सूखी खांसी से हैं परेशान तो अपनाएं ये आयुर्वेदिक उपाय

सूखी खांसी की समस्या कुछ दिनों से लेकर कुछ हफ्तों तक के लिए हो सकती है. इस समस्या से निजात पाने के लिए आप कुछ आयुर्वेदिक उपाय अपनाएं।

सम्‍पादकीय विभाग
आयुर्वेदWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Mar 10, 2020Updated at: Mar 10, 2020
सूखी खांसी से हैं परेशान तो अपनाएं ये आयुर्वेदिक उपाय

सूखी खांसी एक आम समस्या है. जब किसी को सूखी खांसी होती है तो उसमें किसी भी तरह का बगलम और म्यूकस नहीं निकलता है बल्कि इससे रोगी के गले, नैसल पैड्स और फेफड़ों में जलने होने लगती है. ये खांसी कभी-कभी कुछ दिनों में ठीक हो जाती है. तो कभी हफ्तों तक परेशान करती है. हम यहां पर आपको कुछ आयुर्वेदिक उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपकी सूखी खांसी की समस्या को दूर करने में सहायक होते हैं.

सूखी खांसी को दूर करना है तो पीएं तुलसी की चाय- 

सूखी खांसी की समस्या को दूर करने के लिए तुलसी काफी फायदेमंद होती है. तुलसी में एंटी-सेप्टीक और एनाल्जेसिक गुण होते हैं साथ ही ये प्राकृतिक रूप से इम्यून सिस्टम को बूस्ट करती है. तुलसी की पत्तियां ब्रोंकाइटिस, अस्थमा और फेंफड़ों की बीमारी से भी निज़ात दिलाने के लिए भी कारगर होती है.रोजाना तुलसी की चाय पीने से सूखी खांसी की समस्या से राहत मिलती है.

अदरक का सेवन दिलाता है सूखी खांसी से राहत- 

अदरक में भी एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं. सालों से अदरक को इम्यून सिस्टम बूस्ट करने के लिए काफी कारगर माना गया है. चाय में अदरक डालकर पीने से या फिर शहद के साथ अदरक का सेवन करने से सूखी खांसी की समस्या से राहत मिलती है. 

हल्दी का उपयोग करता है सूखी खांसी को दूर

हल्दी में प्राकृतिक रुप से कुरकुमिन नामक तत्व पाया जाता है.इस तत्व में एंटी-इंफ्लेमेटरी , एंटी-वायरल और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं. हल्दी का सेवन करने से या हल्दी की चाय पीने से सूखी खांसी की समस्या दूर होती है। 

शहद का प्रयोग दिलाता है सूखी खांसी से निज़ात

शहद में एंटी-बैक्टीरियल गुण होने के साथ-साथ सूदिंग प्रोपर्टीज़ भी होती है. साल 2007 में किए गए ये पाया गया की खांसी को खत्म करने के लिए शहद कई सारे मेडिकल सॉल्ट्स से ज्यादा कारगर होता है. शहद खाने या गर्म पानी में शहद मिलाकर पीने से भी खांसी की समस्या दूर होती है. 

इसे भी पढ़ें: खांसी के लिए दादी मां का नुस्खाः हफ्ते भर से खांस-खांस कर निकल गया है दम, ट्राई करें ये नुस्खे मिलेगी राहत

सूखी खांसी को दूर करने के लिए मुलेठी है पुराना उपचार- 

मुलेठी को भी पुराने ज़माने से ही खांसी को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा है.मुलेठी में एंटी- बायोटिक गुण होने के साथ-साथ एंटी-ऑक्सीडेंट्स भी पर्याप्त मात्रा में होते हैं.मुंह, गले के रोगों और दमा को दूर करने के लिए मुलेठी खाना फायदेमंद होता है.मुलेठी को शहद के साथ चूसने पर सूखी खांसी की समस्या से निजात मिलती है। 

सूखी खांसी से राहत दिलाता है पिपरमिंट- 

पिपरमिंट में मिन्थॉल होता है जो कि खांसी के कारण जलन से परेशान गले की नसों को शांत करता है. साथ ही इसमें एंटी-वायरल और एंटी- बैक्टीरियल गुण भी होते हैं. पिपरमिंट की चाय पीने से खांसी की समस्या से राहत मिलती है। 

इसे भी पढ़ें: जुकाम और खांसी के लिए रामबाण है गेहूं की भूसी, जानें इस्तेमाल करने का तरीका

मार्शमैलो रूट भी है सूखी खांसी के लिए कारगर औषधि-

मार्शमैलो रूट एक हर्ब है जिसका इस्तेमाल पिछले कई दशकों से खांसी और गले की खराश को कम करने के लिए किया जाता है. यह गले की जलन को कम करता है साथ ही सूखी खांसी से राहत दिलाने में भी ये काफी कारगर होता है. ये सूखे हर्ब और टी बैग के रूप में भी आती है. गर्म पानी में इसकी चाय बनाकर पीने से सूखी खांसी से राहत पा सकते हैं. 

Read more articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer