Coronavirus: इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अपनाएं आयुष मंत्रालय के ये आयुर्वेदिक टिप्स

आप अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें, गर्म पानी और काढ़ा का निरंतर सेवन करें।  

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Apr 01, 2020
Coronavirus: इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अपनाएं आयुष मंत्रालय के ये आयुर्वेदिक टिप्स

कोरोनावायरस के फैलते संक्रमण के कारण पूरी दुनिया की स्थिति बेहद निराशाजनक बनी हुई है। दुनिया के कई देशों में लॉकडाउन है और हर कोई इस वायरस के प्रकोप से बचने के बारे में सोच रहा है। ऐसे में हमारी सरकारें भी पीछे नहीं है। सरकार की तमाम मंत्रालय अपने-अपने स्तर पर कोरोना से जनता को बचाने के प्रयास कर रही है। हाल ही में जहां स्वास्थ्य मंत्रालय ने कई तरह के गाइडलाइन्स जारी किए थे, वहीं अब आयुष मंत्रालय ने प्राकृतिक तौर पर शरीर की रक्षा प्रणाली प्रतिरक्षा, जिसे इम्यूनिटी भी कहा जाता है उसे सही रखने के कुछ आसान उपाय बताए हैं। आइए जानते हैं इन आसान उपायों के बारे में।

insidejeeraforimmunity

आयुष मंत्रालय के इम्यूनिटी बढ़ाने वाले आयुर्वेदिक टिप्स

आयुष मंत्रालय ने अपने गाइडलाइन्स में बताया है कि स्‍वस्‍थ जीवन के लिए आयुर्वेद का व्यापक ज्ञान ‘दिनचर्या’ और ‘ऋतुचर्या’ की अवधारणाओं पर आधारित है। आयुर्वेद की मानें तो एक स्वस्थ जीवन जीने के लिए व्यक्ति की दिनचर्या अच्छी और नियमित होनी चाहिए। आयुर्वेद जीवन का विज्ञान है इसलिए ये स्वस्थ एवं प्रसन्‍न रहने के लिए प्रकृति के उपहारों के इस्‍तेमाल पर जोर देता है। आयुर्वेद अपने बारे में जागरूकता, सादगी और सामंजस्य से जुड़ा हुआ है, जिससे मदद से व्‍यक्ति अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखते हुए कई तरह के रोगों से बचाए रखता है। आयुर्वेद शास्‍त्रों में इस पर काफी जोर दिया गया है। आइए जानते हैं कोविड-19 से बचने के लिए हम घर बैठे कौन से उपाय कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : अब सादी चाय नहीं बल्कि पिएं 'इम्यूनिटी बूस्टर' चाय जो बढ़ाएगी रोगों से लड़ने की ताकत, जानें कैसे बनाएं मसाला

Covid-19 से बचने के लिए ऐसे बढ़ाएं अपनी इम्यूनिटी

सामान्य टिप्स

  • -पूरे दिन गर्म पानी का सेवन करें।
  • -आयुष मंत्रालय (#योगएटहोम #स्‍टेहोम #स्‍टेसेफ) की सलाह के अनुसार प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम और ध्‍यान का अभ्यास करें।
  • - वहीं मंत्रालय ये भी कहता है कि खाना पकाने के लिए हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों के उपयोग करें। दरअसल ये तमाम मसालों में कई प्रकार के आयुर्वेदिक गुण होते हैं, जो व्यक्ति को बीमारियों और संक्रमण से लड़ने की हिम्मत देते हैं।
insidehaldi

आयुर्वेदिक उपाय

  • -हर सुबह 1 चम्‍मच यानी 10 ग्राम च्यवनप्राश खाएं। डायबिटीक लोगों को शुगर फ्री च्यवनप्राश लेना चाहिए।
  • - दिन में तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सौंठ और मुनक्‍का से बना काढ़ा/ हर्बल टी दिन में एक या दो बार लें। अगर आवश्‍यक हो तो अपने स्‍वाद के अनुसार गुड़ या ताजा नींबू का रस मिलाएं।
  • -150 मिली गर्म दूध में आधी चम्मच हल्दी पाउडर मिला कर पिएं।

इम्यूनिटी बढ़ाने वाली प्रक्रियाएं

  • नाक में तेल लगाएं : सुबह- शाम नाक में तिल का तेल या नारियल का तेल और घी लगाएं।
  • ऑयल पुलिंग थेरेपी अपनाएं : 1 चम्‍मच तिल या नारियल का तेल मुंह में लें। उसे पिएं नहीं बल्कि 2 से 3 मिनट तक मुंह में घुमाएं और फिर थूक दें। उसके बाद गर्म पानी से कुल्ला करें। ऐसा दिन में एक या दो बार किया जा सकता है। इस तरह ये व्यक्ति की इम्यूनिटी को आसानी से बढ़ा सकती है।
insideyogainhome

इसे भी पढ़ें :  सूखी खांसी से हैं परेशान तो अपनाएं ये आयुर्वेदिक उपाय

सूखी खांसी या गले में खराश

सूखी खांसी या गले में खराश होने पर लौंग को पीस कर को गुड़ और शहद के साथ मिलाकर दिन में 2 से 3 बार लें। ये उपाय आमतौर पर सामान्य सूखी खांसी और गले में खराश का इलाज करने में कारगार है। साथ ही ताजे पुदीना के पत्तों या अजवाईन के साथ दिन में एक बार भाप लिया जा सकता है। लेकिन अगर ये लक्षण लंबे समय तक रह जाते हैं, तो डॉक्‍टर से परामर्श लें और इलाज करवाएं।

Read more articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer