प्रेग्नेंट हैं तो कब लगवाएं कोरोना की वैक्‍सीन? जानें प्रेग्नेंसी और वैक्‍सीन से जुड़े जरूरी सवालों के जवाब

अगर आप गर्भवती हैं तो जानें कोव‍िड वैक्‍सीन से जुड़े जरूरी सवालों के जवाब जो आपको गर्भवस्‍था के दौरान कोव‍िड से लड़ने में मददगार साब‍ित होंगे

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jul 05, 2021Updated at: Dec 08, 2021
प्रेग्नेंट हैं तो कब लगवाएं कोरोना की वैक्‍सीन? जानें प्रेग्नेंसी और वैक्‍सीन से जुड़े जरूरी सवालों के जवाब

गर्भवस्‍था के कौनसे महीने में कोव‍िड की वैक्‍सीन लगवानी चाहिए? आपको गर्भवस्‍था की दूसरी या तीसरी त‍िमाही में कोव‍िड वैक्‍सीन लगवानी चाह‍िए। कोव‍िड को ध्‍यान में रखते हुए अब भारत में भी गर्भवती मह‍िलाओं को कोव‍िड-19 का टीका लगाया जाएगा। केंद्र की ओर से जारी की गई गाइउलाइन पर गौर करें तो गर्भावस्‍था में भी अब टीका लगाया जाएगा। भारत से पहले चीन, ब्र‍िटेन, अमेर‍िका जैसे देश गर्भवती मह‍िलाओं को कोव‍िड वैक्‍सीन लगाने की शुरूआत कर चुके हैं। केंद्र ने कई सफल परीक्षण के बाद इस न‍ियम को लागू क‍िया है। अगर आप गर्भवती हैं और आपको कोव‍िड हुआ है तो कुछ समय रुककर आप वैक्‍सीन लगवा सकती हैं। कोव‍िड वैक्‍सीन और उससे जुड़े अन्‍य सवालों के जवाब जानने के ल‍िए पूरा लेख पढ़ें। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने मुंबई के फोर्ट‍िस अस्‍पताल की स‍िन‍ियर कंस्‍लटेंट स्‍त्री रोग व‍िशेषज्ञ और गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट डॉ सोनल कुमता और हीरानंदानी अस्‍पताल की कंस्‍लटेंट गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट और स्‍त्री रोग व‍िशेषज्ञ डॉ मंज‍िरी मेहता से बात की।

covid vaccine in pregnancy

1. गर्भवस्‍था में कोव‍िड वैक्‍सीन लगवाने की क्‍या अहमि‍यत है? (Importance of covid vaccine during pregnancy)

गर्भवस्‍था में रोग प्रत‍िरोधक क्षमता कम हो जाती है ऐसे में गर्भवती मह‍िलाओं को कोव‍िड का खतरा ज्‍यादा है इसल‍िए उनके ल‍िए टीकाकरण का महत्‍व आम मह‍िला से ज्‍यादा है। कई मामलों में देखा गया क‍ि कोव‍िड संक्रमण के कारण मां की सेहत पर बुरा असर पड़ा इसल‍िए मां और होने वाले बच्‍चे के बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के ल‍िए कोव‍िड टीकाकरण जरूरी है।

2. गर्भवस्‍था के कौनसे महीने में कोव‍िड वैक्‍सीन लगवानी चाह‍िए? (Covid vaccine and pregnancy)

आपको गर्भवस्‍था की दूसरी या तीसरी त‍िमाही के दौरान कोव‍िड वैक्‍सीन लगवानी चाह‍िए। इस समय दो वैक्‍सीन लगाई जा रही है कोव‍िशील्‍ड और कोवाक्‍सीन। गर्भवती मह‍िलाएं दोनों ही वैक्‍सीन लगवा सकती हैं, ज‍िस वैक्‍सीन का पहला डोज़ आपने ल‍िया है उसी का दूसरा डोज आपको लगाया जाएगा। अगर आप गर्भवती हैं और अब कोव‍िड को हरा चुकी हैं यानी कोव‍िड से उबर गई हैं तो आप र‍िकवरी के आठ हफ्तों बाद वैक्‍सीन लगवा सकती हैं।

3. स्‍तनपान करवाने वाली मह‍िलाएं भी कोव‍िड की वैक्‍सीन लगवा सकती हैं? (Lacting mothers and covid vaccine)

covid vaccine for lacting mothers

जो मांएं अपने बच्‍चों को स्‍तनपान करवाती हैं वो भी अब कोव‍िड वैक्‍सीन लगवा सकती हैं। डॉक्‍टरों की मानें तो स्‍तनपान करवाने वाली मांएं और उनके बच्‍चों के ल‍िए कोव‍िड की वैक्‍सीन पूरी तरह से सेफ है। स्‍तनपान करवाने वाली मांएं वैक्‍सीन लगने वाले द‍िन वैक्‍सीन लगवाने से पहले और बाद में आप बच्‍चे को आराम से स्‍तनपान करवा सकती हैं।

इसे भी पढ़ें- मॉडर्ना वैक्सीन को मिली भारत में इमरजेंसी प्रयोग की मंजूरी, और अब गर्भवती महिलाएं भी लगवा सकेंगी कोविड का टीका

4. गर्भवती मह‍िला को कोव‍िड हुआ है तो वैक्‍सीन कब लगावाएं? (Vaccine after covid infection in pregnancy)

अगर गर्भवती मह‍िला को पहले कोव‍िड हो चुका है तो ड‍िलीवरी के बाद उन्‍हें वैक्‍सीन लगनी चाह‍िए। अगर आप मां बनने का प्‍लान कर रही हैं तो होने वाले प‍िता या मां दोनों वैक्‍सीन लगवा सकते हैं। अभी तक ऐसा कोई नहीं है ज‍िसमें कोव‍िड वैक्‍सीन लगने के कारण इंफर्ट‍िल‍िटी का कोई केस देखा गया हो। इस समय आपको कोव‍िड से बचाव के ल‍िए वैक्‍सीन लगवाना जरूरी है। ज‍िन मह‍िलाओं ने गर्भावस्‍था में एक भी बार चेकअप नहीं करवाया है वो वैक्‍सीन लगवाने से पहले अपने गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट से संपर्क करें।

5. गर्भवती मह‍िलाओं के ल‍िए कोव‍िड वैक्‍सीन सेफ है? (Covid vaccine is safe for pregnant women or not)

गर्भवती मह‍िलाओं के ल‍िए कोव‍िड की वैक्‍सीन ब‍िल्‍कुल सेफ है। कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए आपको जल्‍द से जल्‍द वैक्‍सीन लगवा लेनी चाह‍िए। क‍िसी भी अन्‍य वैक्‍सीन की तरह गर्भवती मह‍िला को भी वैक्‍सीन लेने के बाद हल्‍का बुखार, कोव‍िड वैक्‍सीन से हाथ में दर्द या सूजन की श‍िकायत हो सकती है पर दो से तीन द‍िनों में आप ब‍िल्‍कुल सामान्‍य हो जाएंगी।

6. कोव‍िड वैक्‍सीन के ल‍िए गर्भवती मह‍िलाएं रज‍िस्‍ट्रेशन कैसे करवाएं? (Registration for covid vaccine during pregnancy)

गर्भवती मह‍िलाएं कोव‍िन पोर्टल पर जाकर रज‍िस्‍ट्रेशन करवाकर कोव‍िड वैक्‍सीन लगवा सकती हैं। वैसे तो ऑनस्‍पॉट पंजीकरण भी क‍िया जाता है पर भीड़ से बचने के ल‍िए आप पहले से पंजीकरण करवाकर अपने पसंद के सेंटर पर पूरी सुरक्षा के साथ कोव‍िड वैक्‍सीन लगवाएं। कोव‍िड वैक्‍सीन लगवाते समय आप मास्‍क पहनें या बाहर जाएं तो मास्‍क लगाएं। आप घर पर भी मास्‍क लगाकर रह सकती हैं, इससे आप ही की सेफ्टी सुन‍िश्‍च‍ित होगी। अपने हाथों को समय-समय पर धोती रहें और ऐसी जगह न जाएं ज्‍यादा भीड़ हो।

इसे भी पढ़ें- कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर WHO ने जताई चिंता और दिए सुझाव, जानें क्या वैक्सीन से होगा बचाव?

7. गर्भवती मह‍िला को कोव‍िड वैक्‍सीन लगने के बाद और पहले क‍िन बातों का ध्‍यान रखना चाह‍िए? (Precaution tips for pregnant women before and after vaccination)

vaccine precaution tips

वैक्‍सीन लगने से पहले गर्भवती मह‍िलाएं इन बातों का ध्‍यान रखें: 

  • अगर आपकी तबीयत सामान्‍य है तभी स्‍लॉट बुक करके वैक्‍सीन लगवाएं, तबीयत खराब है तो ठीक होने का इंतजार करें।
  • वैक्‍सीन लगवाने से पहले आप नींद पूरी करके उठें ज‍िससे माइंड फ्रेश हो और वैक्‍सीन को लेकर आपके मन में च‍िंता न रहे।
  • अगर आप क‍िसी बीमारी की दवा खाती हैं तो रोज की तरह दवाओं को वैक्‍सीन लगने वाले द‍िन भी खा सकती हैं।
  • वैक्‍सीन लगवाने से पहले आप खाकर जाएं, खाली पेट वैक्‍सीन नहीं लगवानी चाह‍िए। आप हरी सब्‍ज‍ियां और हल्‍का खाना खाकर जाएं।

वैक्‍सीन लगने के बाद गर्भवती मह‍िलाएं इन बातों का ध्‍यान रखें:

  • वैक्‍सीन लगने के बाद कुछ देर रुककर फ‍िर सेंटर से जाएं, आपको ये सुन‍िश्‍च‍ित कर लेना चाह‍िए क‍ि कहीं कोई नकारात्‍मक लक्षण तो नहीं हैं।
  • वैक्‍सीन लगने के बाद अगर टीकाकरण के लक्षण दो से तीन दिनों में न जाएं तो डॉक्‍टर से सलाह लें, कुछ लोगों को एक हफ्ते तक हाथ में दर्द का अहसास रहता है हालांक‍ि वो खुद ही ठीक भी हो जाता है।
  • वैक्‍सीन लगने के बाद आप खुद को हाइड्रेट रखें, अपनी दवाओं को रोज की तरह लेती रहें।
  • अगर आप कोव‍िड वैक्‍सीन लगवाने के बाद कोई अन्‍य बीमारी का टीका या वैक्‍सीन लगवाने जा रही हैं तो डॉक्‍टर से सलाह लें, कोव‍िड वैक्‍सीन के बाद अन्‍य वैक्‍सीन लगवाने के लि‍ए आपको गैप करना पड़ सकता है।

अगर ऐसी कोई मह‍िला है ज‍िसे कोव‍िड संक्रमण हुआ है तो उन्‍हें घर पर आईसोलेट करके कोव‍िड न‍ियमों का पालन करें और अगर गर्भवती मह‍िला, मोटापे, हाई बीपी या अन्‍य बीमारी का श‍िकार है तो उसे कोव‍िड होने पर नजदीकी अस्‍पताल में ले जाएं या डॉक्‍टर से सलाह लेकर भर्ती करवाएं।

Read more on Women Health in Hindi 

Disclaimer