सर्दियां जाने से पहले बनाकर रख लें ये 5 हेल्दी अचार, साल भर खाएंगे तो बनी रहेगी बेहतर इम्यूनिटी

आंवले, गोभी, गाजर, अमरूद, मटर गर्मि‍यों में इनका स्‍वाद कहां चखने को म‍िलेगा इसल‍िए अभी से इनका हेल्‍दी अचार बनाकर रख लें। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Feb 17, 2021 13:53 IST
सर्दियां जाने से पहले बनाकर रख लें ये 5 हेल्दी अचार, साल भर खाएंगे तो बनी रहेगी बेहतर इम्यूनिटी

ठंड के द‍िनों में कई ऐसे फल और सब्‍ज‍ियां हैं ज‍िन्‍हें हम गर्मियों में भी खाना चाहते हैं पर इन्‍हें ऑफ सीजन कैसे खाएं? इसका आसान तरीका है क‍ि आप इनका अचार बनाकर रख लें। कुछ ऐसे मौसमी फल या सब्‍ज‍ियां होती हैं जो हेल्‍थ के ल‍िए बहुत फायदेमंद होती हैं पर हम उन्‍हें कुछ ही महीने खा पाते हैं। इस समस्‍या को देखते हुए आज हम आपको बताएंगे सर्द‍ियों के फल और सब्‍जी से बनने वाले 5 हेल्‍दी और टेस्‍टी अचार की रेस‍िपीज ज‍िन्‍हें आप गर्मी के द‍िनों में भी आराम से खा सकते हैं तो चल‍िए जानते हैं इनके फायदे और बनाने का तरीका। इस पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के वेलनेस डाइट क्‍लीन‍िक की डाइटीश‍ियन डॉ स्‍म‍िता सिंह से बात की। 

homemade pickle in winters

1. आंवले का अचार (Health benefits of amla)

ठंड जाए इससे पहले ही आप आंवले का अचार बनाकर जरूर रख लें। एक तो ये जल्‍दी से खराब नहीं होता और दूसरा आंवला आपकी स्‍क‍िन और हेल्‍थ के ल‍िए बहुत जरूरी है इसे पूरे साल खाने के ल‍िए अचार के रूप में प्र‍िजर्व कर लें। डायब‍िटीज मरीजों के ल‍िए आंवला फायदेमंद होता है। ज‍िन लोगों को कब्‍ज की श‍िकायत है उनके ल‍िए ये फायदेमंद है। आंवला खाने से आंखें और बाल अच्‍छे रहते हैं। आंवला खाने से वजन भी घटता है। हीमोग्‍लोब‍िन कम हो तो भी आंवले का सेवन करना चाह‍िए। चल‍िए जानते हैं आंवले का अचार कैसे तैयार क‍िया जाता है। 

आंवले का अचार बनाने का तरीका (Recipe of amla pickle)

  • आंवले का अचार बनाने के ल‍िए 500 ग्राम आंवले, सरसों का तेल, मेथी दाना, हींग, अजवाइन, सरसों का तेल, नमक, हल्‍दी पाउडर, लाल म‍िर्च पाउडर, सौंफ की जरूरत होगी।
  • अचार बनाने के ल‍िए आंवले को धोकर गरम पानी में डालें। आंवले का पानी न‍िकालकर गुठली अलग कर दें। कढ़ाई में तेल गरम करें और उसमें सारे मसाले डालकर भून लें। मसाले भून जाएं तो उसमें आंवले को अच्‍छी तरह म‍िला दें। आपको ये ध्‍यान रखना है क‍ि अचार तेल में डुबा रहे। आप इसमें स‍िरका भी म‍िला सकते हैं तो अचार लंबे समय तक चलेगा। ऐसे बर्तन में अचार स्‍टोर करें ज‍िसमें नमी न बने वरना अचार खराब हो सकता है। अचार को धूप द‍िखाकर खा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- Pickle Juice: मांसपेशियों की ऐंठन से लेकर डायबिटीज मैनेजमेंट में मददगार है अचार का रस, जानें इसके अन्‍य फायदे

