सुबह खाली पेट मट्ठा पीने के 8 फायदे और नुकसान

खाली पेट मट्ठा पीने से सेहत को कई फायदे होते हैं लेकिन इसकी अधिकता सेहत के लिए नुकसानदेह भी हो सकती है। जानते हैं इसके फायदे और नुकसान

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jun 25, 2021Updated at: Jun 25, 2021
सुबह खाली पेट मट्ठा पीने के 8 फायदे और नुकसान

बहुत से लोग मट्ठा और छाछ दोनों को अलग समझ लेते हैं पर ऐसा नहीं है। दोनों में कोई अंतर नहीं है। मट्ठे की तासीर ठंडी होती है और ये स्वाद में खट्टा होता है। वहीं कुछ लोगों को बहुत अधिक खट्ठा मट्ठा पीने की आदत होती है। गर्मियों में इसका सेवन सेहत के लिए बेहद लाभदायक होता है। आमतौर पर लोग दोपहर के खाने के बाद मट्ठे का सेवन करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि खाली पेट भी मट्ठे का सेवन किया जा सकता है। ऐसा करने से सेहत को कई समस्याओं से दूर रखा जा सकता है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि खाली पेट मट्ठा पीने से सेहत को क्या-क्या फायदे होते हैं? साथ ही इसके नुकसान के बारे में भी जानेंगे? इसके अलावा हम ये भी जानेंगे कि घर पर मट्ठा अलग-अलग तरीकों से कैसे बनाया जा सकता है। इसके लिए हमने आयुर्वेद संजीवनी हर्बल क्लिनिक शकरपुर, लक्ष्मी नगर के आयुर्वेदाचार्य डॉ एम मुफिक (Ayurvedacharya Dr. M Mufik) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

 

1 - पाचन क्रिया होती है तंदुरुस्त

सुबह खाली पेट मट्ठा पीने से पाचन क्रिया तंदुरुस्त रहती है। वहीं जो लोग खाना खाने के बाद भारीपन महसूस करते हैं वह लोग खाली पेट मट्ठा पीने से अपनी इस समस्या से राहत पा सकते हैं। आप मट्ठे में अदरक का पाउडर भी मिला सकते हैं और खाली पेट इसका सेवन कर सकते हैं। ऐसा करने से पेट का दर्द, ऐंठन की समस्या आदि दूर होती है और पाचन तंत्र मजबूत होता है।

इसे भी पढ़ें- गर्मियों में मट्ठा का सेवन है लाभकारी, लेकिन इन 7 स्थितियों में कभी खाली पेट न पिएं मट्ठा वर्ना होगा नुकसान

2 - शरीर होता है डिटॉक्सिफाई

खाली पेट मट्ठा शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है। पेट की भीतरी परत पर कुछ ऐसे पदार्थ होते हैं जो परत को क्षति पहुंचा सकते हैं। ऐसे में खाली पेट मट्ठे का सेवन इन पदार्थों को बाहर निकालने में उपयोगी है। आप मट्ठे में जीरा, काली मिर्च और करी पत्ते को मिलाएं और इसका सेवन करें ऐसा करने से समस्या दूर हो जाएगी।

3 - पानी की कमी होती है पूरी

गर्मियों में अक्सर आपने देखा होगा कि अत्यधिक पसीना निकलने के कारण शरीर में डिहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है। ऐसे में खाली पेट मेथी का सेवन निर्जलीकरण की समस्या को दूर करता है। आप मट्ठे में नमक मिलाएं और उसका सेवन करें। ऐसा करने से शरीर हाइड्रेटेड रहेगा।

इसे भी पढ़ें- छाछ (मट्ठा) और लस्‍सी में कौन सा पेय है ज्‍यादा फायदेमंद, पीने से पहले ध्‍यान रखें ये बातें

4 - विटामिन की कमी को करता है पूरा

शरीर में अगर जरूरी विटामिन जैसे विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन डी आदि की कमी हो जाए तो त्वचा की, बाल की, नाखून की, खून की कमी, इम्यून सिस्टम कमजोर आदि समस्या पैदा हो जाती है। ऐसे में खाली पेट छाछ का सेवन शरीर में विटामिन डी की कमी को पूरा करता है, जिससे इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है साथ ही एनीमिया जैसी बीमारी से भी छुटकारा मिल सकता है।

5 - कोलेस्ट्रोल करता है नियंत्रित

खाली पेट मट्ठे का सेवन कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में उपयोगी है। इसके अंदर पाए जाने वाले पोष्टिक तत्व उच्च कोलेस्ट्रॉल की समस्या से छुटकारा दिलाते हैं। ऐसे में नियमित रूप से खाली पेट एक गिलास मट्ठे का सेवन करें। ध्यान रहे इसकी अधिकता कोलेस्ट्रोल को बढ़ा भी सकती है। ऐसे में सबसे पहले मट्ठे की सीमित मात्रा का ज्ञान लें। उसके बाद इसका सेवन करें।

