कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर WHO की चेतावनी, इससे होने वाली मौतें 40 फीसदी बढीं

विश्व स्वस्थ्य संगठन ने दुनिया को कोरोना वायरस के नए वैरिएंट को लेकर चेतावनी दी है, कहा है कि आने वाले समय कोरोना और खतरनाक रूप देखने को मिल सकता है। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Mar 31, 2022Updated at: Mar 31, 2022
कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर WHO की चेतावनी, इससे होने वाली मौतें 40 फीसदी बढीं

दुनियाभर में एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन का मानना है कि कोरोना महामारी (Coronavirus in Hindi) का खतरा अभी तक टला नहीं है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के प्रमुख टेड्रोस एडनॉम घेब्रेयसस ने कहा है की कोरोना की गंभीरता भले ही कम हो सकती है लेकिन आने वाले समय में इस वायरस का अधिक संक्रामक वैरिएंट आ सकता है। डब्ल्यूएचओ के प्रमुख ने कहा है की आने वाले समय में कोरोना के और अधिक संक्रामक वैरिएंट के खतरे को लेकर हमें सतर्क रहने की जरूरत है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना को लेकर जारी की गयी रिपोर्ट में कहा गया है की इस साल कोरोना महामारी तीन संभावित तरीकों से बढ़ सकती है। गौरतलब हो कि चीन समेत यूरोप के कई देशों में कोरोना महामारी एक बार फिर से गंभीर रूप ले रही है। चीन के सबसे बड़े शहर में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते लॉकडाउन कर दिया गया है। 

कोरोना से होने वाली मौत में 40 फीसदी की बढ़ोत्तरी (Covid Death Ratio Increased)

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनियाभर में कोरोना के नए मामलों की संख्या भले ही घटी है लेकिन इसकी वजह से होने वाली मौतों का आंकड़ा बढ़ गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि पिछले हफ्ते में कोरोना से होने वाली मौतों में 40 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से यह अनुमान लगाया गया है कि अमेरिका में कोरोना से होने वाली मौत की रिपोर्ट में बदलाव और भारत के आंकड़ों की वजह से यह बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। कोरोना वायरस को लेकर डब्ल्यूएचओ की तरफ से जारी साप्ताहिक रिपोर्ट में यह कहा गया है की 2022 में जनवरी के आखिरी तक और मार्च के पहले सप्ताह के आंकड़े ये बता रहे थे कि इस बीच कोरोना के नए मामलों में कमी आई है लेकिन एक बार फिर दोबारासामने आ रहे आंकड़े चौंकाने वाले हैं।

इसे भी पढ़ें : दुनिया के कई देशों में फैलना शुरू हो चुका है कोरोना का नया BA.2 वैरिएंट, जानें इसके बारे में सभी बातें

WHO-On-Covid-Variant

कोरोना के नए मामलों में आई कमी (Coronavirus New Cases Update)

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में दुनियाभर में कमी देखी गयी है। पिछले सप्ताह दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के 10 लाख नए मामले दर्ज किये गए हैं और इस दौरान 45,000 हजार लोगों की मौत हुई है। डब्ल्यूएचओ की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 27 मार्च 2022 तक कोरोना संक्रमण की वजह से दुनियाभर में 6 मिलियन से ज्यादा मौत हुई है। WHO प्रमुख ने चेतावनी देते हुए कहा है कि कोरोना के नए मामलों के आधार पर ये आकलन करना कि आने वाले समय में महामारी का स्वरुप उतना अधिक संक्रामक नहीं होगा, गलत है। आने वाले समय में कोरोना के नए वैरिएंट और अधिक संक्रामक और खतरनाक हो सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया के तमाम देशों को आगाह करते हुए कहा है की जिन जगहों पर कोरोना की टेस्टिंग और निगरानी में ढील दी गयी है वहां स्थितियां बदल सकती हैं।

इन 3 तरीकों से इस साल फैल सकती है कोरोना महामारी (3 Ways How The COVID Pandemic Will Evolve This Year)

बुधवार को अपनी साप्ताहिक रिपोर्ट जारी करते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम घेबियस ने बताया है कि अभी तक सामने आ रहे डेटा और आंकड़ों से ये अनुमान लगाया जा रहा है कि कोरोना वायरस और अधिक विकसित हो रहा है। आने वाले समय में दुनिया कोरोना के नए और अधिक खतरनाक वैरिएंट को देख सकती है। हलांकि कोरोना के बदलते स्वरूप की वजह से लोगों में एंटीबाडी भी विकसित हो रही है। टीकाकरण के कारण भी लोगों में संक्रमण कम तेजी से फैल रहा है। डब्ल्यूएचओ की तरफ से कहा गया है कि समय-समय पर कोरोना के मामलों में स्पाइक और मौतों की बढ़ती संख्या लोगों की प्रतिरक्षा में कमी की वजह से हो सकती है इसलिए इसका ध्यान रखना बहुत जरूरी है। इसके अलावा कोरोना संक्रमण के बढ़ने का एक कारण इसका नया वैरिएंट हो सकता है। अनुमान लगाया जा रहा है कि आने वाले समय में और अधिक संक्रामक वैरिएंट देखने को मिल सकते हैं। इसके अलावा ऐसे लोगों का ध्यान जरूर रखना चाहिए जो लोग किसी गंभीर बीमारी के चपेट में हैं ऐसे लोगों में भी तेजी से संक्रमण बढ़ सकता है।

इसे भी पढ़ें : दुनियाभर में फिर डरा रहा कोरोना, चीन और फ्रांस में हालात गंभीर, जानें कोरोना से जुड़े 5 बड़े अपडेट्स

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोरोना महामारी को लेकर दुनिया को लापरवाह नहीं होना चाहिए। चौथी लहर से बचाव के लिए सर्विलांस, टीकाकरण, देखभाल, अनुसंधान और विकास, और उपकरणों और आपूर्ति के लिए समान पहुंच जैसे विषयों पर ध्यान देने की जरूरत है। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए बनाये गए सभी प्रोटोकॉल का पालन करने से आप इस महामारी की चपेट में आने से बच सकते हैं।

(All Image Source - freepik.com)

Disclaimer