बच्चे के जन्म के बाद कैसे करें नवजात शिशु और मां की देखभाल? जानें WHO की पूरी गाइडलाइन

डिलीवरी के बाद नवजात शिशु और मां की सही ढंग से देखभाल करने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एक नई गाइडलाइन जारी की है, जानें इसके बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Apr 11, 2022Updated at: Apr 11, 2022
बच्चे के जन्म के बाद कैसे करें नवजात शिशु और मां की देखभाल? जानें WHO की पूरी गाइडलाइन

चाइल्डबर्थ के बाद मां के लिए खुद का और नवजात बच्चे का ध्यान रखना सबसे कठिन काम होता है। इस दौरान मां को खुद की सेहत का ध्यान रखने के साथ-साथ शिशु की देखरेख करना होता है। इसको लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक नई गाइडलाइन जारी की है जिसमें प्रेगनेंसी के बाद और बच्चे के जन्म के बाद मां और बच्चे का ध्यान रखने और देखरेख से जुड़ी बातें बताई गयी हैं। एक आंकड़े के मुताबिक दुनियाभर में 10 में से 3 महिलाओं और बच्चों को जन्म के बाद सही शुरूआती देखभाल नहीं मिलती है। बच्चे को जन्म देने के बाद कई बार मां की स्थिति काफी गंभीर हो जाती है और इसका असर बच्चे पर भी देखने को मिलता है। महिलाओं को डिलीवरी के बाद और बच्चे को जन्म के बाद शुरूआती देखभाल सही ढंग से न मिलने की वजह से उनमें कई गंभीर बीमारियां और समस्याएं पनप सकती हैं। ऐसे में बच्चे और मां की सही पोस्टपार्टम देखभाल के लिए आप डब्ल्यूएचओ द्वारा बताई गयी इस गाइडलाइन का पालन कर सकते हैं।

डिलीवरी के बाद नवजात शिशु और मां की देखभाल के लिए डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन (WHO Guidelines For Postpartum Care in Hindi)

डिलीवरी के बाद नवजात शिशु और मां की सही तरीके से देखभाल न होने की वजह से कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी एक आंकड़े के मुताबिक दुनियाभर की हर 10 में से 3 महिला इस समस्या से जूझ रही है। बच्चे को जन्म देने के बाद मां की गुणवत्तापूर्ण देखभाल न होने से उसका शरीर कमजोर हो सकता है और इसकी वजह से कई गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं। वहीं अगर बच्चे की सही तरीके से देखभाल नहीं होती है तो इसकी वजह से उसे भी स्वास्थ्य से जुड़ी कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मातृ, नवजात, बाल और किशोर स्वास्थ्य विभाग के निदेशक डॉ अंशु बनर्जी के एक बयान के मुताबिक बच्चे के जन्म के बाद मां को और अधिक गुणवत्तापूर्ण देखभाल की जरूरत होती है। इसके लिए आप विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी इस गाइडलाइन का ध्यान जरूर रखें।

WHO-Guidelines-For-Postpartum-Care

इसे भी पढ़ें : बच्चों को टीबी होने पर कैसे करें उनकी देखभाल? WHO ने जारी किए टिप्स

1. विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइन में कहा गया है कि बच्चे को जन्म देने के बाद मां को ब्रेस्टफीड कराने को लेकर काउंसलिंग जरूर करानी चाहिए। इससे मां को इस बात की सही जानकारी होगी कि बच्चे को सही तरीके से ब्रेस्टफीड कैसे कराना है। बच्चे के लिए जन्म के बाद मां का दूध बहुत जरूरी होता है और इसके लिए बच्चों को स्तनपान कैसे कराना है इसकी जानकारी जरूर होनी चाहिए।

2. बच्चे को जन्म देने के बाद कम से कम 24 घंटे के लिए मां और बच्चे की सही ढंग से देखभाल की जारी चाहिए। इस दौरान मां और बच्चे को हाई क्वालिटी हेल्थ सपोर्ट दिया जाना चाहिए।

3. नवजात शिशु की सही तरीके से शुरूआती देखभाल के लिए माता-पिता को जरूर आगे आना चाहिए।

4. डिलीवरी के बाद महिला को पोस्ट प्रेगनेंसी डिप्रेशन (Postpartum Depression) और स्ट्रेस जैसी मानसिक समस्याओं का शिकार होने से बचाने के लिए उनकी नियमित रूप से स्क्रीनिंग जरूर होनी चाहिए। 

5. डिलीवरी के बाद एक्सपर्ट डॉक्टर के सुझाव के अनुसार समय-समय पर हेल्थ चेकअप जरूर कराना चाहिए। 

6. बच्चे को जन्म देने के बाद मां के लिए सबसे जरूरी होता है सही डाइट का पालन करना। सही और संतुलित डाइट का सेवन करने से आपका शरीर कमजोर नहीं होता है और शरीर में पोषक तत्वों की कमी नहीं होती है। इसलिए आपको डाइट में साबुत अनाज, सब्जी और फल के साथ-साथ प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा शामिल करें। जो महिलाएं स्तनपान करा रही हैं उन्हें पर्याप्त पानी भी जरूर पीना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : साल 2021 में दुनिया के सामने होंगी स्वास्थ से जुड़ी ये 5 बड़ी चुनौतियां, WHO ने जारी की लिस्ट

डिलीवरी के बाद मां और नवजात शिशु की सही ढंग से देखभाल न करने से दोनों को स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं। आमतौर पर डिलीवरी के बाद छह सप्ताह के भीतर आपको हेल्थ चेकअप के लिए बुलाया जाता है। आपको डिलीवरी के बाद अपने हेल्थ चेकअप की डेट मिस नहीं करनी चाहिए। इस दौरान किसी भी प्रकार की समस्या होने पर अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करना चाहिए।

(All Image Source - Freepik.com)

 

Disclaimer