हेयर फॉल और हेयर लॉस में क्या अंतर है? जानें इन दोनों के कारण और बचाव के टिप्स

बाल टूटना और हेयर लॉस में काफी अंतर होता है। इन दोनों के कारण भी अलग-अलग हो सकते हैं। जानें हेयर फॉल और हेयर लॉस के कारण और बचाव टिप्स-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Dec 30, 2021 00:00 IST
हेयर फॉल और हेयर लॉस में क्या अंतर है? जानें इन दोनों के कारण और बचाव के टिप्स

Hair Fall and Hair Loss Difference: महिलाओं की खूबसूरती को बढ़ाने में बाल अहम भूमिका निभाते हैं। लंबे, घने और खूबसूरत बाल महिलाओं का गहना होते हैं। इसलिए वे बालों की केयर (hair care tips) करने के लिए कई प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन बढ़ते तनाव, व्यस्त जीवनशैली, खान-पान की गलत आदतें और कैमिकल युक्त हेयर प्रोडक्ट्स (hair care products) के इस्तेमाल से बालों को नुकसान पहुंचता है। ऐसे में कई महिलाओं के बाल टूटने लगते हैं, तो कुछ महिलाएं हेयर लॉस की शिकायत करती हैं। अधिकतर लोग हेयर फॉल और हेयर लॉस को एक ही समझ बैठते हैं, जबकि इन दोनों में काफी अंतर होता है। जब बाल टूटते हैं, तो इसे हेयर फॉल (hair fall) कहते हैं। इसके विपरीत जब बाल जड़ से गिरते हैं और दोबारा नहीं उगते हैं, तो इसे हेयर लॉस (hair loss) कहा जाता है। 

hair fall

हेयर फॉल के कारण (hair fall causes)

रोजाना 50 से 100 बालों का टूटना सामान्य स्थिति है, लेकिन अगर इससे ज्यादा बाल टूटते हैं तो आपको सतर्क होने की जरूरत है। हेयर फॉल होने पर बाल टूटते भी हैं और उगते भी हैं। जानें हेयर फॉल के कारण-

  • हार्मोनल बदलाव के वजह से हेयर फॉल की समस्या हो सकती है। 
  • कैमिकल बेस्ड हेयर केयर प्रोडक्ट्स लगाने से भी हेयर फॉल हो सकता है।
  • नियमित रूप से बालों को न धोना भी हेयर फॉल का कारण बनता है।
  • शरीर में प्रोटीन की कमी हेयर फॉलो को न्यौता देता है। क्योंकि बालों को भी प्रोटीन की जरूरत होती है।
  • बालों की ऑयलिंग न करने से भी बाल टूट सकते हैं। लेकिन अगर आप रेगुलर ऑयलिंग करेंगे, तो बालों को उगने में भी मदद मिलती है।

हेयर लॉस के कारण (hair loss causes)

हेयर लॉस वह स्थिति है, जिसमें बाल एक बार टूटने के बाल दोबारा नहीं उगते हैं। यह एक चिंताजनक स्थिति होती है। क्योंकि हेयर लॉस गंजेपन का भी कारण बन सकता है।

इसे भी पढ़ें - बाल बनाने हैं चमकदार, लंबे और घने तो इस्तेमाल करें ये 3 बेहतरीन होममेड मेहंदी हेयर पैक

hair loss

  • हेयर लॉस आनुवांशिक कारणों से हो सकता है। यानी अगर आपके माता-पिता को हेयर लॉस की समस्या है, तो आपको भी यह समस्या हो सकती है।
  • बालों की सही तरीके से देखभाल न करने की वजह से भी हेयर लॉस की समस्या हो सकती है। इसके अलावा रेगुलर टाइट हाई पोनीटेल बनाने से बाल कमजोर होते हैं और हेयर लॉस हो सकता है।
  • डाई, ब्लीच और वेव सॉल्यूशन के इस्तेमाल से भी परमानेंट हेयर लॉस हो सकता है।
  • बर्थ कंट्रोल पिल्स लेने, प्रेगनेंसी और डिलीवरी के बाद भी हेयर लॉस की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। 
  • गंभीर बीमारी भी हेयर लॉस का कारण बनती है। इसमें थायराइड डिसऑर्डर, सिफलिस और आयरन की कमी के वजह से बाल टूट सकते हैं।
  • शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने की वजह से हेयर लॉस की समस्या हो सकती है। जब शरीर में पोषक तत्व कम होते हैं, तो बाल टूटते हैं और दोबारा नहीं उगते हैं।

हेयर फॉल और हेयर लॉस में अंतर (difference between hair loss and hair fall)

हेयर फॉल और हेयर लॉस बालों के टूटने से जुड़े हुए हैं। इसलिए अधिकतर लोगों को ये दोनों शब्द एक ही लगते हैं। लेकिन हेयर फॉल और हेयर लॉस में अंतर होता है। जब बाल टूटने के बाद दोबारा नहीं उगते हैं, तो इस स्थिति को हेयर लॉस कहा जाता है। जबकि हेयर फॉल होने पर बाल दोबारा उग जाते हैं।

इसे भी पढ़ें - बालों पर लौकी का तेल लगाने से दूर होती हैं ये 5 समस्याएं, जानें इस तेल को घर बनाने का तरीका

hair care tips

बालों को झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय (hair fall or hair loss home remedies)

  • बालों को टूटने और झड़ने से बचाने के लिए इनकी केयर करना बहुत जरूरी होता है। बालों की देखभाल से ही इन्हें मजबूत बनाया जा सकता है। इसके लिए बालों को नियमित रूप से धोएं और ऑयलिंग करें। बालों की साफ-सफाई भी बहुत जरूरी है। यह बालों को झड़ने से रोकने का अच्छा उपाय है।
  • बालों को मजबूत बनाने के लिए आप बालों को ग्रीन टी (green tea) से धो सकते हैं। ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। बालों पर ग्रीन टी का पानी लगाएं, 1 घंटे बाद सामान्य पानी से बालों को धो दें। 
  • हेयर फॉल और हेयर लॉस को रोकने के लिए डैंड्रफ से बचाव भी बहुत जरूरी है। डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए आप नीम का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं।
  • बालों की नियमित रूप से ऑयलिंग करने से बाल मजबूत बनते हैं। बालों को मजबूत बनाने के लिए हफ्ते में 2 दिन तेल से मालिश जरूर करें। इससे बालों को नमी मिलेगी और हेयर फॉल रुकेगा।
  • बालों को सुरक्षित रखने के लिए अच्छी डाइट लेना भी बहुत जरूरी है।

अगर आप भी हेयर फॉल और हेयर लॉस में कंफ्यूज थे, तो अब आपकी कंफ्यूजन दूर हो गई होगी। बालों को हेयर फॉल और हेयर लॉस से बचाने के लिए इनकी सही तरीके से देखभाल करें।

Disclaimer