सामने आया कोरोना वायरस का नया XE वैरिएंट, WHO ने बताया ओमिक्रोन से ज्यादा संक्रामक

कई देशों में कोरोना के नए मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं, इन सबके बीच कोरोना के नए XE वैरिएंट का पता लगा है जिसको लेकर WHO ने अलर्ट जारी किया है।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Apr 04, 2022Updated at: Apr 04, 2022
सामने आया कोरोना वायरस का नया XE वैरिएंट, WHO ने बताया ओमिक्रोन से ज्यादा संक्रामक

दुनिया के कई देशों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और इन सबके बीच कोरोना वायरस अपना रूप भी लगातार बदल रहा है। कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट के चलते दुनिया ने महामारी की तीसरी लहर देखी थी लेकिन अब कोरोना का एक नया वैरिएंट पाया गया है जो ओमिक्रोन से भी ज्यादा संक्रामक माना बताया जा रहा है। कोरोना वायरस का नया वैरिएंट XE कई देशों में पाया गया है जिसे लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी दुनिया को चेतावनी दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोरोना का नया XE वैरिएंट ओमिक्रोन के सब वैरिएंट BA.2 से 20 गुना ज्यादा संक्रामक है। कोरोना के नए वैरिएंट की पुष्टि होने के बाद दुनियाभर के देशों की चिंता बढ़ गयी है। ऐसे देश जहां पर कोरोना संक्रमण के नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं वहां के स्वास्थ्य विभाग ने इस नए वैरिएंट को लेकर सतर्कता बढ़ा दी है। गौरतलब हो कि यूरोप और एशिया के कुछ देशों में इस वक्त कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। चीन में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए शंघाई जैसे शहर में दोबारा लॉकडाउन लगा दिया है।

क्या है कोरोना का नया XE वैरिएंट? (What is Covid New XE Variant?)

कोरोना वायरस का नया XE वैरिएंट ओमिक्रोन वैरिएंट के सब लीनेज वैरिएंट BA.1 और BA.2 का रिकॉम्बिनेशन स्ट्रेन माना जा रहा है। जिसको लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चिंता जाहिर की है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक कोरोना का यह नया वैरिएंट ओमिक्रोन के सबसे पहले वैरिएंट की तुलना में 43 गुना अधिक तेजी से फैल सकता है। हालांकि अभी XE वैरिएंट को वैरिएंट ऑफ कंसर्न नहीं माना गया है और विश्व स्वास्थ्य संगठन इसकी गंभीरता को लेकर लगातार जांच कर रहा है। ब्रिटेन की ब्रिटिश हेल्थ सिक्योरिटी एजेंसी (HAS) के द्वारा की गयी एक स्टडी के मुताबिक XE वैरिएंट की तरह से ही कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट के सब वैरिएंट से एक और वैरिएंट XD भी देखा गया है। कोरोना के इस नए वैरिएंट के ट्रांसमिशन और गंभीरता में बड़े बदलाव नहीं देखे जाते हैं तब तक विश्व स्वास्थ्य संगठन इसे ओमिक्रोन वैरिएंट से ही जोड़कर देखेगा।

इसे भी पढ़ें : Covid Teeth: कोरोना संक्रमण होने पर दांतों में दिख रहे हैं ये 6 लक्षण, सामान्य समझकर न करें नजरअंदाज

Coronavirus-New-XE-Variant

कितना खतरनाक है नया XE वैरिएंट? (Covid New XE Variant Severity)

दुनिया के कई देशों में कोरोना की चौथी लहर की स्थिति बन रही है, यूरोप के कुछ देशों के अलावा चीन जैसे बड़े देश में कोरोना के नए बढ़ते मामले चिंताजनक हैं। ऐसे में कोरोना का एक और नया वैरिएंट मिलना चिंता का विषय है। हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूके की हेल्थ एजेंसी के मुख्य चिकित्सा सलाहकार सुसान हॉपकिंस ने कहा है कि कोरोना वायरस के दूसरे वैरिएंट के साथ मिलकर बनने वाले नए वैरिएंट बहुत ज्यादा घातक नहीं होते हैं और ये जल्दी ही खत्म भी हो जाते हैं। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना के नए XE वैरिएंट को लेकर एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें इसे कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट से ज्यादा खतरनाक बताया गया है। हालांकि अभी तक इस नए वैरिएंट की गंभीरता और संक्रामकता को लेकर कोई निष्कर्ष नहीं मिला है।

ब्रिटेन में मिला था XE वैरिएंट का पहला मामला (Coronavirus New XE Variant Fist Case)

ओमिक्रोन वैरिएंट के सब वैरिएंट BA.1 और BA.2 के रिकॉम्बिनेशन से बने नए XE वैरिएंट का पहला मामला इस साल जनवरी के महीने में ब्रिटेन में दर्ज हुआ था। जिसके बाद से अब तक मिली जानकारी के अनुसार XE वैरिएंट के 600 से ज्यादा नए मामले सामने आ चुके हैं। ब्रिटेन के अलावा नया XE वैरिएंट फ्रांस, डेनमार्क, बेल्जियम में भी देखने को मिला है। विश्व स्वास्थ्य संगठन कोरोना के इस नए वैरिएंट पर लगातार नजर रखे हुए है। XE वैरिएंट की गंभीरता और इस पर वैक्सीन के प्रभाव को लेकर जांच अभी भी की जा रही है। 

इसे भी पढ़ें : भारत में कोरोना की चौथी लहर के बारे में क्या है एक्सपर्ट्स की राय? जानें किन देशों में दोबारा बिगड़ी स्थिति

अगर हम भारत की बात करें तो यहां पर कोरोना संक्रमण की स्थिति अधिक गंभीर नहीं है, देश में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में कोरोना के 913 नए मामले सामने आये हैं। इस दौरान कोरोना से संक्रमित 1316 मरीज ठीक भी हुए हैं। मौजूदा समय में देश में कोरोना के 12,597 एक्टिव मामले हैं। देश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लगातार टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है।

(All Image Source - Freepik.com)

 

Disclaimer