गर्मियों में मट्ठा का सेवन है लाभकारी, लेकिन इन 7 स्थितियों में कभी खाली पेट न पिएं मट्ठा वर्ना होगा नुकसान

खाली पेट मट्ठा का सेवन फायदेमंद हो सकता है। लेकिन कुछ लोगों को खाली पेट मट्ठे के सेवन से बचना चाहिए। आइए जानते हैं इस बारे में- 

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Mar 17, 2021 11:04 IST
गर्मियों में मट्ठा का सेवन है लाभकारी, लेकिन इन 7 स्थितियों में कभी खाली पेट न पिएं मट्ठा वर्ना होगा नुकसान

गर्मियों में मट्ठा या छाछ का सेवन लगभग सभी लोग करते हैं। दही को मथ कर तैयार किया गया मट्ठे का स्वाद लोगों को गर्मियों में काफी ज्यादा लुभाता है। मट्ठे में मौजूद पोषक तत्व सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। दूध की तुलना में मट्ठा में काफी कम वसा होता है। यह आपके शरीर के मोटापे को कम करने में असरदार होता है। साथ ही पाचन को दुरुस्त करने में मट्ठा काफी फायदेमंद है। गर्मियों में चाय-कॉफी के बदले मट्ठा का विकल्प काफी बेहतरीन साबित हो सता है। चाय-कॉफी की तुलना में यह आपके लिए अधिक फायदेमंद भी है। मट्ठा में गुड बैक्टीरिया मौजूद होते हैं, जो पाचन के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं। साथ ही इसमें कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है, जो कब्ज से पीड़ित रोगियों के लिए फायदेमंद है। सुबह 1 गिलास मट्ठा का सेवन आपके लिए बेहतर हो सकता है। लेकिन आपको बता दें कि मट्ठा का सेवन कुछ लोगों और परिस्थितियों में  करना नुकसानदेय हो सकता है। आइए जानते हैं किन लोगों के लिए मट्ठे का सेवन नुकसानदेय (Side Effects of Matha) हो सकता है।

इन लोगों को खाली पेट नहीं पीना चाहिए मट्ठा

1. सर्दी-जुकाम की समस्या

सर्दी-जुकाम से पीड़ित लोगों को खाली पेट मट्ठे के सेवन से बचना चाहिए। क्योंकि मट्ठे की तासीर ठंडी होती है, जिससे इन लोगों की परेशानी काफी ज्यादा बढ़ सकती है। साथ ही इसके कारण आपको बलगम और खांसी जैसी समस्या भी हो सकती है।

इसे भी पढ़ें - गर्मी में लस्सी पीना है सेहत के लिए फायदेमंद, एक्सपर्ट से जानें दही लस्सी के 9 फायदे और सावधानियां

2. डायरिया और मिचली

डायरिया और उल्टी की शिकायत होने पर खाली पेट मट्ठे के सेवन से बचें। साथ ही अगर आप मट्ठा का सेवन जरूरत से ज्यादा करते हैं, तो आपकी यह परेशानी काफी ज्यादा बढ़ सकती है। 

3. हाई कोलेस्ट्रॉल मरीज

हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों को भी मट्ठे के सेवन से बचना चाहिए। दरअसल, मट्ठा सैचुरेटेड फैट होता है, जो कुछ गंभीर परिस्थियों में कोलेस्ट्रॉल लेवल को और अधिक बढ़ा सकता है। इसलिए मट्ठा का सेवन करने से पहले कुछ खा जरूर लें।

4. बुखार और कमजोरी

बुखार और कमजोरी महसूस होने पर मट्ठा का सेवन करने से बचें। बुखार में अगर आप मट्ठा के सवन करते हैं, तो इससे आपके शरीर का तामपान बढ़ सकता है। साथ ही आपको सर्दी-जुकाम जैसी परेशानी हो सकती है।

इसे भी पढ़ें - कुलथी की दाल है किडनी की पथरी के रोगियों के लिए वरदान, जानें इसके फायदे और सेवन का सही तरीका

5. स्किन एलर्जी

स्किन एलर्जी से शिकार लोगों को भी खाली पेट मट्ठे के सेवन से बचना चाहिए। एक्जिमा रोगी अगर मट्ठे का सेवन करते हैं, तो इससे उनकी परेशानी बढ़ सकती है। इसलिए ऐसे मरीजों को मट्ठे या छाछ के सेवन से बचना चाहिए।

6. किडनी की परेशानी

किडनी रोगियों को भी मट्ठे का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे गुर्दे की परेशानी बढ़ सकती है। खाली पेट मट्ठा पीने से किडनी की समस्या गंभीर रूप धारण कर सकती है। इसलिए मट्ठा का सेवन हमेशा दोपहर में ही करें।

7. गैस की परेशानी

गैस की समस्या के शिकार लोगों को भी खाली पेट मट्ठे के सेवन से बचना चाहिए। क्योंकि इसमें मौजूद फैट आपके पेट को और अधिक भारी कर सकता है। जिससे गैस की परेशानी और अधिक बढ़ सकती है। इसलिए गैस्टिक रोगियों को खाली पेट मट्ठे के सेवन से बचना चाहिए।

 

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

 

 
Disclaimer