6 - वजन कम करने में है उपयोगी

खाली पेट एक गिलास मट्ठे का सेवन करने से पेट भरा हुआ महसूस होता है। ऐसे में व्यक्ति कम खाना खाता है और उसे जरूरी पोषक तत्व मिल जाते हैं। साथ ही व्यक्ति ऊर्जावान महसूस करता है। मट्ठा शरीर को कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, प्रोटीन आदि जरूरी पोषक तत्व देता है और वजन कम करने में उपयोगी है।

इसे भी पढ़ें- छाछ या लस्सीः जानें इनमें से वजन घटाने के लिए क्या है ज्यादा हेल्दी और इन्हें पीने के सभी फायदे

7 - दस्त की समस्या को करे दूर

  • दस्त की समस्या को दूर करने में खाली पेट मट्ठे का सेवन बेहद उपयोगी है। 
  • ऐसे में सुबह एक गिलास मट्ठा लें और उसमें सोंठ का पाउडर मिलाएं। 
  • अब बने मिश्रण का सेवन करें। ऐसा करने से दस्त की समस्या ठीक हो जाएगी।

8 - एसिडिटी से मिलती है राहत

एसिडिटी की समस्या यानी पेट में जलन। गर्मियों में इस समस्या से ज्यादातर लोग परेशान रहते हैं। अगर आप भी एसिडिटी की समस्या से परेशान हैं तो खाली पेट मट्ठे का सेवन इस समस्या को दूर करने में उपयोगी है। ये एसिड रिफ्लक्स को दूर कर जलन में राहत पहुंचाता है।

इसे भी पढ़ें- कब्ज और बदहजमी से हैं परेशान? सोते समय गर्म दूध की जगह पिएं ये खास छाछ

घर पर छाछ कैसे बनाएं

घर पर मट्ठा कई तरीकों से तैयार किया जा सकता है- 

  • आप दही से मक्खन निकालकर और पानी मिलाकर छाछ तैयार कर सकते हैं। 
  • आप केवल दही को अच्छे से फैट कर बिना पानी मिलाए उसका घोल तैयार कर सकते हैं।
  • दही में एक चौथाई पानी मिलाकर मट्ठा तैयार कर सकते हैं। 
  • आप आधा कप पानी औऱ आधा कप दही मिलाकर भी मट्ठा तैयार कर सकते हैं। 

खाली पेट मट्ठा पीने के नुकसान

गर्मी में खाली पेट मट्ठा पीने से कुछ नुकसानों का सामना भी करना पड़ सकता है-

  1. जिन लोगों को गुर्दे की समस्या होती है वह खाली पेट मट्ठे का सेवन ना करें।
  2. जो लोग त्वचा की समस्या जैसे एक्जिमा से ग्रस्त हैं वे भी मट्ठे का सेवन ना करें।
  3. जिन लोगों के शरीर में अत्यधिक कमजोरी है या जिन लोगों को बुखार है व भी मट्ठे का सेवन ना करें। ऐसा इसलिए क्योंकि मट्ठे की तासीर ठंडी होती है और यह बुखार को बढ़ा सकता है।
  4. अधिक मट्ठे के सेवन से कोलेस्ट्रॉल बढ़ भी सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसके अंदर सैचुरेटेड फैट मौजूद होता है।
  5. यदि आप सर्दी, खांसी से परेशान हैं तो खाली पेट मट्ठे का सेवन ना करें।
  6. अगर अधिक मात्रा में मट्ठे का सेवन किया जाए तो यह उल्टी की समस्या, डायरिया की समस्या भी पैदा कर सकता है।

नोट - ऊपर बताएगा बिंदु से पता चलता है कि खाली पेट मट्ठा पीने से सेहत को कई फायदे होते हैं। लेकिन इसकी अधिकता सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकती है। ऐसे में सबसे पहले मट्ठे की सीमित मात्रा की जानकारी लें। उसके बाद ही इसे अपनी डाइट में जोड़ें। यदि आप किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं या कोई स्पेशल डाइट फॉलो कर रहे हैं तब भी अपनी डाइट में मट्ठे को जोड़ने से पहले एक बार एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। गर्भवती महिलाएं या स्तनपान कराने वाली महिलाएं भी मट्ठे का सेवन करने से पहले एक्सपर्ट की राय लें।

Read More Articles on healthy diet in hindi

Disclaimer