Doctor Verified

आयुर्वेद के अनुसार दिन के इस समय पीना चाहिए छाछ, तभी मिलेंगे पूरे लाभ

Buttermilk in Summer: आयुर्वेद के अनुसार गर्मियों में छाछ पीना बेहद फायदेमंद होता है। इससे शरीर में ठंडक बनी रहती है और एनर्जी भी मिलती है।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: May 17, 2022Updated at: May 17, 2022
आयुर्वेद के अनुसार दिन के इस समय पीना चाहिए छाछ, तभी मिलेंगे पूरे लाभ

Best Time to Drink Buttermilk: छाछ पोषक तत्वों से भरपूर होता है। छाछ में कैल्शियम, विटामिन बी12, जिंक, राइबोफ्लेविन और प्रोटीन अधिक मात्रा में पाया जाता है। छाछ पीने से हड्डियां मजबूत बनती हैं, कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है। साथ ही छाछ वजन घटाने और पेट के लिए भी फायदेमंद (Buttermilk Benefits in Hindi) होता है। आयुर्वेद के अनुसार छाछ की तासीर ठंडी होती है, ऐसे में गर्मी के दिनों में इसका सेवन करना लाभकारी हो सकता है। 

कई लोग छाछ का सेवन सुबह खाली पेट करते हैं, कुछ शाम को छाछ पीते हैं। तो वही कुछ लोग ब्रेकफास्ट या लंच के बाद छाछ पीना पसंद करते हैं। इतना ही नहीं कुछ लोग तो रात में भी छाछ पी लेते हैं। लेकिन इसके सभी फायदे आपको तभी मिल पाते हैं, जब आप सही समय पर छाछ का सेवन करते हैं। आयुर्वेद के अनुसार छाछ को हमेशा दिन के समय पीना चाहिए। शाम को या रात में छाछ पीने से बचना चाहिए। इसके अलावा जिन लोगों को पेट से जुड़े रोग हैं, वे सुबह छाछ पी सकते हैं। तो चलिए रामहंस चेरिटेबल हॉस्टिपल के आयुर्वेदाचार्य श्रेय शर्मा से विस्तार से जानते हैं छाछ पीने का सही समय क्या (Best Time to Drink Buttermilk in Hindi) है? 

buttermilk

छाछ पीने का सही समय ( Best Time to Drink Buttermilk as per Ayurveda in Hindi)

सुबह खाली पेट (Buttermilk Benefits in Empty Stomach)

सुबह खाली पेट छाछ का सेवन किया जा सकता है। सुबह खाली पेट छाछ पीने से आप पूरे दिन ऊर्जावान बने रह सकते हैं। जिन लोगों को पेट से जुड़ी कोई समस्या है, वे सुबह नाश्ते में छाछ पी सकते हैं। सुबह खाली पेट छाछ पीने से पेट की समस्याएं जैसे कब्ज, अपच, गैस से छुटकारा मिल सकता है। छाछ पाचन तंत्र मं सुधार करता है, इन समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। 

इसे भी पढ़ें - छाछ से बाल धोने के फायदे: लंबे घने और चमकदार बालों के लिए छाछ से धोएं बाल, जानें तरीका

मिड मॉर्निंग (Buttermilk in Mid Morning )

अगर आपने सुबह नाश्ता कर लिया है, तो आप इसके 1 घंटे बाद छाछ पी सकते हैं। इससे खाना अच्छे से डायजेस्ट होने में मदद मिलेगी। मिड मॉर्निंग में अगर आपको भूख लगती है तो इसमें छाछ पीना एक बेहतर विकल्प हो सकता है। 

लंच के बाद छाछ पीना (Buttermilk After Lunch Ayurveda)

आयुर्वेद के अनुसार लंच के बाद छाछ पीना सबसे अधिक फायदेमंद होता है। आयुर्वेद में हमेशा खाना खाने के बाद छाछ पीने की सलाह दी जाती है। इससे आपको पर्याप्त पोषक तत्व मिलते हैं, साथ ही भोजन भी अच्छी से डायजेस्ट होता है। लंच के बाद छाछ पीने से शरीर को एनर्जी मिलती है। पाचन में सुधार होता है, शरीर में मेटाबॉलिज्म बढ़ता है। लंच के बाद छाछ पीने से आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगेगी, क्रेविंग दूर होगी। इससे वजन घटाने में भी आपको मदद मिल सकती है

buttermilk

छाछ पीने का सही तरीका (How to Drink Buttermilk)

अगर आपको छाछ पसंद नहीं है, तो इसे सिंपल छाछ की तरह न पीकर इसमें कुछ अन्य सामग्री मिला सकते हैं। छाछ को स्वादिष्ट और अधिक पौष्टिक बनाने के लिए आप एक गिलास छाछ में भुना हुआ जीरा पाउडर, अजवाइन पाउडर और काला नमक मिला सकते हैं। अब सबको अच्छे से मिला लें और पी लें। इस तरह आपको छाछ पीना काफी स्वादिष्ट लगेगा।

इसे भी पढ़ें - वजन घटाने के लिए तरबूज: वेट लॉस के लिए इन 3 तरीकों से खाएं तरबूज, घटेगी पेट की चर्बी

छाछ पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसलिए आप भी अपनी समर डाइट में छाछ (Buttermilk Benefits in Summer) शामिल कर सकते हैं। छाछ से आपके शरीर को ठंडक मिलेगी, साथ ही सभी जरूरी पोषक तत्व भी मिलेंगे। छाछ पीने से शरीर में पानी की कमी भी दूर होती है। लेकिन अगर आपको कोई गंभीर रोग है, तो डॉक्टर की सलाह पर छाछ पीना चाहिए। 

Disclaimer