हेयर फॉल का कारण हो सकती हैं ये 6 बीमारियां, पहचाने इनके संकेत

प्रदूषण  और लाइफस्टाइल के अलावा कई अन्य ऐसी बीमारियां है, जिसकी वजह से आपके बाल टूट सकते हैं। चलिए जानते हैं उन बीमारियों के नाम

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jun 15, 2021Updated at: Jun 15, 2021
हेयर फॉल का कारण हो सकती हैं ये 6 बीमारियां, पहचाने इनके संकेत

बाल झड़ने की समस्या इन दिनों काफी आम हो चुकी है। हेयर एक्सपर्ट के अनुसार, हर रोज 70 से 100 बाल झड़ना सामान्य है, लेकिन अगर इससे अधिक आपके बाल टूटना सही नहीं होता है। ज्यादा बाल टूटने से आप गंजेपन के शिकार हो सकते हैं। बढ़ते प्रदूषण और खराब लाइफस्टाइल की वजह से आपके बाल टूट सकते हैं। लेकिन इसके अलावा कई अन्य कारणों से भी आपके बाल टूटते हैं। खासतौर पर इन दिनों बीमारियां बाल टूटने की बड़ी वजह होती है। इन बीमारियों में से थायराइड (Thyroid Symptoms) को बाल टूटने की सबसे बड़ी समस्या मानी जाती है। अधिकतर महिलाएं इस (Hair Fall Reason) समस्या से ग्रसित हैं। लेकिन आपको बता दें कि थायराइड के अलावा कई अन्य बीमारियां भी हैं, जिसकी वजह से आपके बाल टूट सकते हैं। आइए जानते हैं इस बारे में-

1. फंगल इंफेक्‍शन

फंगल इंफेक्शन की वजह से भी कई लोगों के बाल टूटते है। यदि आपके स्कैल्प पर किसी कारणों से फंगल इंफेक्शन हो जाए, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। फंगल इंफेक्शन होने पर आपके स्कैल्प की स्किन निकलने लगती है। इस तरह के संकेत नजर आने पर अपनी सही ट्रीटमेंट लें। साथ ही हाइजीन का विशेष ध्यान रखें।

2. टाइफाइड

साल्मोनेला एन्टेरिका सेरोटाइप टाइफी बैक्टीरिया की वजह से टाइफाइड हो सकता है। पानी और खाने के जरिए यह बैक्टीरिया हमारे शरीर में प्रवेश करता है। इसके कारण आपको तेज बुखार और पेट में दर्द जैसे लक्षण दिखते हैं। वहीं, अगर यह इंफेक्शन ज्यादा समय तक आपके शरीर में रहे, तो आपके बाल भी झड़ सकते हैं। इसलिए अपना सही समय पर ट्रीटमेंट लें। हालांकि, यह समस्या लंबे समय तक नहीं रहती है।

इसे भी पढ़ें - ज्यादा बाल टूटने का कारण हो सकती हैं कंघी करते समय ये 5 गलतियां

3. लूपुस डिसऑर्डर

लूपुस एक ऑटोइम्यून डिसऑर्डर है। इस समस्या के कारण शरीर में लंबे समय तक सूजन रहती है। शरीर में सूजन की वजह से आपके चेहरे की स्किन और बाल भी प्रभावित होते हैं। लूपुस डिसऑर्डर की वजह से सिर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर तरीके से नहीं होता है, जिसकी वजह से बाल गिरने की परेशानी हो सकती है। इस समस्या से ग्रसित लोगों के न सिर्फ सिर के बाल झड़ते हैं, बल्कि आइब्रो और आईलिड के बाल भी झड़ सकते हैं।

4. डिप्रेशन

डिप्रेशन मानसिक बीमारी का तीसरा चरण है। यह किसी भी व्यक्ति को तुरंत अपनी चपेट में नहीं लेता है। इस समस्या से पहले व्यक्ति स्ट्रेस और एंग्जाइटी का शिकार हुआ होता है। ज्यादा स्ट्रेस लेने से बाल झड़ने की शुरुआती हो जाती है। धीरे-धीरे व्यक्ति स्ट्रेस से डिप्रेशन की ओर बढ़ने लगता है। इस प्रक्रिया के दौरान आपके बाल तेजी से झड़ने लगते हैं। साथ ही कुछ लोगों के बाल सफेद भी हो जाते हैं।

5. ब्लड प्रेशर

ब्लड प्रेशर से ग्रसित व्यक्ति के भी बाल झड़ते हैं। दरअसल, ब्लड प्रेशर के कारण मरीज के शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर तरीके से नहीं होता है। इसकी वजह से ब्लड आर्टरीज में ब्लड फ्लो पर काफी असर पड़ता है। ब्लड प्रेशर के कारण ब्लड में सोडियम की मात्रा बढ़ती है। जिसकी वजह से आपके बाल तेजी से गिर सकते हैं। अगर आप हाई ब्लड प्रेशर के मरीज हैं, तो अपनी इस समस्या का इलाज कराएं। ताकि आप झड़ते और टूटते बालों की समस्या से निजात पा सकें।

इसे भी पढ़ें - केमिकल्स प्रोडक्ट ही नहीं, इन 5 वजहों से भी पतले हो सकते हैं आपके बाल

6. एनॉरेक्सिया और बुलिमिया

एनॉरेक्सिया और बुलिमिया एक ईटिंग डिसऑर्डर है। यह अधिकतर स्लिम फिट बॉडी की चाहत रखने वाले टीनेजर्स को होता है। इस समस्या से ग्रसित युवा बहुत ही कम और चुनिंदा खाना खाते हैं। वहीं, कुछ लोग तो खाते भी नहीं है। अगर वे खाएं भी तो उल्टी के जरिए शरीर से बाहर निकाल देते हैं। इससे भूख की इच्छा भी कम हो जाती है और शरीर में जमा फैट भी कम होता है। इस स्थिति में युवा वर्ग कुपोषण के शिकार हो जाते हैं। वहीं, कुछ लोगों के बाल काफी ज्यादा झड़ने लगते हैं। 

अगर आपको इन बीमारियों के हल्के-फुल्के लक्षण भी दिखे, तो तुरंत अपना इलाज कराएं। ताकि आप अपनी बीमारी के साथ-साथ हेयर फॉल की समस्या से भी निजात पा सकें। अपनी समस्याओं को भूलकर भी नजरअंदाज न करें। इससे आपकी समस्या काफी ज्यादा बढ़ सकती है।

Read more Articles on Hair Care in Hindi

Disclaimer