2. गाजर का अचार (Benefits of eating carrot)

carrot pickle is healthy

गाजर का अचार खाने में टेस्‍टी और बॉडी के ल‍िए हेल्‍दी होता है। जो लोग गाजर का जूस या सलाद नहीं खा पाते वो गाजर का अचार खा सकते हैं। गाजर भले ही सर्द‍ियों में आता है पर इसका अचार बनाकर आप इसे गर्म‍ियों के द‍िनों में भी खा सकते हैं। गाजर खाने से कमजोरी दूर होती है। इससे खून की मात्रा भी बढ़ती है। जि‍न गर्भवती मह‍िलाओं को एनीम‍िया है वो गाजर का अचार खा सकती हैं। गाजर से पाचन तंत्र भी मजबूत होता है। इससे बीमार‍ियां दूर होती हैं। हार्ट हेल्‍थ के ल‍िए भी गाजर फायदेमंद माना जाता है। ज‍िन लोगों का ब्‍लड प्रेशर फ्लक्‍चूएट होता रहता है उन्‍हें भी गाजर का सेवन करना चाह‍िए। इसमें मौजूद पोटैश‍ियम ब्‍लड प्रेशर घटने या बढ़ने नहीं देता।  

गाजर का अचार बनाने का तरीका (Recipe of carrot pickle)

  • गाजर का अचार बनाने के ल‍िए आपको गाजर, लाल म‍िर्च पाउडर, हल्‍दी, हींग, नींबू का रस, जैतून का तेल, नमक चाह‍िए होगा। 
  • गाजर का अचार बनाने के ल‍िए गाजर को छीलकर साफ कर लें। इसे गोल या लंबे आकार में काट लें। इन्‍हें पानी से साफ करने के बाद अच्‍छे से धूप में एक द‍िन सूखने दें। सारी सामग्री को अचार में मिलाकर म‍िश्रण बना लें। तेल डालकर धूप में 2 द‍िन के ल‍िए रख दें। गाजर का अचार तैयार है। 

3. गोभी-मूली का अचार (Health benefits of cauliflower)

ये सर्द‍ियों में बनने वाला सबसे पसंदीदा अचार है। इसे आप कुछ महीनों के ल‍िए प्र‍िजर्व भी कर सकते हैं। गोभी में कैल्‍श‍ियम, फास्‍फोरस, प्रोटीन, कॉर्ब्स मौजूद होते हैं इसल‍िए गोभी का अचार हेल्‍दी होता है। गोभी से हड्ड‍ियों का दर्द भी दूर होता है। ल‍िवर में मौजूद इंजाइम्‍स को एक्‍ट‍िव करने के लि‍ए गोभी फायदेमंद होती है। गले में सूजर हो या दर्द हो गूभी खानी चाह‍िए। चल‍िए जानते हैं गोभी का अचार कैसे बनता है। 

गोभी-मूली अचार बनाने का तरीका (Recipe of gobhi moli pickle)

    • अचार बनाने के ल‍िए गोभी, मूली, हरी म‍िर्च, सरसों का तेल, हींग, नमक, लाल म‍िर्च पाउडर, हल्‍दी पाउडर, नींबू का रस और स‍िरके की जरूरत पड़ेगी। 
    • गोभी-मूली का अचार बनाने के ल‍िए गोभी और मूली के टुकड़ों को काटकर धो लें। बर्तन में पानी गरम करें और इसमें काटी हुई सब्‍जी को डाल दें। कुछ म‍िनट उबालने के बाद सब्‍जी का पानी न‍िकालकर सब्‍जी में  8 से 10 हरी म‍िर्च काटकर डालें। इसे द‍िन भर धूप में सुखाने के ल‍िए रख दें। म‍िश्रण में सरसों का तेल डालें। द‍िन भर धून द‍िखाने के बाद तेल गरम करें इसमें नमक, हींग, हल्‍दी, लाल म‍िर्च और सब्‍जी डालकर म‍िलाएं। म‍िश्रण में नींबू का रस डालें। कांट की बरनी में म‍िश्रण डालें और स‍िरका डालकर धूप में रख दें। अचार तैयार है। 

इसे भी पढ़ें- सुबह खाली पेट पिएं अचार का पानी, पुरानी कब्ज और पेट की कई परेशानियों से दिलाएगा आपको निजात

4. मटर का अचार (Benefits of peas)

