फेफड़ों का कैंसर होने पर शुरुआती दिनों में ही दिखने लगते हैं ये 5 संकेत, प्रदूषण के कारण बढ़ता है खतरा

फेफड़ों का कैंसर (Lungs Cancer) के पूर्व संकेतों को जानकर अगर सही समय पर इलाज किया जाए, तो फेफड़ों को डैमेज होने से बचा सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Feb 03, 2021 13:49 IST
फेफड़ों का कैंसर होने पर शुरुआती दिनों में ही दिखने लगते हैं ये 5 संकेत, प्रदूषण के कारण बढ़ता है खतरा

फेफड़ों में कैंसर यानी कि लंग्स कैंसर (lung cancer in hindi) एक ऐसी बीमारी है जो आजकल बहुत गंभीर रूप ले चुकी है। हालांकि फेफड़ों में कैंसर एक बहुत बड़ी बीमारी है, लेकिन कई लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें इस बीमारी के लक्षणों (symptoms of lung cancer) के बारे में पता ही नहीं होता है। इसके शुरुआती चरण (stage 1 lung cancer symptoms) को पहचाना बहुत मुश्किल होता है क्योंकि फेफड़ों के कैंसर में शुरुआत में कोई लक्षण नजर नहीं आते हैं। अगर रिसर्च की मानें तो फेफड़ों में कैंसर होने की ज्यादा संभावना महिलाओं की तुलना में पुरुषों को ज्यादा रहती है।

cancerinside2

इस प्रकार के कैंसर का सबसे बड़ा कारण धूम्रपान (smoking causes lung cancer) है। डॉक्टर्स का दावा है कि लंग कैंसर के ज्यादातर मामलों में मरीज बीड़ी, सिगरेट, गुटखा आदि किसी न किसी धुएं और तंबाकू वाली चीज का आदी होता है। इसके अलावा शहरों में बढ़ता वायु प्रदूषण (Air Pollution) भी इस कैंसर का एक बड़ा कारण है। इस कैंसर के अन्य कारणों में किसी रसायनिक फैक्ट्री में काम करना या उसके आसपास रहना और किसी और के धूम्रपान का धुंआ ग्रहण करना भी शामिल हैं। इसलिए लंग कैंसर के इन लक्षणों को जानना आपके लिए जरूरी है।

इसे भी पढ़ें : क्या संभव है फेफड़ों के कैंसर का आयुर्वेदिक इलाज? एक्सपर्ट से जानें लंग्स कैंसर में कैसे मददगार है आयुर्वेद

अगर विश्व स्वास्थय संगठन के सर्वे देखें तो पता चलता है कि करीब 7.6 मिलियन लोगों की मौत लंग कैंसर के कारण होती है। लंग कैंसर होने पर कई लक्षण दिखाई देते हैं जिन में से लंबे समय तक खांसी रहना प्रमुख है। अगर इस खांसी का कुछ दिनों तक इलाज ना किया जाए तो ये लंग कैंसर का कारण बन सकती है। धूम्रपान करने वाले, तंबाकू खाने वाले लोगों को लंग कैंसर होने का खतरा ज्यादा होता है। हालांकि, यह खतरनाक बीमारी किसी अन्य कारणों की वजह से भी हो सकती है। आइए पहले जानते हैं लंग कैंसर के प्रमुख कारण

लंग कैसर के कारण -Causes of lung cancer in hindi

  • धूम्रपान करना
  • रेडॉन गैस
  • एस्बेस्टोस फाइबर
  • आनुवंशिक गड़बड़ी
  • फेफड़े के रोग
  • फेफड़ों के कैंसर के पूर्व इतिहास
  • वायु प्रदूषण
cancerinside3

लंग कैंसर के लक्षण- Symptoms of lung cancer in hindi

  • गले और चेहरे पर सूजन आना लंग्स कैंसर का एक लक्षण है। अगर अचानक से गले और चेहरे में सूजन या कोई बदलाव दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • अगर जोड़ों, पीठ, कमर और शरीर के अन्य भागों में दर्द रहता है तो ये भी फेफड़ों में कैंसर का एक लक्षण है। हालांकि आपको कोई इलाज शुरू करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।
  • पुरानी खांसी या लंबे समय तक खांसी रहना भी फेफड़ों में कैंसर का एक लक्षण है। आमतौर पर खांसी 2 से 3 हफ्ते तक होती है। लेकिन अगर लंबे समय तक खांसी होती है और साथ में सीने में दर्द और बलगम में खून आता है तो स्थिति गंभीर है।
  • सांस लेते वक्त कठिनाई महसूस होना, सांस लेते वक्त गले में सीटी जैसा बजना, सीने में दर्द, सांस लेते समय घबराहट होना आदि भी लंग कैसर के लक्षण होते है।
  • कई बार शरीर में कैल्शियम की मात्रा अधिक हो जाती है, जिससे खून जमना शुरू हो जाता है। यह भी लंग कैंसर के कारण ही होता है।
  • थकान और कमजोरी महसूस होना भी कोई आम दिक्कत नहीं है। बल्कि यह लंग कैंसर का एक भयावह लक्षण है। थोड़ा सा चलने पर सांस का फूलना और जल्दी थक जाना लंग कैंसर होने का खतरा है।
फेफड़ों के कैंसर से बचने का सबसे अच्छा उपाय ये है कि आप प्रदूषण से अपना बचाव करें और लंग्स को मजबूत करने वाली चीजों का सेवन करें। साथ ही लंग्स को मजबूत करने में आप प्राणायाम की मदद भी ले सकते हैं।

Read More Articles On Cancer in Hindi

Disclaimer