रात में अक्सर होती है बेचैनी? जानें इसके 5 कारण और बेचैनी कम करने के उपाय

रात में बेचैनी होना : कई बार रात को सोते समय आप खुद को बेचैन महसूस कर सकते हैं। ऐसे में आप इसका कारण जान कर इससे बच सकते हैं। 

 
Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 01, 2022Updated at: Mar 01, 2022
रात में अक्सर होती है बेचैनी? जानें इसके 5 कारण और बेचैनी कम करने के उपाय

रात में नींद ना आने की समस्या बहुत लोगों को परेशान करती है। पर कई बार नींद न आने का सबसे बड़ा कारण होता है बेचैनी (restlessness at night)। पर हम में से ज्यादातर लोग इसे बारे में नहीं सोचते और हमें लगता है कि ये अपने आप ठीक हो जाएगा। लेकिन, अगर ये समस्या लंबे समय तक बनी रहती है तो, ये हाई बीपी, मानसिक बीमारियों और दिल की बीमारियों का कारण बन सकता है। इसलिए सबसे ज्यादा जरूरी ये है कि आप रात में बेचैनी के कारणों के बारे में जानें। जैसे कि कई बार एंग्जायटी के कारण आपको रात में बेचैनी हो सकती है तो, कई बार मन में कोई बात बैठ जाने के कारण या स्ट्रेस की वजह से भी बेचैनी हो सकती है। आइए जानते हैं इसका कारण और उपाय। 

Insidesleeprestlessness

रात में बेचैनी का कारण-Causes of restlessness at night 

1. स्लीप एपनिया

रात में बेचैनी के कारण स्लीप एपनिया भी हो सकता है। दरअसल, जिन लोगों में स्लीप एपनिया होता है वो रात में आराम से सो नहीं पाते या फिर उनकी नींद टूटती रहती है। ऐसे में आप  वजन कम करने, अपने आहार में बदलाव करने और अधिक व्यायाम करने से स्लीप एपनिया का सफलतापूर्वक इलाज किया जा सकता है। इससे आपको रात में बेचैनी भी नहीं होगी। 

2. खराब लाइफस्टाइल 

खराब लाइफस्टाइल के कारण भी लोगों को रात में बेचैनी महसूस होती है। दरअसल, खराब लाइफस्टाइल के कारण शरीर की आंतरिक घड़ी या सर्कैडियन लय बिगड़ने लगती है। इस जब भी आप रात में सोने जाते हैं तो आपको नींद नहीं आती और बेचैनी महसूस होती है। इसके अलावा ये समस्या शिफ्ट में काम करने वाले लोगों को भी होती है, जिनमें मेलाटोनिन और सेरोटोनिन का बैलेंस बिगड़ जाता है। 

इसे भी पढ़ें : नाभि में जैतून का तेल लगाने से दूर होती हैं ये 5 समस्याएं, जानें इनके बारे में

3. हार्मोनल डिसबैलेंस के कारण

हार्मोनल डिसबैलेंस के कारण भी आपको सोते समय बेचैनी हो सकती है। खासकर कि महिलाओं में। दरअसल, गर्भावस्था से लेकर रजोनिवृत्ति तक, महिलाओं के हार्मोन नींद की गुणवत्ता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसके कारण महिलाओं को रात को पसीना, बार-बार पेशाब आना और नींद ना आने की समस्या होती है। ये गड़बड़ी अक्सर रात के पहले पहर में होती है जब महिलाएं सोने की कोशिश कर रही होती हैं। ये ज्यादातर एस्ट्रोजन हार्मोन के घटते-बढ़ते स्तर के कारण होता है। साथ ही कुछ गर्भनिरोधक गोलियां भी नींद में खलल पैदा कर सकती हैं। जिन महिलाओं को अभी भी उनके पीरियड्स हो रहे हैं, उन्हें अपने चक्र के दौरान ऐंठन, मतली या भारी रक्तस्राव के साथ मुश्किल समय हो सकता है जो कि रात में बेचैनी का कारण बन सकता है। 

Insidewalking

4.  बहुत ज्यादा एक्सरसाइज

दिन भर ज्यादा थक जाना या फिर बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करना भी रात में बेचैनी का कारण बनता है। इससे पैरों में दर्द हो सकता है या फिर शरीर ओवरएक्टिव हो सकता है जिससे कि सोने पर भी आपको नींद आएगी।  ऐसे में  ध्यान रखें कि उन्हीं शारीरिक गतिविधियां को करें जो कि हल्के हो और उसे सोने से पहले एक अच्छे खासा गैप में करें।  

इसे भी पढ़ें : बच्चों में एकाग्रता बढ़ाता है ऊँ का उच्चारण, जानें ऐसे ही 5 माइंडफुल मेडिटेशन जो हैं बच्चों के लिए फायदेमंद

5. ज्यादा सोचने की आदत 

ज्यादा सोचने की आदत के कारण भी आपको रात में बेचैनी हो सकती है। दरअसल, जब आप लगातार सोचते हैं तो आपका दिमाग शांत नहीं होता और लगातार जगा रहा रहता है। इससे आप सो नहीं पाते और आपको रात भर बेचैनी महसूस हो सकती है। ऐसे में आपको कुछ ऐसा करना होगा जिससे आपका दिमाग शांत हो जाए और आप सो सकें।

रात में बेचैनी कम करने के उपाय

  • -सोने से पहले और खाने के बाद वॉक करें।
  • -स्लीप हाइजीन फॉलो करें।
  • -योग करें और अपने मन को शांत करें। सबसे जरूरी है कि आप अपने विचारों को कंट्रोल करें।
  • - सोते समय इलेक्ट्रॉनिक चीजों का इस्तेमाल ना करें।
  • -लाइफस्टाइल सही करें और अपने सोने और जगने का समय सही करें।
  • -एक संतुलित आहार खाएं।

इस तरह आप इन टिप्स की मदद से रात को खुद को बेचैन होने से बचा सकते हैं। साथ ही आपको अगर अपनी नींद को बेहतर बनाना है तो, आपको ब्रीदिंग एक्सरसाइज करनी चाहिए और मन को शांत करना चाहिए।

all images credit: freepik

Disclaimer