देश में जून तक आ सकती है कोरोना की चौथी लहर, IIT कानपुर के वैज्ञानिकों की चेतावनी

IIT कानपुर के वैज्ञानिकों का दावा है कि भारत में कोरोना की चौथी लहर जून महीने के आखिर में आ सकती है, जानें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी अपडेट।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Mar 02, 2022Updated at: Mar 03, 2022
देश में जून तक आ सकती है कोरोना की चौथी लहर, IIT कानपुर के वैज्ञानिकों की चेतावनी

देश में कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर लगभग खत्म होने को है। कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट की वजह से दुनियाभर के तमाम देशों में फैली तीसरी लहर के खत्म होने से पहले ही IIT कानपुर के शोधकर्ताओं ने एक बड़ा दावा किया है। आईआईटी कानपुर के शोधकर्ताओं के मुताबिक देश में कोरोना के चौथी लहर (Covid 4th Wave) जून महीने तक आ सकती है। इस अनुमान के बाद लोगों की चिंता बढ़ गयी है। भले ही देश में कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट की वजह से फैली तीसरी लहर का प्रभाव धीरे-धीरे खत्म हो गया हो लेकिन IIT कानपुर के इस नए अनुमान से चौथी लहर की आशंका बढ़ गयी है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) के गणित और सांख्यिकीय विभाग द्वारा यह शोध किया गया है जिसमें यह कहा गया है कि अगर ऐसे ही आंकड़े बने रहे तो देश में कोरोना की चौथी लहर जून तक आ सकती है। कोरोना की तीनों लहर में फैली तबाही के बाद लोगों के मन में यह सवाल बना हुआ था कि भारत में कोरोना की चौथी लहर का आएगी? अब कानपुर आईआईटी के इस शोध ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है।

कब से कब तक रहेगी कोरोना की चौथी लहर? (IIT Kanpur Covid 4th Wave Prediction in Hindi) 

IIT-Kanpur-Covid-Prediction

आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिकों द्वारा किये गए इस अध्ययन में कहा गया है कि भारत में कोरोना की चौथी लहर जून महीने तक आ सकती है। आइआइटी के गणित और सांख्यिकीय विभाग के शोधकर्ताओं ने गासियन वितरण प्रणाली के आधार पर यह अध्ययन किया है। आईआईटी के वैज्ञानिक प्रो. शलभ और एसोसिएट प्रोफेसर शुभ्रा शंकर के निर्देशन में आईआईटी के शोधार्थी सबरा प्रसाद राजेश भाई कोरोना के अब तक के डेटा के आधार पर यह अध्ययन किया है। इस डेटा को निकालने के लिए बूट स्ट्रेप प्रणाली का इस्तेमाल किया गया है।

इसे भी पढ़ें : 12-18 साल के बच्चों को अब लगेगी 'कोर्बेवैक्स' वैक्सीन, जानें इस वैक्सीन के बारे में

आईआईटी कानपुर द्वारा किये गए इस शोध को अवर वर्ल्ड इन डाटा नाम की वेबसाइट से लिए गए डेटा के आधार पर किया है। भारत में कोरोना के अभी तक के आंकड़े के मुताबिक यह कहा गया है कि भारत में कोरोना की चौथी लहर 22 जून से शुरू हो सकती है। देश में चौथी लहर का पीक 23 अगस्त 2022 के बीच होगा और 22 अक्टूबर तक यह लहर खत्म हो सकती है। गौरतलब हो कि कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला दिसंबर 2019 में सामने आया था जिसके बाद जनवरी माह तक देश में कोरोना के मामले सामने आने शुरू हुए थे। देश में कोरोना की पहली लहर के दौरान कई महीनों तक सम्पूर्ण लॉकडाउन की स्थिति थी।

क्या सामने आएगा कोरोना का नया वैरिएंट? (Covid New Variant)

गासियन वितरण प्रणाली के आधार पर आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिकों द्वारा किये गए अध्ययन में कहा गया है कि देश में कोरोना की चौथी लहर जून के आखिर में आ सकती है। गासियन वितरण प्रणाली एक गणितीय अध्ययन है जिसके आधार पर भौतिक घटनाओं का आकलन किया जाता है। दरअसल दुनिया के कई देश अभी से कोरोना की चौथी लहर का सामना कर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका और जिंबाब्वे में कोरोना की चौथी लहर शुरू हो चुकी है। इन देशों से मिले डेटा के आधार पर देश में चौथी लहर की भविष्यवाणी की गयी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पद्मश्री से सम्मानित आईआई के प्रो. मणीन्द्र अग्रवाल ने कहा है कि कोरोना की चौथी लहर के बारे में फिलहाल कुछ अनुमान लगना अभी जल्दबाजी होगी। कोरोना के नए म्युटेशन के बारे में भी अभी कुछ आकलन लगा पाना मुश्किल है। चूंकि भारत के लोगों में डेल्टा और ओमिक्रोन वैरिएंट के प्रति रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो चुकी है इसलिए नए वैरिएंट का प्रभाव लोगों पर कम पड़ने की उम्मीद है। 

IIT-Kanpur-Covid-Prediction

इसे भी पढ़ें : लांसेट रिपोर्ट में हुआ खुलासा 'जल्द ही खत्म होने वाली है कोरोना महामारी', जानें कोविड-19 अपडेट्स

देश में कोरोना की तीसरी लहर अब कमजोर पड़ चुकी है। भारत समेत दुनिया के लगभग 190 से ज्यादा देशों में कोरोना संक्रमण अभी भी जारी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटों में कोरोना के कुल 7,554 मरीज सामने आये हैं और बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के चलते 223 लोगों की मौत दर्ज की गयी है। देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 4 करोड़ 29 लाख से ज्यादा हो चुकी है। वहीं अब तक देश में 5 लाख से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमण की वजह से जान गवां चुके हैं। देश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए टीकाकरण अभियान लगातार जारी है।

(All Image Source - Freepik.com)

Disclaimer