Nose Bleeding First Aid: नाक से खून आने पर तुरंत ऐसे करें फर्स्ट एड, जानें नाक से खून निकलने का कारण और उपाय

हमारी नाक में कई तरह की रक्त वाहिकाएं होती हैं। ये रक्त वाहिकाएं बहुत नाजुक होती हैं और हल्की सी भी चोट के कारण नाम से खून आने लगता है। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Sep 11, 2020Updated at: Sep 11, 2020
Nose Bleeding First Aid: नाक से खून आने पर तुरंत ऐसे करें फर्स्ट एड, जानें नाक से खून निकलने का कारण और उपाय

नाक से खून आना एक आम समस्या है, जो बहुत से लोगों को हो जाया करती है। बड़े लोगों में यह समस्‍या, ब्लड प्रेशर बढ़ जाने के कारण होती है या फिर किसी प्रकार का संक्रमण के कारण, तो वहीं बच्चों में ये समस्या नाक में चोट लग जाने या बहुत गर्मी के कारण टीशूज के क्षतिग्रस्‍त होने से हो जाती है। ऐसे में नाक से खून निकलने पर सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि व्यक्ति को सबसे पहले फर्स्ट एड दिया जाए। तो, आइए सबसे पहले जान लेते हैं कि नाक से खून क्यों निकलता (Nose bleeding Causes) है और ये कितना गंभीर है? उसके बाद जानेंगे नाक से खून आने का प्राथमिक उपचार (First Aid Treatment for Nosebleeds)।

insidenosebleeding

नाक से खून निकलने का कारण (Nose bleeding Causes)

नाक से खून निकलने का नकसीर भी कहा जाता है। पर अगर इसमें व्यक्ति की नाक लगातार बहती है, तो आपको अधिक गंभीर समस्या हो सकती है। शुष्क हवा नाक बहने का सबसे आम कारण है। दरअसल शुष्क जलवायु में रहना नाक की झिल्ली को सुखा देता है और नाक के टीशूज को डैमेज कर देता है। यह सूखापन नाक के अंदर क्रस्टिंग का कारण बनता है। क्रस्टिंग खुजली हो सकती है या चिढ़ हो सकती है। वहीं एलर्जी, जुकाम या साइनस की समस्या के लिए एंटीहिस्टामाइन और डीकॉन्गेस्टेंट लेने से भी नाक की झिल्ली सूख सकती है और नाक बह सकती है। वहीं इसके कुछ गंभीर कारणों को जानें, तो नाक से खून बहने के पीछे कई बड़े कारक हैं जैसे कि

  • -नाक में चोट लगना
  • -एलर्जी की प्रतिक्रिया
  • -नाक का सूख जाना
  • -बार-बार छींक आना
  • -ठंडी हवा
  • -ऊपरी श्वसन संक्रमण
  • -एस्पिरिन की बड़ी खुराक के कारण संक्रमण
  • -हाई बीपी
  • -रक्त के थक्कों से जुड़े विकार
  • -कैंसर

इसे भी पढ़ें : जुकाम और बंद नाक से आराम पाने के लिए गले में लगाएं ये आयुर्वेदिक तेल, जानें घर पर बनाने की आसान विधि

नाक से खून आने पर प्राथमिक उपचार (First Aid Treatment for Nosebleeds)

1. सीधे खड़े होकर नाक नीचे कर लें

जब आपकी नाक बहे, तो अपनी नाक को नीचे रखें। दरअसल इस तरह आपके नाक की नसों का रक्तचाप कम हो जाता है और इससे तुरंत ही नाक से खून आना बंद हो जाता है।वहीं ऐसे में आप आप मुलायम कॉटन की मदद से नाक में हल्का सा पानी डालकर भी इससे दबा सकते हैं।insidenosebleedinghomeremedies

2. अपनी नाक पर चुटकी काटें या दबाव बनाएं 

अपने नथुने को बंद करने के लिए अपने अंगूठे और तर्जनी का उपयोग करें। अपने मुंह से सांस लें। 10 से 15 मिनट के लिए अपनी नाक को तेज से दाब कर रखें। पिंचिंग करने से नाक के ब्लीडिंग बिंदु पर दबाव पैदा हो जाती है और ये रक्त के प्रवाह को रोकता है। अगर ब्लीडिंग 10 से 15 मिनट के बाद भी जारी रहता है, तो दूसरे 10 से 15 मिनट के लिए दबाव को दोहराएं।फिर से ब्लीडिंग को रोकने के लिए, अपनी नाक को कोशिश करें कि नीचे न झुकाएं। इस समय के दौरान अपने सिर को अपने दिल के बराबर में रखें।

3. नाक के अंदर कुछ पेट्रोलियम जेली लगाएं

आप चाहें, तो धीरे-धीरे अपनी नाक के अंदर कुछ पेट्रोलियम जेली भी लगा सकते हैं। अगर दोबारा ब्लीडिंग होती है, तो रक्त के थक्कों को अपनी नाक को साफ करने के लिए जोर से झटका दें। अगर तब भी खून न रूके तो अपनी नाक को फिर से पिंच करें और अपने चिकित्सक को बुलाएं।

इसे भी पढ़ें : Sinusitis: साइनस की समस्या से परेशान हैं तो इन 4 एसेंशियल ऑयल्स की लें मदद, तुरंत खुल जाएंगे बंद नाक और कान

नाक से खून आने पर घरेलू उपाय 

एसेंशियल ऑयल लगाएं

सिप्रेस ऑयल या लैंवेडंर ऑयल से नकसीर का इलाज कर सकते हैं। सिप्रेस ऑयल में एस्ट्रिंजेंट गुण होते हैं जबकि लैवेंडर ऑयल नाक की रक्‍त वाहिकाओं को पहुंची चोट को ठीक करता है। ऑयल की दो से तीन बूंदें लें और एक कप पानी और एक पेपर टॉवल रखें। पानी में एसेंशियल ऑयल डालें और पेपर टॉवल को इसमें भिगो दें। पेपर को निचोड़कर कुछ मिनटों के लिए नाक पर रखें।

बर्फ की सिकाई करें

बर्फ के कुछ टुकड़े लेकर उन्‍हें एक साफ और मुलायम तौलिए में लपेट लें। अब इसे नाक पर लगाकर 4 से 5 मिनट तक ठंडी सिकाई करें। बर्फ की ठंडक से शरीर जल्‍दी खून के थक्‍के बना पाता है जिससे ब्‍लीडिंग रुक जाती है। नाक से खून आना बंद नहीं होता, तब तक दिन में कई बार सिकाई कर सकते हैं।

नाक से खून आने के कई कारणों में से सर्दी जुकाम भी एक आम कारण है। कोल्ड नाक की परत में जलन पैदा कर नकसीर की आशंका को काफी हद तक बढ़ा देता है। शुष्क सर्द हवा के साथ नाक की परत में जलन नकसीर के लिए आदर्श स्थिति बनाता है। जुकाम होने पर नाक के नर्म टिशू के साथ जबरदस्ती न करें बल्कि इसे धीरे से साफ करें।

Read more articles on Other-Diseases in Hindi

Disclaimer