शादी के बाद रह रहे हैं पार्टनर से दूर? इन टिप्स से लॉन्ग डिस्टेंस कपल्स बढ़ा सकते हैं प्यार और इमोशनल लगाव

अगर शादी के बाद भी आप एक-दूसरे से दूर रह रहे हैं, तो कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर आप अपने रिश्ते को मजबूत कर सकते हैं। चलिए जानते हैं इस बारे में

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 02, 2021Updated at: Jul 02, 2021
शादी के बाद रह रहे हैं पार्टनर से दूर? इन टिप्स से लॉन्ग डिस्टेंस कपल्स बढ़ा सकते हैं प्यार और इमोशनल लगाव

शादी के बाद भी कुछ कपल्स को एक दूसरे से दूर रहना पड़ता है। दूर रहने के कई कारण हो सकते हैं। इन कारणों में से पढ़ाई और नौकरी प्रमुख होती है। अगर दोनों पार्टनर नौकरी कर रहे होते हैं, जो दोनों का अलग-अलग शहर में जॉब होने के कारण भी वे एक दूसरे से दूर रहते हैं। इसके अलावा कई वजह हो सकती हैं, जिसकी वजह से उन्हें न चाहकर भी दूर रहना पड़ता है। एक-दूसरे से दूर करने के बावजूद भी आप अपने आपसी प्यार को बढ़ा सकते हैं। आज हम आपको इस लेख में कुछ ऐसे टिप्स देने जा रहे हैं, जिससे शादी के बाद लॉन्ग डिस्टेंस होने के बावजूद भी आप अपने बीच की दूरियों को कम कर सकते हैं। चलिए जानते हैं ऐसे कुछ टिप्स के बारे में-

जरूरत पर बिना मांगे करें मदद

भले ही आप दोनों अच्छे से नौकरी कर रहे हों और आपके पास पैसा भी हो। लेकिन अगर आपको यह लगता हो कि आपके पति या फिर पत्नी को पैसे की जरूरत है, तो बिना मांगे या बताए उनकी मदद करें। आप उन्हें पैसे ट्रांसफर करें, ताकि वे अपने पैसों की कमी को पूरा करें। इसके अलावा आप शॉपिंग के लिए भी अपनी पत्नी को पैसे भेज सकते हैं। ऐसा करना आपकी पत्नी को काफई अच्छा लग सकता है। इससे लॉन्ग डिस्टेंस का रिश्ता मजबूत होगा।

इसे भी पढ़ें- क्या दोनों पार्टनर के वर्किंग होने के कारण रिश्ते में आ रही हैं दूरियां? इन तरीकों से बढ़ाएं अपना आपसी प्यार

हर रोज जरूर करें वीडियो कॉल

शादी के बाद अगर आप एक-दूसरे से दूर रहे हैं, तो अपनी हसबैंड या वाइफ को दिन में 1 से 2 बार वीडियो कॉल जरूर करें। दरअसल, शादी के बाद दूर रहने पर कपल्स के बीच गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड का एहसास बना रहता है। क्योंकि आप एक-दूसरे को रोज नहीं देख पाते हैं और चाहकर भी रोज नहीं देख पाते हैं, ऐसे में अपने एहसास को बनाए रखने के लिए अपने पार्टनर को वीडियो कॉल जरूर करें। क्योंकि जो एहसास एक-दूसरे को देखकर शेयर की जा सकती है, वह वॉइस कॉल से नहीं हो सकता है। भले ही आप वॉइस कॉल दिनभर करें, लेकिन एक बार वीडियो कॉल जरूर करें। ताकि आप दोनों के बीच प्यार और विश्वास बढ़े।

बीच-बीच में भिजवाते रहें गिफ्ट्स

अगर आप दोनों एक साथ रहते, तो जाहिर सी बात है आप दोनों एक-दूसरे की पसंद और नापसंद से अच्छी तरह वाकिफ होते। लेकिन दूर रह रहे हैं, तो इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आप उनकी पसंद की चीजें ले नहीं सकते हैं। आप अपने पार्टनर से कॉल पर पूछे उन्हें क्या अच्छा लगता है। बाद में उन्हें सरप्राइज गिफ्ट दे सकते हैं। यह सिर्फ महिला पार्टनर के लिए नहीं बल्कि पुरुष पार्टनर के लिए भी लागू होता है। सरप्राइज हर किसी को अच्छा लगता है। इसलिए आपसी प्यार बढ़ाने के लिए दोनों का समान रूप से प्यार जाताना एक अच्छे रिश्ते की निशानी होती है।

फोन कॉल पर ज्यादा न रहे बिजी

शादी के बाद आप और आपके पार्टनर एक-दूसरे से दूर हैं। ऐसे में वे आपको कभी भी कॉल कर सकते हैं। इसलिए ऐसे वक्त दूसरे के साथ कॉल पर बिजी न रहें। क्योंकि हो सकता है कि कॉल पर बिजी के दौरान आपकी पत्नी या पति आपको कॉल करें, जिसके कारण उनके मन में कुछ खटास पैदा हो सकती है। अगर आप कॉल पर बिजी हैं, तो उन्हें तुरंत कॉल बैक करें और बताएं आप किससे बात कर रहे थे। इससे रिश्तों में विश्वास बढ़ेगा। हमेशा कॉल पर बिजी रहना भी आपके रिश्ते को कड़वा बना सकता है।

इसे भी पढ़ें- शादी के बाद लोगों के लगातार "बेबी कब होगा" वाले सवाल से हैं परेशान, तो इन तरीकों से हैंडल करें ये परेशानी

एक-दूसरे की फोटो करें शेयर

इन दिनों सोशल मीडिया ने लोगों की दूरियों को कम कर दिया है। सोशल मीडिया के जरिए आप बिना मिले, एक-दूसरे के बारे में अच्छे से समझ सकते हैं। एक-दूसरे को अच्छे से जान सकते हैं। इसके लिए बस आपको अपने पार्टनर से कनेक्ट रहने की जरूरत है। आप जहां जा रहे हैं, क्या कर रहे हैं, इस सब की तस्वीरें अपने पार्टनर को शेयर कर सकते हैँ। लेकिन फोटो शेयर करते वक्त थोड़ी सावधानी बरतें। ताकि आप किसी मुसीबत में न फंसें।

पति-पत्नी के रिश्ते को मजबूत करने के लिए दोनों के बीच विश्वास होना जरूरी है। चाहे आप एक-दूसरे से दूर रहे या पास, हर रिश्ते की नींव विश्वास पर टिकी होती है। इसलिए लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में विश्वास का सबसे अहम रोल होता है। साथ ही इन छोटी-छोटी बातों से आपका रिश्ता मजबूत बन सकता है।

Read More Articles on Marriage in Hindi

Disclaimer