अक्सर रहता है कमर दर्द तो हो सकते हैं ये 6 कारण, डॉक्टर से जानें इनके बारे में जरूरी बातें

कमर दर्द आजकल की एक सामान्य समस्या बन गई है। अधिकतर लाेग इससे परेशान रहते हैं। इसके पीछे कई कारण जिम्मेदार हैं। जानें-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Sep 24, 2021
अक्सर रहता है कमर दर्द तो हो सकते हैं ये 6 कारण, डॉक्टर से जानें इनके बारे में जरूरी बातें

क्या आप कमर दर्द की समस्या से परेशान रहते हैं? आजकल की खराब लाइफस्टाइल कई शारीरिक समस्याओं का कारण बनता जा रहा है। इन्हीं में से एक है बैक पेन यानी कमर में दर्द (Back Pain)। दिनभर ऑफिस, घर के कामाें में व्यस्त रहना, व्यायाम और याेगा न करना आदि कमर में दर्द का कारण बनते हैं। महिला हाे या पुरुष अकसर ही कमर में दर्द की शिकायत करते रहते हैं। अधिकतर लाेग इस दर्द काे सामान्य समझकर नजरअंदाज कर देते हैं, ताे कुछ लाेग दर्द से छुटकारा पाने के लिए बार-बार दर्दनिवारक दवाइयाें (Painkillers) का सेवन करते हैं। लेकिन ऐसा करना सही नहीं है, क्याेंकि कई बार कमर में दर्द किसी अन्य वजह से हाेता है और हम दवाइयाें का सेवन करते जाते हैं, ऐसे में दर्द से छुटकारा पाना मुश्किल हाे जाता है। ऐसे में इसका कारण जानकर इलाज करवाना जरूरी हाेता है। डॉक्टर एम.के.सिंह से जानें कमर में हाेने वाले दर्द के लक्षण, कारण और बचाव टिप्स (Symptoms, Causes and Prevention Tips for Back Pain)-

 back pain

(Image Source : cosmo.ru)

कमर दर्द के लक्षण  (Symptoms of Back Pain)

जब काेई भी शारीरिक समस्या हाेती है, ताे कुछ-न-कुछ लक्षण जरूर नजर आते हैं। कमर दर्द हाेने पर भी आपकाे कुछ लक्षण नजर आ सकते हैं। जानें इनके बारे में-

  • ज्यादा देर तक बैठ न पाना
  • वजन उठाने में समस्या
  • खड़े रहने में परेशानी हाेना
  • नितंबाें का सुन्न हाेना

कमर दर्द के कारण (Causes of Back Pain)

मांसपेशियाें में खिंचाव, मांसपेशियाें में एेंठन, मांसपेशियाें में तनाव कमर दर्द के सामान्य कारण हैं। लेकिन कई बार कई गंभीर समस्याओं के कारण भी कमर में दर्द हाेने लगता है। जानें कमर में दर्द के कारण-

1. साइटिका (Sciatica)

साइटिका शरीर में मौजूद सबसे बड़ी नर्व है। यह कमर के निचले हिस्से (Lower Back) से लेकर एड़ी तक हाेती है। इसमें काेई भी समस्या आने पर कमर में दर्द हाेना स्वाभाविक है। समस्या बढ़ने पर दर्द कष्टदायक भी हाे जाता है। साइटिका में शुरुआत में कमर दर्द हाेता है, फिर यह कूल्हाें और पैराें तक चला जाता है। इसमें कई बार मरीज काे असहनीय दर्द उठता है।  

साइटिका के लक्षण (Sciatica Symptoms)

साइटिका के लक्षणाें में आप गौर करेंगे कि इसके अधिकतर लक्षण एक पैर में ही दिखाई देते हैं।

  • पैराें झुनझुनाहट या सुन्नपन
  • कमजाेरी
  • कमर, कूल्हाें और पैराे में हल्का दर्द बना रहना
  • कमर की तुलना में पैराे में अधिक दर्द हाेना
  • पैराें की उंगुलियाें में दर्द हाेना
 
slip disk
 
(Image Source : odo-7.top)

2. स्लिप डिस्क (Slip Disc)

स्लिप डिस्क में भी कमर दर्द (Back Pain) हाेना बेहद सामान्य हाेता है। अगर आप कमर दर्द से परेशान हैं, ताे हाे सकता है कि आपकाे स्लिप डिस्क की समस्या हाे। डिस्क रीढ़ की हड्डी में लगे ऐसे पैड हाेते हैं, जाे उसे उसे झटके या दबाव से बचाते हैं। डिस्क में दाे भाग हाेते हैं। एक जेल जैसा आंतरिक भाग और दूसरा कड़ी बाहरी रिंग। चाेट लगने के लिए डिस्क का आंतरिक भाग बाहरी भाग से बाहर निकल जाता है, इस स्थिति काे स्लिप डिस्क कहा जाता है। 

स्लिप डिस्क के लक्षण (Symptoms of Slip Disk)

  • कमर में तेज दर्द हाेनना
  • दर्द और बेचैनी
  • सुन्नपन
  • दर्द की जगह पर जलन और झनझनाहट हाेना
  • चलने में परेशानी हाेना
  • मांसपेशियाें में कमजाेरी आना
  • शरीर के एक हिस्से में अधिक दर्द हाेना

3. डिस्काेजेनिक बैक पेन (Discogenic Back Pain)

डिस्काेजेनिक बैक पेन भी कमर में दर्द हाेने का एक मुख्य कारण हाे सकता है। दरअसल, इंटरवर्टिब्रल डिस्क के डैमेज हाेने पर पीठ और कमर में दर्द हाेने लगता है। इसके अधिकतर मामलाें में डिस्क रीढ़ के जाेड़ से बाहर नहीं फैलती है। यह समस्या बेहद पीड़ादायक हाेती है।  

डिस्काेजेनिक बैक पेन के लक्षण (Symptoms of Discogenic Back Pain)

  • कमर में तेज दर्द हाेना
  • पीठ में दर्द हाेना
  • चलने में दिक्कत 
  • अधिक समय तक खड़े हाेने में परेशानी

4. मांसपेशियाें में खिंचाव (Muscle Strain)

मांसपेशियाें में खिंचाव हाेना भी कमर में दर्द का कारण हाे सकता है। मांसपेशियाें में खिंचाव अकसर तब हाेता है, जब वे बहुत अधिक तनाव का सामना करते हैं। खिंचाव शरीर की किसी भी मांसपेशी में हाे सकता है। तनाव के अलावा मांसपेशियाें का अधिक इस्तेमाल, मांसपेशियाें का अनुचित उपयाेग भी इनके खिंचाव का कारण बनते हैं। 

मांसपेशियाें में खिंचाव के लक्षण (Symptoms of muscle strain)

5. स्पाइनल स्टेनाेसिस (Spinal Stenosis)

स्पाइनल स्टेनाेसिस की समस्या अधिकतर बुजुर्गाें में देखने काे मिलती है। उम्र बढ़ने पर स्पाइनल कैनाल संकरा हाे जाता है, जाे पीठ और कमर दर्द का कारण बनता है। 

स्पाइनल स्टेनाेसिस के लक्षण (Spinal Stenosis Symptoms)

  • पीठ और कमर में दर्द हाेना
  • पैराें, नितंबाें और पिंडली में दर्द
  • कमजाेरी और सुन्नपन

6. स्पाइन अर्थराइटिस (Spine Arthritis)

स्पाइन में अर्थराइटिस भी कमर में दर्द का एक कारण हाे सकता है। अगर आपकाे कमर दर्द की शिकायत हाे ताे स्पाइन अर्थराइटिस की संभावना भी बढ़ जाती है। ऐसे में इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें।

स्पाइन अर्थराइटिस के लक्षण (Spine Arthritis Symptoms)

  • कमर में दर्द
  • गर्दन में दर्द
  • कमर और गर्दन में कड़ापन रहना
  • चलते समय पैराें में दर्द हाेना
  • पैराें में सुन्नपन
  • कमजाेरी 

कमर दर्द के असली कारण का पता लगाने के लिए डॉक्टर एक्स-रे, सीटी स्कैन, एमआरआई कराने की सलाह देते हैं। इससे डॉक्टराें काे कमर में हाेने वाले दर्द का असली कारण पता लग जाता है।

कमर के दर्द से कैसे बचें (How to Prevent Back Pain)

कमर के दर्द से बचने के लिए आपकाे कुछ बाताें का ध्यान रखना चाहिए।

  • नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • लंबे समय तक एक ही स्थिति में न बैठें।
  • झटके से उठें और बैठें नहीं।
  • बार-बार झुकने से बचें।
  • पाेषक तत्वाें से भरपूर डाइट लें।
  • बैठते समय अच्छी मुद्रा बनाए रखें।

अगर आप भी कमर में दर्द की समस्या से परेशान हैं, ताे जल्द-से-जल्द डॉक्टर से कंसल्ट करें। इस स्थिति में डॉक्टर आपकाे कुछ जरूरी टेस्ट कराने की सलाह देते हैं, जिससे कमर में हाेने वाले दर्द का असली कारण पता लगाने में मदद मिलती है। कई बार शरीर में मेटाबाेलिक रसायनाें की कमी से भी कमर दर्द की शिकायत हाेती है। इतना ही नहीं रीढ़ की बनावट में खराबी, हड्डियाें की सघनता में कमी हाेने पर भी कमर दर्द हाे सकता है। इस स्थिति में रीढ़ की हड्डी पर अधिक दबाव पड़ता है, जाे दर्द के रूप में सामने आता है। इस स्थिति में व्यक्ति के लिए राेजमर्रा के कामाें काे करने में भी परेशानी हाेने लगती है। इसलिए आपकाे अगर लंबे समय से दर्द है, ताे तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer