अक्टूबर-नवंबर में बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले, केंद्र सरकार ने राज्यों को दिया अल्टीमेटम

देश में कोरोनावायरस की स्थिति को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अक्टूबर और नवम्बर माह के दौरान राज्य सरकारों को अधिक ध्यान देने को कहा है।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Sep 17, 2021
अक्टूबर-नवंबर में बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले, केंद्र सरकार ने राज्यों को दिया अल्टीमेटम

देश में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। भले ही रोजाना कोरोना से संक्रमित मामलों में गिरावट देखी गयी है लेकिन यह संकट अभी भी बदस्तूर जारी है। कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए भारत सरकार की टास्क फोर्स लगातार काम कर रही है। केंद्र और राज्य सरकार एकसाथ मिलकर टीकाकरण अभियान को तेजी से आगे बढ़ा रहे हैं। इन सबके बीच कोरोनावायरस संक्रमण की तीसरी लहर से बचाव के लिए भी तैयारियां जारी हैं। भारत के कुछ राज्यों में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार ने चिंता व्यक्त की है और राज्यों को तीसरी लहर के खतरे को लेकर आगाह भी किया है। केंद्र सरकार की तरफ से कहा गया है कि त्योहारों के सीजन को देखते हुए राज्यों को अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान तीसरी लहर का जिक्र किये बिना यह कहा है कि अक्टूबर और नवम्बर माह में कोरोना से मामले बढ़ सकते हैं।

केरल में घट रहे मामले लेकिन खतरा बरकरार

coronavirus-in-india-update

(image source - freepik.com)

भारत में कोरोनावायरस की स्थिति की जानकारी देते हुए ICMR के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव ने बताया कि केरल में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी देखने को मिली है और उम्मीद है कि आगे ये मामले और भी कम होंगे। लेकिन इन सबके बीच चिंता अभी भी बनी हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जानकारी देते हुए बताया गया कि केरल में भले ही मामले कम हुए हों लेकिन अभी भी यहां पर पूरे देश में रोजाना आने वाले कुल मामलों के 68 प्रतिशत मामले आ रहे हैं। प्रेस कांफ्रेंस में जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि केरल में अभी 1.99 लाख एक्टिव केस कोरोनावायरस के हैं। इसके अलावा पांच अन्य राज्यों मिजोरम, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु व महाराष्ट्र में 10 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हैं।

इसे भी पढ़ें : स्टडी: कोरोना के मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने से बचा सकती है ये एंटीबॉडी कॉकटेल

coronavirus-in-india-update

(image source - freepik.com)

आने वाले दो महीने हैं बहुत महत्वपूर्ण

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस में नीति आयोग के सदस्य डॉ वी के पॉल ने कहा कि आने वाले दो से तीन महीने कोरोनावायरस की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण हैं। इस दौरान देश में अगर कोरोना के मामलों में उछाल देखने को मिलता है तो उसे तुरंत रोकने के प्रयास करने होंगे। जानकारी देते हुए डॉ पॉल ने कहा कि अक्टूबर और नवम्बर के महीने में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं। डॉ पॉल ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि, "कोरोना को लेकर जो आंकड़े जो पब्लिक डोमेन में हैं वह पर्याप्त हैं। आने वाले महीने त्योहारों और फ्लू के महीने हैं। इस दौरान हमें विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।"

वैक्सीन ही है बचाव

कोरोनावायरस की स्थितियों की जानकारी देते हुए प्रेस कांफ्रेंस के दौरान आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव ने टीकाकरण अभियान पर जोर देने की बात कही। उन्होनें कहा कि कोरोना के खतरे को कम करने के लिए टीकाकरण बहुत जरूरी है। डॉ भार्गव ने कहा कि जहां एक तरफ सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर दिया जाना चाहिए वहीं टीकाकरण अभियान पर भी राज्यों को ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है। प्रशासन को भविष्य में कोरोना के मामलों कमें बढ़ोत्तरी होने से बचने के लिए इन दो चीजों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें : कैसे पहचानें नकली कोरोना वैक्सीन? केंद्र सरकार ने जारी की असली वैक्सीन की पहचान से जुड़ी गाइडलाइंस

coronavirus-in-india-update

(image source - freepik.com)

देश में कोरोनावायरस संक्रमण की स्थिति

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दिए गए आंकड़ों के अनुसार देश में गुरुवार को कोरोना के 30,570 नए मामले सामने आये थे जिसके बाद कोरोना से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 3,33,47,325 हो गयी। कुल मामलों में 3,42,923 एक्टिव मामले हैं। कोरोनावायरस महामारी के कारण मरने वाले मरीजों की संख्या 4,43,928 हो गयी है। वहीं पर अगर हम वैक्सीनेशन की बात करें तो देश में तेजी से वैक्सीनेशन प्रोग्राम चलाया जा रहा है। सरकार का लक्ष्य जल्दी से जल्दी ज्यादा लोगों को वैक्सीन के दोनों डोज देने का है। देश में फिलहाल 18 साल से अधिक उम्र वाले लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। अब तक देश में कुल 77,24,25,744 लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है।

(main image source - freepik.com)

Read More Articles on Health News in Hindi

Disclaimer