ज्यादा चिंता करने (स्ट्रेस) के कारण भी घटने लगता है वजन, जानें इस तरह के वेट लॉस को कैसे रोकें

अगर आपका वजन अचानक घटने लगा है तो इसका कारण बहुत ज्यादा चिंता करना या तनाव लेना भी हो सकता है। डॉक्टर से समझें दोनों में संबंध और कंट्रोल करने के उपाय

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Jul 31, 2021 00:00 IST
ज्यादा चिंता करने (स्ट्रेस) के कारण भी घटने लगता है वजन, जानें इस तरह के वेट लॉस को कैसे रोकें

अगर आपको लग रहा है कि कुछ दिनों से आपका वजन अचानक घटने लगा है, जबकि आप खाना भी खा रहे हैं और कोई बीमारी भी नहीं है, तो इसका कारण चिंता या तनाव भी हो सकता है। अगर आप बहुत अधिक स्ट्रेस Mental Stress) लेते हैं और यह स्ट्रेस क्रॉनिक स्ट्रेस है तो इससे आपके शरीर को बहुत तरीकों से फर्क पड़ सकता है। जैसे इससे आपकी इम्यूनिटी बहुत कम होती है, आपका किसी भी काम में मन नहीं लगता है और यहां तक की स्ट्रेस के कारण आपको ब्रेन ट्यूमर का भी रिस्क बढ़ जाता है। इन सभी प्रभावों के कारण आपका वजन भी बहुत कम होने लगता है। स्ट्रेस और वजन में क्या संबंध है ये जानने के लिए हमने फोर्टिस हॉस्पिटल की मनोवैज्ञानिक डॉ. स्वाति मित्तल से बात की। उन्होंने हमें इस तरह के वेट लॉस को कंट्रोल करने के तरीके भी बताए हैं। 

वह कौन से फैक्टर्स हैं (Responsible Factors)

डॉक्टर स्वाति मित्तल के अनुसार जब आप मानसिक स्ट्रेस या तनाव (Mental Stress) लेते हैं तो आपके शरीर में एड्रेनलिन और कॉर्टिसोल जैसे हार्मोन उत्पादित होते हैं। यह आपके पाचन और स्लीप पैटर्न को प्रभावित करते हैं। एड्रेनलीन आपकी भूख को बहुत कम करता है और कोर्टिसोल आपके शरीर के फंक्शन को अच्छे से काम नहीं करने देता। ऐसे में आप जो खाते पीते हैं वह भी आपका शरीर अच्छे से नहीं पचा पाता। यही वजह है आपका वजन कम होने की। 

इसे भी पढ़ें - पराठे से लेकर दाल-चावल तक, जानें क्यों आपकी वेट-लॉस डाइट में इन चीजों का होना भी है जरूरी 

भूख और पाचन प्रभावित होता है (Digestive Disorders)

दो हार्मोन्स के प्रभाव के कारण हो सकता है आपको बिल्कुल ही भूख न लगे। स्ट्रेस (Stress) आपकी वेगस नर्व को प्रभावित करता है। इससे आपका गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट भी प्रभावित होता है। अगर यह प्रभावित हो जाता है तो आपको बहुत से पाचन से जुड़े लक्षण देखने को मिल जाते है। इससे आपका पाचन तंत्र कम काम करने लगता है और आपको डायरिया व उल्टियां होने लगती है। तस आपका खाना खाने का मन नहीं होता है, भूख कम हो जाती है।

कैलोरीज़ बर्न होती है (Stress Can Burns Calories)

स्ट्रेस के दौरान आपकी बहुत सारी कैलोरीज़ भी बर्न होती हैं। स्ट्रेस (Stress) के दौरान आपका शरीर अलग अलग प्रकार की गतिविधियां करने लगता है जैसे आप अपने पैर को टैप करते रहते हैं और अपनी उंगलियों को क्लिक करते रहते हैं। मानसिक स्ट्रेस (Mental Stress) के कारण आपका वर्कआउट करने का मन करता है और इससे राहत पाने के लिए आप ओवर वर्कआउट कर लेते हैं जिस कारण अधिक कैलोरीज़ बर्न हो जाती है।

आपकी नींद को प्रभावित करती है (Stress Affects Sleep)

अगर आप अधिक मानसिक स्ट्रेस (Mental Stress) ले रहे हैं तो आप ढंग से सो भी नहीं पाते और आपको एक प्रकार की बेचैनी सी महसूस होती रहती है। अगर आप बहुत कम सोते हैं और यह लंबे समय तक ऐसी स्थिति बनी रहती है तो इससे आपके शरीर में कॉर्टिसोल बनना शुरू हो जाता है। जिससे आपकी भूख बंद हो जाती है।

इसे भी पढ़ें - दुबले पतले शरीर वाले जरूर खाएं ये 7 फल, वजन बढ़ाने में तेजी से करेगा आपकी मदद 

स्ट्रेस के कारण वजन कम होने के लक्षण  (Symptoms of Mental Stress)

  • बहुत थकान महसूस होना
  • नींद आने में मुश्किल महसूस होना
  • अपाचन
  • शरीर में दर्द होना
  • गर्दन की मसल्स का टेंस होना।
  • सेक्स ड्राइव का कम होना।
  • उंगलियों या नाखूनों को चबाते रहना

क्या करें (Ways To Deal Stress)

  • अगर आप इस समस्या को ठीक करना चाहते हैं तो आपको मानसिक स्ट्रेस (Mental Stress) लेना कम करना होगा। 
  • जैसा जैसा आपको महसूस होता है आपको किताब में लिख लेना चाहिए
  • अगर आपको एक महीने से भी ज्यादा समय तक इस समस्या से छुटकारा नहीं मिलता है तो डॉक्टर से मदद ले लेनी चाहिए। 
  • इसके अलावा भी आपको स्ट्रेस मैनेज करने की कुछ तकनीकों जैसे मेडिटेशन या रिलैक्सिंग म्यूजिक सुनना आदि शुरू कर सकते हैं।

इन सब तरीकों से भी आपको बहुत मदद मिल सकती है और आपको हेल्दी डाइट भी रोजाना लेनी चाहिए ताकि आपकी इम्यूनिटी या वजन पर इसका प्रभाव न पड़ सके।

Read more articles on Weight-Management in Hindi

Disclaimer