खराब पाचन तंत्र हो सकता है आंत के कैंसर (Intestine Cancer) का संकेत, जानें बचाव के 4 उपाय

अगर आपको भी अक्‍सर पेट में कब्‍ज की श‍िकायत रहती है तो ये आंत के कैंसर के लक्षण हो सकते हैं। इसे नजरअंदाज न करें। 

सम्‍पादकीय विभाग
कैंसरWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Jul 19, 2019Updated at: Feb 03, 2021
खराब पाचन तंत्र हो सकता है आंत के कैंसर (Intestine Cancer) का संकेत, जानें बचाव के 4 उपाय

मह‍िलाओं में कैंसर से मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण है आंत का कैंसर वहीं पुरुषों में ये तीसरा है। आंत यानी इंटेस्‍टाइन। ये हमारे कोलन और मलाशय को प्रभाव‍ित करता है। ये शरीर के अन्‍य भागों में भी पहुंच कर उन्‍हें डैमेज कर सकता है। इसके मुख्‍य लक्षण हैं कब्‍ज, अचानक वजन घटना, पेट में गांठ, लंबे समय तक पेट में भारीपन महसूस होना आद‍ि। अगर ये लक्षण 4 हफ्ते या उससे ज्‍यादा समय तक बने रहते हैं तो आपको डॉक्‍टर को द‍िखाना चाह‍िए। कई बार फाइबर की कमी, शराब का सेवन, स‍िगरेट पीना, मोटापा भी इस कैंसर का कारण होता है। आंत के कैंसर को ब्‍लड स्‍टूल टेस्‍ट, स्‍टूल डीएनए, एक्‍सरे, सीटीकोलोनोग्राफी की मदद से देखा जाता है। ज‍िन लोगों की उम्र 50 से ज्‍यादा है या उनके पर‍िवार में क‍िसी को ये बीमारी हो चुकी है उन्‍हें न‍ियम‍ित जांच करवानी चाह‍िए। आपको इस कैंसर से बचने के लि‍ए ज्‍यादा से ज्‍यादा फल, सब्‍ज‍ियां, फाइबर, कार्बस लेने चाह‍िए। यहां हम आपको कुछ ऐसे टिप्‍स बता रहे हैं, जिसके माध्‍यम से आप इस समस्‍या से बच सकते हैं।

intestine cancer

1. जल्‍दबाजी में न करें भोजन (Eat slowly)

कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनको खाने के समय ज्‍यादा जल्‍दी रहती है। हालांकि कई लोग ऑफिस, कॉलेज या किसी काम से निकल रहे होते हैं तो भी जल्‍दबाजी में भोजन करते हैं। इससे काफी मात्रा में भोजन के साथ हवा भी अंदर प्रवेश कर जाती है। जैसे-जैसे भोजन नली में नीचे खिसकता है साथ-साथ हवा भी पेट में जाती है, जिसके कारण पेट में आवाज आती है। इसके अलावा खाना पचाने के दौरान एंजाइम्स से जब खाना टूटता है, तो गैस बनती है। इसलिए जब भी भोजन करें धीरे-धीरे और चबा-चबाकर खाएं। इससे पाचन क्रिया में सुधार होगा।

2. सुबह खाली पेट न रहें (Don't avoid breakfast)

कुछ लोग सुबह नाश्‍ता किए बगैर ही घर से निकल जाते हैं और आधे दिन तक खाली पेट रहते हैं। इससे पेट में गैसे बनने लगती है, जिसकी वजह से पेट में अजीब से आवाजें आने लगती है। इसलिए, रोजाना ब्रेकफास्‍ट जरूर करें। सुबह खाली पेट घर से बाहर न निकलें। दोपहर में लंच जरूर करें। 

इसे भी पढ़ें: पाचन से लेकर अच्छी इम्यूनिटी तक, आपकी 80% सेहत आपके आंतों से जुड़ी होती है, जानें इसे हेल्दी रखने के 5 उपाय

3. खूब पानी प‍िएं (Drink water)

पेट में गैस न बने इसलिए पानी जरूर पीना चाहिए। पर्याप्‍त पानी न पीने की वजह से पेट में गैस बनती है, जिसके कारण भी पेट से गुड़-गुड़ की आवाज आती है।

4. फ्रूट्स का सेवन करें (Eat fruits)

eating fruits is good for health

कई बार लोग सिर्फ भोजन पर ही निर्भर रहते हैं, जैसे- रोटी, चावल, दाल और कुछ सब्जियां। लेकिन जरूरी है कि आप खाने में फ्रूट्स के साथ सब्जियों का भी सेवन करें। इससे आपका पेट हमेशा शांत रहेगा। समय-समय पर पानी जरूर पीएं। 

इसे भी पढ़ें: इन 3 तरीकों से दूर करें पेट और आंत में जमा गंदगी, शरीर हमेशा रहेगा स्वस्थ

पेट में बन रही गैस को नजरअंदाज न करें (Gas in stomach)

अगर बार-बार आपके पेट में गैस बन रही हो तो आपको डॉक्‍टर की सलाह लेनी चाहिए। यदि दवा लेने के बाद भी समस्‍या का समाधान नहीं हो रहा है, तो यह आंत के कैंसर के लक्षण भी हो सकते हैं। कैंसर, पेट में गैस बनाता है, जिसकी वजह से इसे आसानी से नहीं पहचाना नहीं जा सकता।

कैंसर जैसी बीमारी जानलेवा होती है इसल‍िए बीमारी के संकेत द‍िखने पर तुरंत डॉक्‍टर के पास जाएं। 

Read more on Cancer in Hindi

Disclaimer