Inside1kalonji

इसे भी पढ़ें : नींबू के साथ भूलकर भी न करें इन चीजों का सेवन, सेहत को हो सकता है गंभीर नुकसान

5. महिलाओं के लिए फायदेमंद

प्रेग्नेंसी के दौरान कलौंजी वाला दूध पीने से महिलाओं का स्वास्थ्य अच्छा रहता है। इसके कारण महिलाओं में खून की कमी नहीं होती साथ ही इसका कैल्शियम बच्चे के हड्डियों के विकास में मदद करता है। कलौंजी की खास बात ये है कि ये ब्लड शुगर कंट्रोल करने के साथ ब्लड प्रेशर को भी हेल्दी रखने में मदद करता है जो कि प्रेग्नेंसी के दौरान, इससे पहले और बाद में भी हेल्दी रहना जरूरी है। इसके अलावा पीरियड्स में दर्द या पीएमएस जैसी प्रॉब्लम में भी कलौंजी वाला दूध बहुत फायदेमंद है। 

कलौंजी वाला दूध कैसे बनाएं-kalonji doodh recipe

साम्रगी

  • -कलौंजी 
  • -दूध
  • -गुड़

कलौंजी वाला दूध बनाने के लिए कलौंजी में छोटा सा गुड़ डाल कर इस कूट लें। अब दूध गर्म करें और उसमें इसे मिला लें। अब सोने से पहले इसे पिएं और सो जाएं। 

कलौंजी वाले दूध के कई फायदे और भी हैं। जैसे कि ये खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल)  को कम करने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा इसका एंटीबैक्टीरियल गुण बैक्टीरियल इंफेक्शन को भी कम करने में मदद करता है जिससे कि कई बार लोगों को स्किन इंफेक्शन की भी समस्याएं हो जाती हैं। साथ ही कलौंजी वाले दूध के रेगुलर सेवन से आपके आंखों का स्वास्थ्य, स्किन का स्वास्थ्य और बालों का स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है। हालांकि, अगर आपको कलौंजी वाला दूध नहीं पसंद तो, आप कलौंजी का पानी भी पी सकते हैं। 

Main Image credit: Ma Recipes

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer