चिलबिल की छाल और पत्ते के फायदे: जोड़ों में दर्द और डायबिटीज जैसी 5 समस्याओं में करें चिलबिल का प्रयोग

च‍िलब‍िल एक औषधीय पेड़ है ज‍िसके पत्‍ते और छाल का इस्‍तेमाल कई बीमार‍ियों को दूर करने के ल‍िए क‍िया जाता है, आइए जानते हैं इसके बारे में 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jul 26, 2021
चिलबिल की छाल और पत्ते के फायदे: जोड़ों में दर्द और डायबिटीज जैसी 5 समस्याओं में करें चिलबिल का प्रयोग

च‍िलब‍ि‍ल के फायदे क्‍या हैं? च‍िलब‍िल को आप औषधीय पेड़ कह सकते हैं ज‍िसकी छाल और पत्‍तों के इस्तेमाल से कई तरह की बीमारियां दूर की जाती हैं ज‍िनमें गठ‍िया रोग, डायब‍िटीज, एक्‍ज‍िमा, पीलिया आद‍ि बीमार‍ियां दूर की जाती हैं। च‍िलब‍िल पेड़ की पत्‍त‍ियां, बीज और छाल का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। च‍िलब‍िल पेड़ की छाल भूरे और सफेद रंग की होती है और पत्‍तों से तीखी स्‍मेल आती है। आप च‍िलब‍िल की पत्‍ति‍यों का लेप, छाल का चूरण, काढ़ा आद‍ि बनाकर इस्‍तेमाल कर सकते हैं। च‍िलब‍िल के कई नाम हैं इसे कान्‍जो, वाओला, स‍िलब‍िल, कांजू भी कहा जाता है। इस लेख में हम रोगों में च‍िलब‍िल के फायदे और च‍िलब‍िल को इस्‍तेमाल करने के तरीकों पर बात करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की। 

chilbil leaves

1. पील‍िया है तो इस्‍तेमाल करें च‍िलब‍िल (Benefits of Chilbil to cure fever)

पील‍िया जैसी बीमार‍ी का इलाज डॉक्‍टर द्वारा ही क‍िया जाता है पर अगर आप डॉक्‍टर की पहुंच से दूर हैं और मरीज के शरीर में पील‍िया के लक्षण नजर आ रहे हैं तो आप आप च‍िलब‍िल की पत्‍त‍ियों को पीस लें और उसमें काली म‍िर्च और लहसुन को पीसकर म‍िला लें, अब इसे मरीज को दें तो पील‍िया में फायेदा करेगी। सामान्‍य बुखार की समस्‍या दूर करने के ल‍िए भी च‍िलब‍िल का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है, आप छाल के लेप को माथे पर लगा दें, इससे रोगी को आराम म‍िलेगा।

इसे भी पढ़ें- कई बीमारियों को दूर करता है अमलतास, जानें इसके आयुर्वेदिक फायदे

2. ब्‍लड शुगर कंट्रोल करता है च‍िलब‍िल (Chilbil helps to control blood sugar level)

chilbil tree

अगर आपको डायब‍िटीज है तो आपको ब्‍लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के ल‍िए च‍िलब‍िल का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। च‍िलब‍िल की छाल को पीसकर पाउडर बना लें और उसमें आंवला का चूरण बनाकर आपको करीब दो ग्राम हर द‍िन लेना है इससे ब्‍लड शुगर लेवल कंट्रोल रहेगा।

3. गठ‍िया रोग में फायदेमंद है च‍िलब‍िल (Benefit of Chilbil in arthritis)

अगर आपके घुटने या जोड़ों में दर्द की समस्‍या है तो आप च‍िलब‍िल का इस्‍तेमाल करें। च‍िलब‍िल से जोड़ों में दर्द या सूजन की समस्‍या दूर होती है। आपको च‍िलब‍िल के पत्‍तों को धोकर पीसना है और उसका लेप बनाकर दर्द वाली जगह पर लगा लें। इससे आपका दर्द दूर हो जाएगा। च‍िलब‍िल के पत्‍तों में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं, इससे दर्द दूर होता है।

इसे भी पढ़ें- क्या च्यवनप्राश खाने से घटता है वजन? जानें एक्सपर्ट से

4. पेट खराब है तो इस्‍तेमाल करें च‍िलब‍िल (Chilbil helps to cure stomach related problems)

chilbil benefits

अगर आपको कब्‍ज की समस्‍या है या पेट में दर्द है या पेट खराब है तो च‍िलब‍िल के पत्‍तों और छाल का इस्‍तेमाल करें। आप च‍िलब‍िल की छाल को पीसकर उसका पाउडर बना लें और काढ़ा बनाकर प‍िएं तो इससे कब्‍ज की समस्‍या भी दूर होगी। कुछ लोगों में पेट में कीड़े होने के कारण पेट में दर्द होता है इसके ल‍िए आप च‍िलब‍िल की छाल को पीसकर चूरण बना लें और उसे गरम पानी के साथ लें तो पेट के कीड़े नष्‍ट हो जाएंगे।

5. त्‍वचा रोग या एक्‍ज‍िमा में भी फायदेमंद है च‍िलब‍िल (Chilbil helps to cure skin related diseases)

अगर आपको एक्‍ज‍िमा या अन्‍य त्‍वचा संबंधी रोग है तो भी आप च‍िलब‍िल के पत्‍तों का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। अगर आपकी त्‍वचा पर घाव या फोड़ा है तो आप च‍िलब‍िल के पत्‍तों का लेप घाव पर लगाएं इससे घाव या फोड़ा ठीक हो जाएगा। दाज खाज की समस्‍या या चेचक के इलाज में भी च‍िलबि‍ल फायदेमंद माना जाता है। चेचक का इलाज करने के ल‍िए आप च‍िलब‍िल के पत्‍तों के रस में शहद और आंवला म‍िलाकर उसका सेवन कर सकते हैं। च‍िकनपॉक्‍स का इलाज ढूंढ रहे हैं तो च‍िलब‍िल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। च‍िलब‍िल के पत्‍तों के रस को दानों पर लगाएं तो दानें जल्‍दी ठीक हो जाएंगे।

क‍िसी गंभीर बीमारी के ल‍िए च‍िलब‍िल का इस्‍तेमाल करने से पहले डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें। 

Read more on Ayurveda in Hindi 

Disclaimer