माइग्रेन, अर्थराइटिस, डायबिटीज जैसी इन 5 बीमारियों में फायदेमंद है उलटकंबल का पौधा, जानें इसके प्रयोग

उलटकंबल एक पौधा है ज‍िसका इस्‍तेमाल कई बीमार‍ियों को दूर करने के ल‍िए क‍िया जाता है, आइए जानते हैं इसके आयुर्वेद‍िक लाभ

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Aug 24, 2021Updated at: Aug 24, 2021
माइग्रेन, अर्थराइटिस, डायबिटीज जैसी इन 5 बीमारियों में फायदेमंद है उलटकंबल का पौधा, जानें इसके प्रयोग

उलटकंबल के क्‍या फायदे हैं? उलटकंबल के इस्‍तेमाल से कमर का दर्द, पीर‍ियड्स के दौरान होने वाली समस्‍या, जोड़ों का दर्द, स‍िर दर्द आद‍ि समस्‍याएं दूर होती हैं। उलटकंबल को लोग जंगली पौधे के रूप में जानते हैं, इस पौधे में लगने वाले फूल लाल रंग के होते हैं। ये पौधा ज्‍यादातर गरम जगहों पर पाया जाता है। उलटकंबल का स्‍वाद तीखा होता है। इसके इस्‍तेमाल से पेट की जलन, बवासीर, पेट से जुड़ी बीमार‍ियां आद‍ि भी ठीक हो जाती हैं। आयुर्वेद में उलटकंबल का पत्‍ता, छाल, फूल, जड़ को उपयोगी बताया गया है। आप उलटकंबल के पत्‍तों का रस, फूल का रस, जड़ का पाउडर आद‍ि को काढ़े के रूप में इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इस लेख में हम उलटकंबल के फायदों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

ulatkambal uses

(image source:blogspot.com)

1. कमर का दर्द दूर करने में मदद करता है उलटकंबल (Ulatkambal cures back pain)

उलटकंबल के इस्‍तेमाल से कमर का दर्द दूर क‍िया जा सकता है, उलटकंबल में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं ज‍िससे दर्द दूर होता है। कमर या बैक पेन का उपाय करने के ल‍िए उलटकंबल के जड़ का रस आप चीनी के साथ म‍िलाकर उसका सेवन करें। जड़ के अलावा आप उलटकंबल के फूल के रस को दर्द वाली जगह लेप के तरह लगा सकते हैं, ऐसा करने से भी दर्द दूर होता है। उलटकंबल के इस्‍तेमाल से सूजन भी दूर होती है, अगर आपके शरीर के क‍िसी अंग में सूजन है तो भी आप उलटकंबल के रस का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- गठ‍िया, बुखार, त्‍वचा रोग जैसी समस्‍याओं को दूर करता है जम्भीरी नींबू, जानें इसके प्रयोग

2. पीर‍ियड्स से जुड़ी समस्‍याओं को दूर करता है उलटकंबल (Ulatkambal cures period related problems)

उलटकंबल के इस्‍तेमाल से पीर‍ियड्स के दौरान होने वाले दर्द को कम करने के ल‍िए उलटकंबल का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। इसके ल‍िए उलटकंबल के पत्‍तों के रस को पीसकर उसका काढ़ा बनाकर पीने से पीर‍ियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत म‍िलती है। पीर‍ियड्स के दौरान होने वाले दर्द से छुटकारा पाने के ल‍िए आप उलटकंबल की छाल का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। इस पौधे की छाल का रस भी आप काढ़े के फॉर्म में ले सकते हैं, काढ़ा बनाते समय उसमें काली म‍िर्च और शहद भी म‍िलाएं।

3. माइग्रेन, स‍िर दर्द की समस्‍या दूर करता है उलटकंबल (Ulatkambal cures migraine pain)

ulatkambal benefits

(image source:blogspot.com)

उलटकंबल के इस्‍तेमाल से स‍िर का दर्द या माइग्रेन के दौरान होने वाला दर्द दूर होता है। उलटकंबल के फूल का रस आप सिर पर लगाकर दर्द दूर कर सकते हैं। फूल को पीसकर आप उसका रस न‍िकाल लें और उसका लेप माथे पर लगा लें तो स‍िर का दर्द दूर होगा।

4. डायब‍िटीज में फायदेमंद है उलटकंबल (Ulatkambal controls diabetes)

डायब‍िटीज कंट्रोल करने के उपाय ढूंढ रहे हैं तो उलटकंबल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। आप उलटकंबल के फूल का रस काढ़े के रूप में प‍िएं तो शुगर लेवल कंट्रोल हो सकता है। फूल का रस न‍िकाल लें और उसे दो कप पानी में म‍िलाकर उबालें, जब पानी उबल जाए तो उसमें दालचीनी डालें और उबालें फ‍िर छानकर सेवन करें।

इसे भी पढ़ें- जलकुंभी के सेवन से मिलता है थायराइड, हाई बीपी, अस्थमा जैसी इन समस्याओं में लाभ, जानें प्रयोग का तरीका

5. अर्थराइट‍िस या जोड़ों का दर्द दूर करता है उलटकंबल (Ulatkambal cures arthritis pain)

अर्थराइट‍िस का दर्द दूर करने के ल‍िए आप उलटकंबल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। जोड़ों का दर्द दूर करने के ल‍िए उलटकंबल की जड़ का रस न‍िकालकर उसका काढ़ा बनाकर प‍ीएं। काढ़े में आप काली म‍िर्च का का पाउडर, गुड़ भी म‍िलाकर पी सकते हैं। दर्द दूर करने के ल‍िए सूखी छाल को पानी में भ‍िगोकर रख दें और सुबह उस पानी का सेवन करें तो भी दर्द दूर हो जाएगा।

अगर आप क‍िसी गंभीर बीमारी के श‍िकार हैं या जड़ी-बूट‍ियों से इंफेक्‍शन हो जाता है तो आयुर्वेद‍िक डॉक्‍टर की सलाह के ब‍िना इसका इस्‍तेमाल न करें।

(main image source:theindianmed)

Read more on Ayurveda in Hindi

Disclaimer