कैसे पहचानें नकली कोरोना वैक्सीन? केंद्र सरकार ने जारी की असली वैक्सीन की पहचान से जुड़ी गाइडलाइंस

केंद्र सरकार ने असली काेविड-19 वैक्सीन काे लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं। इससे राज्य और केंद्र शासित प्रदेश आसानी से असली वैक्सीन की पहचान कर सकते हैं।  

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Sep 06, 2021Updated at: Sep 06, 2021
कैसे पहचानें नकली कोरोना वैक्सीन? केंद्र सरकार ने जारी की असली वैक्सीन की पहचान से जुड़ी गाइडलाइंस

काेराेना वायरस से बचाव के लिए  दुनियाभर में बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान चल रहा है। देश में राेजाना लाखाें लाेगाें काे वैक्सीन लगाई जा रही हैं, ताकि काेराेना के मामलाें में लगातार कमी की जा सके। वर्तमान में देश में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड, भारत बायोटेक की कोवैक्सिन और रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी लगाए जा रहे हैं। जल्द ही अन्य कंपनियाें की काेराेना वैक्सीन भी देश में उपलब्ध हाे सकती है। इसी बीच केंद्र सरकार ने सभी राज्याें और केंद्र शासित प्रदेशाें काे काेराेना वैक्सीन काे लेकर कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं, जिसकी मदद से स्वास्थ्यकर्मी असली काेराेना वैक्सीन की आसानी से पहचान कर सकते हैं।

दरअसल, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने दक्षिण-पूर्व एशिया और अफ्रीका में नकली काेविशील्ड मिलने पर चिंता जताई है। जिसके बाद केंद्र सरकार ने राज्य सरकाराें और केंद्र शासित प्रदेशाें काे  काेविड-19 वैक्सीन काे पहचानने में मदद करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। केंद्र सरकार ने देश में इस्तेमाल किए जा रहे काेराेना वैक्सीन की पहचान करने के लिए उनके लेबल, रंग और अन्य विवरणाें के आधार पर मापदंड़ाें की एक सूची साझा की है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार देश में अभी तक कोविड -19 के खिलाफ 684.6 मिलियन टीके लगाए जा चुके हैं। काेराेना के नए-नए वैरिएंट भी दस्तक दे रहे हैं, इसमें डेल्टा वैरिएंट और कप्पा वैरिएंट समेत कई वैरिएंट शामिल हैं। 

covaxin

(Image Source : gavi.org)

ऐसे करें काेवैक्सिन की पहचान (How to Identify Real Covaxin)

  • सरकारी दिशानिर्देशाें के अनुसार काेवैक्सिन लेबल पर एक अदृश्य यूवी हेल्किस या डीएनए जैसी संरचना हाेती है। यह यूवी प्रकाश के तहत दिखाई देती है।
  • लेबल में छिपा माइक्रो टेक्स्ट डॉट्स का दावा करता है। जिसे Covaxin लिखा जाता है। 
  • Covaxin में X में ग्रीन फॉइल प्रभाव हाेता है।
  • काेवैक्सीन पर हाेलाेग्राफिक प्रभाव हाेता है।

काेविशील्ड की ऐसे करें पहचान (How to Identify Real Covishield Vaccine)

  • केंद्र सरकार की गाइडलाइंस में काेविशील्ड की पहचान के लिए बताया गया है कि असली काेविशील्ड पर एसआईआई (SII) उत्पाद का लेबल शेड गहरे हरे रंग का है। 
  • इसके अलावा एल्यूमीनियम फ्लिप-ऑफ सील का रंग भी गहरा हरा है।
  • असली काेविशील्ड वैक्सीन पर ट्रेडमार्क के साथ ब्रांड का नाम भी उल्लेखित किया गया है।
  • इसमें लिख गए अक्षराें काे अधिक स्पष्ट और पठनीय बनाने के लिए सफेद स्याही से मुद्रित किया गया है।
  • जेनेरिक नाम का टेक्स्ट फॉन्ट अन-बोल्ड में है।
  • काेविशील्ड नॉट फॉर सेल के साथ ओवरप्रिंटेड है।
  • एसआईआई लाेगाे एक अद्वितीय काेण और स्थिति पर मुद्रित हाेता है, जिसे सिर्फ कुछ चुनिंदा लाेगाें के द्वारा ही पहचाना जा सकता है। जाे सटीक विवरण से अवगत हैं।
  • इसके पूरे लेबल को एक विशेष मधुकोश प्रभाव दिया गया है, जो केवल एक विशिष्ट कोण पर दिखाई देता है।
sputniv v
 
(Image Source : cnbc.com)

स्पूतनिक वी की सही पहचान (How to Identify Real Sputnik V Vaccine)

  • देश में काेराेना के खिलाफ रूस की स्पूतनिक वी भी लगाई जा रही है। इसलिए सरकार ने स्पूतनिक वी की सही पहचान करने के लिए भी दिशानिर्देश जारी किए हैं।
  • इसमें दाे थाेक निर्माण स्थलाें के लिए अलग-अलग लेबल हैं। 
  • स्पूतनिक वी के अन्य सभी जानकारी और डिजाइन एक समान है।
  • यह रूस की वैक्सीन है, इसमें निर्माता का नाम अलग है।
  • इसमें अंग्रेजी लेबल आयातित उत्पादों के लिए 5 ampoule पैक के कार्टन के आगे और पीछे उपलब्ध है। वैक्सीन ampoule पर प्राथमिक लेबल सहित अन्य सभी पक्ष रूसी लिपि में हैं।
स्वास्थ्यकर्मी ऊपर बताए गए सरकारी गाइडलाइंस काे ध्यान में रखकर असली काेराेना वैक्सीन की पहचान कर सकते हैं। काेराेना के खिलाफ जंग जीतने के लिए लाेगाें काे सही या असली वैक्सीन लगना बेहद जरूरी है। काेवैक्सिन, काेविशील्ड और स्पूतनिक वी तीनाें ही काेराेना के खिलाफ लड़ाई में असरदार वैक्सीन हैं।
 

(Main Image Source : clinicaltrialsarena.com, chosun.com)

Read More Articles on Health News in Hindi

Disclaimer