मटर आपकी इम्‍यून‍िटी के ल‍िए अच्‍छा होता है क्‍योंक‍ि मटर में मैग्‍न‍िश‍ियम मौजूद होता है इससे रोगों से बचाव होता है। इसमें फाइबर की अच्‍छी मात्रा होती है। इसमें कैलोरी भी कम होती है इसल‍िए आप इसे खा सकते हैं। आप चाहें तो मटर का अचार बनाकर सर्द‍ियों में रख लें और पूरे साल मजे लेकर अचार का आनंद लें। ये अचार हेल्‍दी है क्‍योंक‍ि इसमें मटर है। मटर खाने से एल्‍जाइमर की बीमारी भी दूर होती है। मटर हॉर्ट हेल्‍थ को भी अच्‍छा रखता है इसल‍िए मटर का अचार बनाना एक हेल्‍दी ऑप्‍शन हो सकता है। 

मटर का अचार बनाने का तरीका (Recipe of peas pickle)

  • मटर का अचार बनाने के ल‍िए आपको 500 ग्राम मटर, तेल, अजवाइन, सौंफ, हल्‍दी पाउडर, लाल म‍िर्च पाउडर, नमक, अमचूर पाउडर की जरूरत होगी। 
  • एक बर्तन में 2 ग‍िलास पानी लें उसमें मटर लें और मटर को धो लें। गैस पर कढ़ाई रखें और उसमें तेल गरम करें। तेल गरम करके उसमें सौंफ और अजवाइन डालकर भूनें। सुनहारा होने के बाद हल्‍दी पाउडर और लाल म‍िर्च पाउडर डालकर भूनें। नमक को अच्‍छी तरह म‍िलाएं और मसाला पाउडर डालकर भूनें। अमचूर डालकर म‍िश्रण चलाएं। मटर को मुलायम होने तक पकाएं। आपका अचार तैयार है। 

5. अमरूद का अचार (Benefits of guava)

guava for pickle

ठंड के द‍िन जाने वाले हैं, इस मौसम में अमरूद खाने का मजा ही कुछ और है पर आप इसका अचार बनाकर भी रख सकते हैं। अमरूद हमारे शरीर के ल‍िए बहुत फायदेमंद होता है, इसे साल भर खाने के ल‍िए आप इसका हेल्‍दी अचार बनाएं। ये एक हाई एनर्जी फूड है इसमें व‍िटाम‍िन बी-9 पाया जाता है ज‍िससे बॉडी र‍िपेयर होती है। अमरूद में व‍िटाम‍िन ए और ई भी पाया जाता है ज‍िससे स्‍क‍िन और बालों की समस्‍या नहीं होती। ज‍िन लोगों को थॉयराइड होता है उन्‍हें भी अमरूद का सेवन करना चाहि‍ए। अमरूद खाने से शरीर में मेटाबॉल‍िज्‍म ठीक होता है ज‍िससे कोलेस्‍ट्रॉल कंट्रोल रहता है। आइए हेल्‍दी अचार बनाने की र‍ेस‍िपी सीखें। 

अमरूद का अचार बनाने का तरीका (Recipe of guava pickle)

  • अमरूद का अचार बनाने के लि‍ए आपको अमरूद, मेथी दाना, सौंफ, हल्‍दी, लाल म‍िर्च पाउडर, कलौंजी, अमचूर, चीनी, स‍िरका, तेल और नमक की जरूरत होगी। 
  • अमरूद को काट लें और बीज को न‍िकालकर अलग कर दें। पैन में ऑयल गरम करें उसमें कलौंजी और मेथी दाना डालकर भूनें। हल्‍दी और कटा अमरूद डालकर म‍िलाएं। आपको 2 से 3 म‍िनट तक इसे पकाना है और सारी सामग्री डालकर चलाएं और थोड़ा सा स‍िरका डाल दें। खट्टा-मीठा अचार तैयार है। 

इन हेल्‍दी अचार को आप स‍िरका डालकर लंबे समय तक प्र‍िजर्व कर सकते हैं पर कोश‍िश करें क‍ि इन्‍हें जल्‍द कंज्‍यूम कर लें। 

Read more on Healthy Diet in Hindi 

Disclaimer