क्या हो जब पति पत्नी के जीवन में ईर्ष्या और द्वेष बना लें जगह? इन 5 तरीकों से संभालें रिश्ता

पति-पत्नी के बीच में ईर्ष्या की भावना कब पैदा हो जाती है पता ही नहीं। ऐसे में इसका असर उनके प्रेम के साथ-साथ उनके रिश्ते की उम्र पर भी पड़ता है।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jul 05, 2021Updated at: Jul 05, 2021
क्या हो जब पति पत्नी के जीवन में ईर्ष्या और द्वेष बना लें जगह? इन 5 तरीकों से संभालें रिश्ता

अगर पति पत्नी के रिश्ते में ईर्ष्या आ जाए तो उसका ना केवल प्रेम पर असर पड़ता है बल्कि रिश्ते की उम्र भी घट सकती है। ऐसे में रिश्ते को निभाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। प्रोफेशनल लाइफ हो या पर्सनल अगर पार्टनर की तरक्की से मन में आई जलन की भावना दांपत्य जीवन को प्रभावित कर सकती है। इस भावना के कारण वे यह भूल जाते हैं कि पति पत्नी एक दूसरे के पूरक होते हैं वह कब एक दूसरे को अपना कॉम्पिटीटर मान लेते हैं पता ही नहीं चलता। ऐसे में रिश्ते से ईर्ष्या और द्वेष को पनपने ना देने के लिए यहां दिए कुछ टिप्स आपके काम आ सकते हैं। आज हमारा लेख उन्हीं टिप्स पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि ईर्ष्या और द्वेष से दूर रहकर पति पत्नी अपने रिश्ते को कैसे बेहतर बना सकते हैं। पढ़ते हैं आगे...

 

1 - तालमेल का सही होना जरूरी

मैरिज लाइफ में सही तालमेल का होना जरूरी है। पति-पत्नी एक गाड़ी की तरह होते हैं दो पहिए आगे के दो पहिए पीछे के। ऐसे में अगर एक भी पहिया डगमगा जाए या उसकी हवा निकल जाए तो पूरी गाड़ी पर प्रभाव पड़ता है। ऐसे में सही तालमेल यानी बैलेंस का होना जरूरी है। पति पत्नी के रिश्ते में बॉन्डिंग इतनी मजबूत होनी चाहिए कि दोनों को एक दूसरे का ख्याल रखना, एक दूसरों को क्वालिटी टाइम देना, सुख सुविधा के बारे में बताना आदि के बारे में पता होना चाहिए। इससे अलग तालमेल बैठाने का सबसे अच्छा तरीका यही है। अपने पार्टनर की बातों को अच्छे से सुनना और समझना चाहिए।

2 - पर्सनल स्पेस भी दें एक-दूसरे को

जीवनसाथी को पर्सनल स्पेस देना भी जरूरी होता है यह स्पेस देना पार्टनर्स भूल जाते हैं उन्हें लगता है कि पार्टनर के जीवन के सारे फैसले दोनों को मिलकर लेने हैं और ऐसा होना भी चाहिए। लेकिन कभी-कभी कुछ परिस्थितियों में जिसमें केवल पार्टनर की साझेदारी है उन परिस्थितियों में जीवनसाथी को ही निर्णय लेना चाहिए। इससे अलग अगर आपका पार्टनर किसी से बात कर रहा है तो उससे स्पीकर में फोन रखने के लिए ना बोलें या उसके पीछे उसके फोन को टोटले नहीं। इससे न केवल आपका पार्टनर आप पर गुस्सा होगा बल्कि उसका विश्वास भी टूटेगा।

इसे भी पढ़ें- शादी के बाद रह रहे हैं पार्टनर से दूर? इन टिप्स से लॉन्ग डिस्टेंस कपल्स बढ़ा सकते हैं प्यार और इमोशनल लगाव

3 - प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ अलग

रिश्ते में तनाव तब आता है जब घर की और बाहर की दुनिया में कोई फर्क नहीं रहता। ऐसे में ईर्ष्या और द्वेष भी इस तनाव का हिस्सा बन जाते हैं। आपकी जिम्मेदारी है कि पर्सनल जिंदगी को प्रोफेसर जिंदगी से अलग रखें। इससे रिश्तों का तनाव भी दूर होगा। ऑफिस वर्क प्रेशर ऑफिस में छोड़कर आएं और घर पर केवल घर की जिम्मेदारियों पर ध्यान दें। जब आप पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को अलग-अलग रखेंगे तो रिश्तो में तनाव भी नहीं आएगा और ऑफिस में भी आप तनाव मुक्त रहकर काम कर सकेंगे।

4 - कामयाबी पर खुश हो आप भी

अपने जीवन को पति-पत्नी प्रयासों के माध्यम से आगे ले जाते हैं, जिससे यादें भी बनती हैं। ऐसे में किसी एक की कामयाबी का फायदा दोनों को ही मिलता है। एक की तरक्की पूरे परिवार के लिए अच्छी है और सुखदाई है। ऐसे में ईर्ष्या के चलते या गुस्से में दूसरे की कामयाबी पर दुखी ना हों। इससे ना केवल पाटर्नर का मनोबल टूटेगा बल्कि उसके मन में भी आपके लिए सम्मान कम होगा। पाटर्नर की तरक्की को मिलकर इंजॉय करें।

इसे भी पढ़ें- Marriage Tips: प्‍यार में उम्र नहीं दिल मायने रखता है, ऐसी ही कहानी है इन 5 सेलेब्‍स कपल्‍स की

5 - रिश्ते में अहं भावना के लिए ना हो जगह

जब जीवनसाथी के मन में यह भावना आती है तो उसके मन में नकारात्मक और व्यर्थ के विचार उत्पन्न होने लगते हैं। वह सोचता है कि मेरा पार्टनर मेरे काबिल नहीं या वह जीवन में आगे नहीं निकल सकता। इस भावना के चलते रिश्तो में दरार आ जाती है। ऐसे में दांपत्य जीवन में अहं भावना को पनपने ना दें। ध्यान रखें कि आपके इस व्यवहार से आपके पार्टनर को मानसिक आघात पहुंच सकता है।

6 - कुछ जरूरी बातें

1 - दांपत्य जीवन में एक दूसरे का साथ बिना शर्त के निभाते रहें।

2 - अपनी शादीशुदा जिंदगी में ईर्ष्या और द्वेष को पनपने ना दें। खासकर प्रतिस्पर्धा भावना को भी दूर रखें।

3 - अपने रिश्तो को पर्याप्त समय दें।

4 - अपने पार्टनर को जरूरी निर्णय के बारे में बताएं।

5 - दांपत्य जीवन में जितनी गंभीरता जरूरी है उतना ही एंटरटेनमेंट भी जरूरी है। ऐसे में अपने पार्टनर को बाहर डिनर पर या लंच पर लेकर जाएं या मूवी दिखाएं।

6 - पार्टनर की किसी दूसरों के साथ तुलना ना करें।

इसे भी पढ़ें- शादी के बाद अगर हसबैंड-वाइफ इन 5 बातों का रखें ख्याल, तो जिंदगी भर नहीं खराब होगा रिश्ता और बना रहेगा भरोसा

7 - अपने पार्टनर से खुद की तुलना ना करें।

8 - अपने जीवन साथी की बात भी सुनें और उसके निर्णयों की भी सराहना करें।

9 - पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को दूर रखें

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि दांपत्य जीवन में ईर्ष्या और द्वेष कुछ गलत आदतों के चलते जगह बना लेता है, जिसके कारण रिश्ता टूटने लगता है और रिश्ते में प्रेम भी नहीं बचता। ऐसे में ऊपर बताए गए कुछ टिप्स आपके बेहद काम आ सकते हैं। इससे अलग अपने जीवन में नई जान डालने के लिए ऊपर बताए गए कुछ जरूरी बातों को अपनाएं। ऐसा करने से ईर्ष्या और द्वेष दूर रहेंगे और आपके रिश्तों में नई चमक आएगी।

इस लेख में इस्तेमाल की जानें वाली फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Read More Articles on relationship in hindi

Disclaimer